• Home
  • »
  • News
  • »
  • entertainment
  • »
  • नीतीश भारद्वाज बर्थडेः महाभारत के 'कृष्‍ण' खेल चुके हैं लंबी राजनीतिक पारी

नीतीश भारद्वाज बर्थडेः महाभारत के 'कृष्‍ण' खेल चुके हैं लंबी राजनीतिक पारी

नीतीश भारद्वाज.

नीतीश भारद्वाज.

महाभारत (Mahabharat) के कृष्ण यानी नीतीश भारद्वाज (Nitish Bhardwaj) भारतीय जनता पार्टी के एक सक्रिय नेता रह चुके हैं.

  • Share this:
    मुंबई. महाभारत के 'कृष्‍ण' यानी नीतीश भारद्वाज (Nitish Bhardwaj)  का आज जन्मदिन है. उनका जन्म 2 जून 1963 को हुआ था. नीतीश अब फिर से फिल्म जगत में सक्रिय हो गए हैं. वो जल्द ही डिजिटल मीडियम पर दिखाई देने वाले हैं. नीतीश का करियर बेहद दिलचस्प रहा है. वो पहले टीवी जगत में मशहूर हुए, इसके बाद फिल्में कीं फिर वो राजनीति में कूद गए. इसके बाद उन्होंने एक सफल राजनैतिक पारी खेली और फिर पूरी तरह से इससे संन्यास ले लिया. अब वो एक बार फिर से सिनेमा जगत सक्रिय हो गए हैं. उनकी राजनैतिक पारी के बारे में कम ही लोग जानते हैं.

    बीजेपी के प्रवक्ता रह चुके हैं महाभारत के कृष्‍ण, चख चुके हैं जीत हार दोनों का स्वाद
    महाभारत में भगवान श्रीकृष्‍ण की भूमिका निभाने वाले अभिनेता नीतीश भारद्वाज भारतीय जनता पार्टी के एक सक्रिय नेता रह चुके हैं. उन्होंने बाकयदा एक राजनीतिक पारी खेलने के बाद राजनीति से संन्यास लिया था. साल 1996 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने बीजेपी के टिकट पर झारखंड के जमशेदपुर से चुनाव जीता था. हालांकि साल 1999 के लोकसभा चुनाव में वे मध्य प्रदेश के राजगढ़ सीट से तत्कालीन मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के भाई लक्ष्मण सिंह से चुनाव हार गए थे. वे बीजेपी के प्रवक्ता भी रहे हैं.

    लेकिन उन्होंने इसके बाद राजनीति से संन्यास ले लिया. न्यूज 18 को दिए गए अपने एक इंटरव्यू में नीतीश ने राजनीति को लेकर कुछ ऐसे जवाब दिए थे-

    सवाल: आप बीजेपी में कई सालों तक रहे, आप सांसद भी बने, फिर आखिर क्या हुआ जो आजकल राजनीति से दूर हैं?
    जवाब: नो कमेंट

    सवाल:  आज देश में बीजेपी की सरकार है, आपको नहीं लगता कि आपको वापस राजनीति में आना चाहिए, क्या आपको अप्रोच किया गया?
    जवाब: नो कमेंट

    यह भी पढ़ेंः 'अवतार' के सिक्वल के लिए निर्देशक और फिल्म निर्माता पहुंचे न्यूजीलैंड

    सवाल: हमारे देश में राम और कृष्ण पर बहुत राजनीति होती रही है और आज भी हो रही है, इसपर आपकी की क्या राय है?
    जवाब: मुझे लगता है कि नेताओं और आम लोगों को भगवान राम और कृष्ण के आदर्शों को अपने जीवन में लाना होगा। सिर्फ बात करने से समाज की मदद नहीं हो सकती।

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज