मुंबई के फुटपाथों पर रात गुजारी, अब फिल्मों में डेब्यू कर रहीं मॉडल-ऐक्ट्रेस सेजल शाह

सेजल बोल्ड इमेज से खुश हैं और चाहती हैं कि समाज में लड़कियां अपने फैसले लेना खुद सीखें. वह आने वाले समय में लड़कियों को निडर बनाने के साथ समाज की दकियानूसी सोच बदलने के लिए भी प्रेरित करना चाहती हैं.
सेजल बोल्ड इमेज से खुश हैं और चाहती हैं कि समाज में लड़कियां अपने फैसले लेना खुद सीखें. वह आने वाले समय में लड़कियों को निडर बनाने के साथ समाज की दकियानूसी सोच बदलने के लिए भी प्रेरित करना चाहती हैं.

सेजल बोल्ड इमेज से खुश हैं और चाहती हैं कि समाज में लड़कियां अपने फैसले लेना खुद सीखें. वह आने वाले समय में लड़कियों को निडर बनाने के साथ समाज की दकियानूसी सोच बदलने के लिए भी प्रेरित करना चाहती हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 25, 2020, 10:28 AM IST
  • Share this:
अभिनेत्री के रूप में छह साल तक कड़े संघर्ष के बाद लॉन्जरी मॉडल और ऐक्ट्रेस सेजल शाह फिल्मों में डेब्यू के लिए तैयार हैं. कभी रतलाम से मुंबई आई सेजल ने फुटपाथों पर रातें गुजारीं और वड़ा-पाव-समोसा खा कर दिन काटे. मगर अब उनकी फिल्म ऑल लेडीज डू इट 10 नवंबर को एक ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज हो रही है. बोल्ड इमेज के लिए चर्चित सेजल की यह विश्व सिनेमा की एक प्रसिद्ध फिल्म ऑल लेडीज डू इट का भारतीय रूपांतरण है. इसका निर्देशन अखिल गौतम ने किया है. उल्लेखनीय है कि ऑल लेडीज डू इट इटली के प्रसिद्ध फिल्मकार टिंटो ब्रास की दुनिया भर में प्रशंसित इरॉटिक फिल्म है. सेजल के अनुसार फिल्म के भारतीयकरण के साथ यह भी ध्यान रखा गया है कि इसकी मौलिकता बनी रहे.

इससे पहले सेजल ओटीटी प्लेटफॉर्मों पर मेरे हस्बैंड की दुल्हनिया, वेडिंग नाइट्स और गन पॉइंट नाम की सीरीज में आ चुकी हैं. पिछले दिनों एक कनाडाई ऐप के लिए भी सेजल ने वेबसीरीज शूट की. उनकी एक और वेबसीरीज देवदासी रिलीज को तैयार है. सेजल कहती हैं कि वह बॉलीवुड में बड़े सितारों के साथ काम करने के सपने नहीं देखतीं, मगर चाहती हैं कि बड़े निर्देशकों की फिल्में करने का मौका मिले. उनका सपना संजय लीला भंसाली की किसी पीरियड फिल्म का हिस्सा बनने का है. खुद सेजल भविष्य में ऐसी ऐतिहासिक फिल्में प्रोड्यूस करना चाहती हैं जिनमें भारतीय संस्कृति, रहन-सहन और संस्कारों को खूबसूरती से पेश किया जाए.

सेजल बोल्ड इमेज से खुश हैं और चाहती हैं कि समाज में लड़कियां अपने फैसले लेना खुद सीखें. वह आने वाले समय में लड़कियों को निडर बनाने के साथ समाज की दकियानूसी सोच बदलने के लिए भी प्रेरित करना चाहती हैं. अपने स्ट्रगल के दिनों को याद करते हुए सेजल भावुक हो जाती हैं और कहती हैं मुंबई के फुटपाथों पर रातें और वड़ा-पाव-समोसे खाकर गुजारे दिन कभी नहीं भूलेंगी. मगर चार साल के खराब दौर के बाद किस्मत ने उनके लिए मॉडलिंग और फिल्मी दुनिया के दरवाजे खोले. जिस ईवेंट मैनेजमेंट कंपनी में उन्हें काम मिला, वहीं मॉडल को-ऑर्डिनेटर ने उन्हें एक फोटोग्राफर के लॉन्जरी शूट में भेजा. फोटोग्राफर ने उनके लुक्स और फिगर को पसंद करते हुए कुछ और लोगों के संपर्क दिए. इसके बाद सेजल आगे बढ़ती गईं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज