CM नीतीश ने सुशांत सिंह राजपूत मामले की CBI जांच की सिफारिश मान लेने पर केंद्र को धन्यवाद दिया

CM नीतीश ने सुशांत सिंह राजपूत मामले की CBI जांच की सिफारिश मान लेने पर केंद्र को धन्यवाद दिया
बिहार सरकार ने सुशांत की मौत की जांच सीबीआई को देने की सिफारिश की थी (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने सुशांत मामले की सीबीआई (CBI) से जांच कराए जाने की बिहार सरकार की अनुशंसा को स्वीकार कर लिए जाने पर केंद्र सरकार को धन्यवाद दिया है.

  • Share this:
पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने दिवंगत एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के पिता द्वारा पटना में दर्ज कराए गए मामले की सीबीआई (CBI) से जांच कराए जाने की बिहार सरकार (Bihar Government) की अनुशंसा को स्वीकार कर लिए जाने पर केंद्र सरकार को धन्यवाद दिया है.

कुमार ने बुधवार को ट्वीट किया, ''सुशांत सिंह राजपूत के पिता द्वारा पटना में दर्ज कराए गए मामले की सीबीआई जांच कराने हेतु राज्य सरकार की अनुशंसा को केन्द्र ने स्वीकार कर लिया है. इसके लिए केंद्र सरकार को धन्यवाद. आशा है कि अब बेहतर जांच हो सकेगी और न्याय मिल सकेगा.''


नीतीश की पार्टी जेडीयू के प्रदेश प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने बुधवार को कहा, ''केंद्र द्वारा बिहार सरकार की सीबीआई जांच की सिफारिश को स्वीकार करने के साथ, हम अब उम्मीद कर सकते हैं कि सुशांत सिंह राजपूत के मामले में न्याय होगा. हम यह भी उम्मीद कर रहे हैं कि जांच दुनिया के सामने उस षडयंत्रकारी खेल को उजागर करेगी जो माया नगरी में खेला जाता है.”



उन्होंने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा इस मामले को लेकर मुंबई पुलिस की आलोचना और पटना के आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को जबरन क्वारंटाइन में रखे जाना महाराष्ट्र सरकार द्वारा अपनाए गए रवैये को संपुष्ट करता है.

बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता निखिल आनंद ने सीबीआई जांच का रास्ता प्रशस्त करने के लिए नीतीश कुमार, ''प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का धन्यवाद देते हुए महाराष्ट्र में शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन पर प्रहार किया और आरोप लगाया कि इस मामले में उनके नेता दुर्भाग्यपूर्ण टिप्पणी कर रहे हैं.''

पिछले 25 जुलाई को पटना के राजीव नगर थाना में सुशांत के पिता के के सिंह ने एक एफआईआऱ दर्ज कराई गई थी और चक्रवर्ती और उसके परिवार के खिलाफ कई आरोप लगाए गए थे. इस मामले में अब तक एक चुप्पी बनाए रहे सिंह दो दिन पहले, पहली बार एक वीडियो संदेश के साथ सामने आये थे और आरोप लगाया था कि उन्होंने फरवरी में ही अपने बेटे की जान को खतरे से मुंबई पुलिस को अवगत कराया था और उसकी मृत्यु के बाद नामित व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई के उनके अनुरोध पर कोई ध्यान नहीं दिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading