Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    'वॉर' के 1 साल: ऋतिक और टाइगर के साथ नए जमाने की एक्शन फिल्म बनाएंगे सिद्धार्थ आनंद

    बॉलीवुड एक्टर ऋतिक रोशन और टाइगर श्रॉफ.
    बॉलीवुड एक्टर ऋतिक रोशन और टाइगर श्रॉफ.

    डायरेक्टर सिद्धार्थ आनंद (Siddharth Anand) ने कहा कि, ‘फिल्म में ऋतिक रोशन (Hrithik Roshan) और टाइगर श्रॉफ (Tiger Shroff) को ड्रीम कास्ट के रूप में कास्ट किया गया था क्योंकि हमारा मानना था कि दो सुपरस्टार्स के एक साथ यह फिल्म नहीं करेंगे. आजकल एक फिल्म में एक एक्टर को रखना बहुत कठिन है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 2, 2020, 9:39 PM IST
    • Share this:
    मुंबई. फिल्म स्टार ऋतिक रोशन (Hrithik Roshan) और टाइगर श्रॉफ (Tiger Shroff) स्टारर 'वार' पिछले साल गांधी जयंती पर रिलीज की गई थी. यह फिल्म ब्लॉकबस्टर हिट साबित हुई. डायरेक्टर सिद्धार्थ आनंद (Siddharth Anand ) का कहना है कि उन्हें दो बड़े सितारे मिले और उन्होंने बॉक्स ऑफिस पर एक बेंचमार्क स्थापित करने के लिए मुझे प्रेरणा दी.

    आनंद ने पास्ट के दिनों को याद करते हुए कहा कि, ‘जब 'वार' फिल्म की स्क्रिप्ट लिखी जा रही थी, तो मैं इसे एक इंग्लिश फिल्म की तरह लिख रहा था. इसमें गाने नहीं थे, इसकी लैंग्वेज एकदम नई थी. जब मैं लैंग्वेज बोलता हूं, तो मुझे बोली जाने वाली लैंग्वेज से कोई मतलब नहीं है. यह फिल्म की लैंग्वेज है, जिसमें सीन के बारे में डिटेल्स दिए रहते हैं.

    प्रत्येक सीन की स्क्रीनप्ले सामने आती है, यह टाइमलाइन और चीजों को शूट करने के लिहाज से थोड़ा जटिल था. यह एक अथक थ्रिलर की तरह था. मुझे नहीं पता था कि दर्शकों का पैलेट दो साल में क्या होगा. आनंद ने कहा कि जब फिल्म रिलीज की गई, तो इसे बहुत अधिक समकालीन माना गया.



    डायरेक्टर सिद्धार्थ आनंद ने कहा कि, ‘फिल्म में ऋतिक रोशन और टाइगर श्रॉफ को ड्रीम कास्ट के रूप में कास्ट किया गया था क्योंकि हमारा मानना था कि दो सुपरस्टार्स के एक साथ यह फिल्म नहीं करेंगे. आजकल एक फिल्म में एक एक्टर को रखना बहुत कठिन है, और बोर्ड पर दो सुपरस्टार को पाना एक सपने के जैसा था. इसलिए, स्वाभाविक रूप से इस फिल्म से बहुत अधिक उम्मीदें थीं.’
    आनंद को बड़े प्रोजेक्ट का डायरेक्शन करना पसंद है, जो वार और उनके पिछले प्रोजेक्ट बैंग बैंग (2014), अनजाना अनजानी (2010) और सलाम नमस्ते (2005) से साबित होता है. उन्होंने आगे कहा कि, ‘बात यह है कि हमें 'वार' में दो एक्शन सुपरस्टार मिले, तो हमें एक बेंचमार्क सेट करना पड़ा. जब मैंने 2012 में एक्शन फिल्में बनाना शुरू किया, तो मुझे सिर्फ इतना पता था कि भारत में मेरे लिए कोई बेंचमार्क या टेम्पलेट नहीं है. क्योंकि मुझे नहीं लगता कि हम भारत में बहुत अच्छी एक्शन फिल्में बनाते हैं.’
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज