होम /न्यूज /मनोरंजन /बांग्लादेश सरकार ने डॉलर बचाने के लिए कैंसिल किया नोरा फतेही का इवेंट! विदेशी मुद्रा भंडार की कमी बनी वजह

बांग्लादेश सरकार ने डॉलर बचाने के लिए कैंसिल किया नोरा फतेही का इवेंट! विदेशी मुद्रा भंडार की कमी बनी वजह

नोरा फतेही की बांग्लादेश में एक इवेंट रद्द कर दिया गया.  (फोटो साभारः Instagram @norafatehi)

नोरा फतेही की बांग्लादेश में एक इवेंट रद्द कर दिया गया. (फोटो साभारः Instagram @norafatehi)

नोरा फतेही (Nora Fatehi) को बांग्लादेश सरकार ने राजधानी ढाका में डांस परफॉर्मेंस की परमिशन नहीं दी. सरकार ने यह फैसला व ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. नोरा फतेही (Nora Fatehi) बॉलीवुड की सबसे पॉपुलर डांसर और एक्ट्रेस में से एक हैं. वह टीवी रियलिटी शो झलक दिखला जा 10 को जज करती हैं. इस बीच उनका नाम ठग सुकेश चंद्रशेखर से भी जुड़ा. ईडी इस मामले की जांच कर रही है. अब नोरा फतेही के लिए बांग्लादेश से भी बुरी खबर है. बंग्लादेश सरकार ने नोरा फतेही को इवेंट में शामिल होने की परमिशन नहीं दी है. नोरा बांग्लादेश की राजधानी ढाका में एक इवेंट में परफॉर्म करने वाली थीं. बांग्लादेश सरकार ने डॉलर बचाने के लिए ऐसा किया है.

बांग्लादेश के सांस्कृतिक मामलों के मंत्रालय ने सोमवार को एक नोटिस जारी कर इसकी जानकारी दी. इन नोटिस के मुताबिक, भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में अपने काम के लिए जानी जाने वाली नोरा फतेही को ‘वैश्विक स्थिति को देखते हुए और विदेशी मुद्रा भंडार को बनाए रखने के उद्देश्य से’ अनुमति नहीं दी गई थी.

वुमेन कॉर्पोरेशन करने वाली थी सम्मान

बता दें कि नोरा फतेही को वुमेन लीडरशिप कॉर्पोरेशन द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में डांस परफॉर्मेंस और पुरस्कार देने के लिए बुलाया गया था. सांस्कृतिक मंत्रालय ने घटते विदेशी मुद्रा भंडार के बीच डॉलर के भुगतान पर केंद्रीय बैंक के प्रतिबंधों का जिक्र किया, जो 12 अक्टूबर तक घटकर 36.33 बिलियन डॉलर हो गया.

बांग्लादेश के पास विदेशी मुद्रा भंडार की कमी

बांग्लादेश में एक साल पहले 46.13 बिलियन डॉलर का विदेश मुद्रा भंडार था. इससे लगभग 4 महीने के आयात को कवर किया जा सकता था. अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) में एशिया और प्रशांत विभाग के उप निदेशक ऐनी-मैरी गुल्डे-वुल्फ के अनुसार, आईएमएफ इस महीने के अंत में बांग्लादेश को अपना पहला वार्ता मिशन भेजने की तैयारी कर रहा है, जिससे की देश द्वारा मांगे गए ऋणों पर सरकार के साथ बातचीत शुरू हो सके.

Tags: Bangladesh, Nora Fatehi

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें