• Home
  • »
  • News
  • »
  • entertainment
  • »
  • BOLLYWOOD NETFLIXS SERIES RAY TEASER RELEASED BASED ON SATYAJIT RAYS STORIES STAR CAST REVEALED AN

सत्यजीत रे की कहानियों पर बनी सीरीज 'Ray' का टीजर हुआ रिलीज, स्टार कास्ट का खुलासा

सीरीज 'रे' में सत्यजीत रे की चार कहानियों को फिल्माया गया है (फोटो साभारः Instagram/netflix_in)

नेटफ्लिक्स (Netflix) ने सत्यजीत रे (Satyajit Ray) की कहानियों पर बेस्ड एंथोलॉजी सीरीज 'रे' (Ray) के टीजर और स्टार कास्ट से पर्दा उठाया है. 'रे' में प्रेम, वासना, विश्वासघात और सच्चाई पर आधारित चार छोटी कहानियां होंगी.

  • Share this:
    नई दिल्लीः नेटफिक्स (Netflix) ने शुक्रवार (28 मई) को फिल्म मेकर सत्यजीत रे (Satyajit Ray) की कहानियों पर आधारित अपनी एंथोलॉजी सीरीज, 'रे' (Ray ) का टीजर जारी किया है. अभिषेक चौबे (Abhishek Chaubey), श्रीजीत मुखर्जी (Srijit Mukherji) और वासन बाला (Vasan Bala) द्वारा निर्देशित 'रे' का प्रीमियर 25 जून को होगा. 'रे' में प्रेम, वासना, विश्वासघात और सच्चाई पर आधारित चार छोटी कहानियां होंगी, जो सत्यजीत रे के दूरदर्शी लेखन से परिचय कराती हैं.

    सीरीज की स्टार कास्ट में मनोज बाजपेयी (Manoj Bajpayee), अली फजल (Ali Fazal), के के मेनन, हर्षवर्धन कपूर, राधिका मदान, श्वेता बसु प्रसाद, अनिंदिता बोस, गजराज राव और बिदिता बाग शामिल हैं. नेटफ्लिक्स इंडिया ने इंस्टाग्राम पर 'रे' का टीजर शेयर करते हुए लिखा है, 'शानदार एक्टर्स, अद्भुत निर्देशक और एक महान लेखक की अनूठी कहानियां!.. 'रे' का 25 जून को प्रीमियर होगा! अभिषेक चौबे द्वारा निर्देशित, पहली कहानी का नाम है- 'हंगामा है क्यों बरपा.' इसमें मनोज बाजपेयी और गजराज राव हैं. श्रीजीत मुखर्जी द्वारा निर्देशित दूसरी कहानी, जिसका शीर्षक है- 'फॉरगेट मी नॉट' में अली फजल और श्वेता बसु प्रसाद ने काम किया है.








    View this post on Instagram






    A post shared by Netflix India (@netflix_in)






    तीसरी कहानी 'बहरुपिया' को श्रीजीत मुखर्जी ने ही डायरेक्ट किया है. इसमें के के मेनन और बिदिता बेग हैं. हर्षवर्धन कपूर के अभिनय से सजी चौथी कहानी को वासन बाला ने डायरेक्ट किया है, जिसका नाम है- 'स्पॉटलाइट.' 2021 सत्यजीत रे का शताब्दी वर्ष है. अक्सर विश्व सिनेमा के महानतम निर्देशकों में से एक माने जाने वाले रे ने बंगाली सिनेमा में खासतौर पर काम किया है.

    बता दें कि 1950 में रे ने लंदन का दौरा किया था, जहां उन्होंने विटोरियो डी सिका (Vittorio De Sica) की 1948 की फिल्म 'लाद्री दी बिसिकलेट' (साइकिल थीव्स) देखी थी, जिसने उन्हें फिल्म निर्माता बनने के लिए प्रेरित किया था. 1955 में, रे ने 'पाथेर पांचाली' के साथ अपने निर्देशन की शुरुआत की थी. उन्होंने 36 फिल्मों का निर्देशन किया था, जिसमें 29 फीचर फिल्में, पांच डॉक्यूमेंट्रीज और दो शॉर्ट फिल्में शामिल हैं.
    Published by:Abhishek Nagar
    First published: