देविका रानी ने जब ऑनस्क्रीन पहली बार दिया था किसिंग सीन, मच गया था बवाल

देविका रानी (फोटो साभार: @Movies N Memories)

देविका रानी (फोटो साभार: @Movies N Memories)

देविका रानी (Devika Rani) हिंदी सिनेमा की एक ऐसी अभिनेत्री थीं, जिनकी बोल्ड अदाओं और शानदार व्यक्तित्व की चर्चा 2021 में भी की जाती है. देविका रानी को फर्स्ट लेडी ऑफ इंडियन सिनेमा के रूप में जाना जाता है.

  • Share this:
नई दिल्ली: देविका रानी (Devika Rani) हिंदी सिनेमा की एक ऐसी अभिनेत्री थीं, जिनकी बोल्ड अदाओं और शानदार व्यक्तित्व की चर्चा 2021 में भी की जाती है. भारतीय सिनेमा (Indian Cinema) के लिए देविका रानी का योगदान हमेशा याद रखा जाएगा. जिस जमाने में भारत की महिलाए घर की चारदीवारी के भीतर भी घूंघट में मुँह छुपाए रहती थीं, देविका रानी ने फिल्मों में काम करके अदम्य साहस का प्रदर्शन किया था. आज देविका रानी की पुण्यतिथि है. जानते हैं उनके जीवन से जुड़ी खास बातें.

देविका रानी का जन्म 30 मार्च, 1908 वाल्टेयर (विशाखापत्तनम) में हुआ था. वे मशदबर कवि श्री रवीन्द्रनाथ टैगोर के वंश से सम्बंध रखती थीं. देविका रानी के पिता कर्नल एम.एन. चौधरी मद्रास (अब चेन्नई) के पहले 'सर्जन जनरल' थे. उनकी माता का नाम श्रीमती लीला चौधरी था. कहा जाता है कि देविक बचपन से ही बहुत टैलेंटेड थीं. नौ साल की उम्र में ही पढ़ाई के लिए उन्हें इंग्लैंड भेज दिया गया था. देविका ने इंडियन सिनेमा को ग्लोबल स्टैंडर्ड पर ले जाने का काम किया.

Devika Rani, Devika Rani death anniversary
देविका रानी की आज पुण्यतिथि है, (फोटो साभार: @Movies N Memories)


देविका रानी (Devika Rani) का करियर 10 साल लंबा रहा. आशोक कुमार संग देविका की जोड़ी खूब जमी. दोनों जीवन नैया, जन्मभूमि और अछूत कन्या में नजर आए. देविका रानी दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड पाने वाली पहली शख्सियत भी रहीं. उन्हें 1969 में ये अवॉर्ड मिला. इसके अलावा साल 1958 में उन्हें पद्मश्री से भी नवाजा गया. 9 मार्च, 1994 को एक्ट्रेस का 85 साल की उम्र में निधन हो गया. देविका रानी को फर्स्ट लेडी ऑफ इंडियन सिनेमा के रूप में जाना जाता है.
हिंदी सिनेमा के शुरुआती दौर में एक्ट्रेस का रोमांस भी उतना खुलकर नहीं दिखाया जाता था. मगर किसी ना किसी को तो शुरुआत करनी ही पड़ती है और ये काम किया दविका रानी ने. क्योंकि देविका रानी इंडस्ट्री में आई हीं ट्रेंड सेट करने के लिए. साल 1933 में 'कर्मा' फिल्म बनी जो अंग्रेजी भाषा में बनी देश की पहली फिल्म थी. लीड रोल में थे हिमांशु राय और देविका रानी. इस फिल्म के जरिए पहली बार लोगों ने किसिंग सीन देखा. किसिंग सीन छोटा-मोटा भी नहीं था. ये 4 मिनट से भी ज्यादा लंबा किसिंग सीन था. फिल्म को लेकर बहुत बवाल हुआ. मगर देविका रानी ने अपना नाम इतिहास के पन्नों में सुनहरे अक्षरों से अंकित करा लिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज