मल्टीप्लेक्स शुरू करने के लिए राज्य सरकारों की मंजूरी का इंतजार कर रहे हैं संचालक

सिनेमा हॉल (फोटो क्रेडिट-AFP)
सिनेमा हॉल (फोटो क्रेडिट-AFP)

पीवीआर मल्टीप्लेक्स (PVR Multiplex) के CEO गौतम दत्ता (Gautam Dutta) ने कहा कि केवल 14 राज्य सरकारों ने फिर से मल्टीप्लेक्स खोलने की अनुमति दी है. महाराष्ट्र सरकार से अभी तक कोई निर्देश नहीं मिला है, जहां वह सबसे अधिक स्क्रीन संचालित करती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2020, 11:04 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार 15 अक्टूबर से सिनेमा हॉल (Cinema Hall) और थियेटर (Theater) को फिर से खोलने का दिशा-निर्देश जारी कर चुकी है. इसके बाद भी मल्टीप्लेक्स (Multiplex) फिर से खोलने के लिए उसके संचालकों को राज्य सरकारों की मंजूरी का इंतजार है.

केंद्र सरकार ने 50 प्रतिशत कैपेसिटी के साथ 15 अक्टूबर से सिनेमा हॉल और थियेटरों को फिर से शुरू करने की मंजूरी दे दी है. केंद्र सरकार ने इसके लिए भी मानक परिचालन प्रक्रिया (एसओपी) भी जारी कर दी है. हालांकि केंद्र सरकार ने इस बारे में अंतिम निर्णय लेने का अधिकार राज्य सरकारों को दिया है.

पीवीआर (PVR), आइनॉक्स (Inox), सिनेपोलिस (Cinepolis) और मुक्ता सिनेमाज (Mukta Cinemas) सहित मल्टीप्लेक्स चलाने वाली कंपनियां सोशल डिस्टेंस और संपर्क से मुक्त संचालन सुनिश्चित करते हुए 50 फीसदी कैपेसिटी के साथ 15 अक्टूबर से फिर से संचालन शुरू करने के लिए तैयार हैं.



पीवीआर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) गौतम दत्ता ने कहा कि 22 राज्यों में 875 स्क्रीन चलाने वाली उनकी कंपनी केवल 496 स्क्रीन खोलने में सक्षम होगी, क्योंकि केवल 14 राज्य सरकारों ने अपने यहां मल्टीप्लेक्स को फिर से खोलने की अनुमति दी है. कंपनी को महाराष्ट्र की राज्य सरकार से अभी तक कोई निर्देश नहीं मिला है, जहां वह सबसे अधिक स्क्रीन संचालित करती है. गौतम दत्ता ने कहा, ‘महाराष्ट्र हमारे लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण बाजार है, जो हमारे स्क्रीन शेयर का सबसे बड़ा हिस्सा है.’
सिनेपोलिस के सीईओ बोले- निर्देशों का करेंगे पालन
मैक्सिकन मूवी थिएटर चेन सिनेपोलिस ने कहा कि कंपनी पूरी तरह से तैयार है और वे सरकार द्वारा जारी निर्देशों का पालन करेंगे. सिनेपोलिस इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी देवांग संपत ने कहा, ‘हम केंद्र सरकार के इस कदम का स्वागत करते हैं. हमारे 350 स्क्रीन में से लगभग 75 प्रतिशत स्क्रीन खुले रहेंगे. हम अन्य राज्य सरकारों से मंजूरी देने का अनुरोध कर रहे हैं ताकि हम जल्द से जल्द बाकी स्क्रीन खोल सकें.’

सुभाष घई की फिल्म निर्माण कंपनी मुक्ता आर्ट्स, जो ब्रांड नाम 'मुक्ता ए 2 सिनेमाज़' के तहत मल्टीप्लेक्स चेन चलाती है, ने कहा कि वह लगभग 40 प्रतिशत स्क्रीन खोलने में सक्षम होगी. आईएनओएक्स लीजर के सीईओ आलोक टंडन ने कहा, ‘हम निजी स्क्रीनिंग के साथ भी कुछ नया करना चाहते हैं, जहां परिवार या मेहमानों के छोटे समूह पूरे सभागार को बुक कर सकें और अपनी पसंद की सामग्री का आनंद ले सकें.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज