पाकिस्तानी नागरिक की मदद से चल रहा अश्लील फिल्मों का ओटीटी प्लेटफॉर्म, दो गिरफ्तार

पाकिस्तानी नागरिक की मदद से चल रहा अश्लील फिल्मों का ओटीटी प्लेटफॉर्म, दो गिरफ्तार
अरेस्ट होने की सांकेतिक तस्वीर.

पुलिस अधीक्षक ने जांच के हवाले से बताया कि फिलहाल दोनों आरोपी इस पाकिस्तानी नागरिक को अपने ओटीटी प्लेटफॉर्म के रख-रखाव के बदले भारतीय मुद्रा में हर महीने करीब 40 हजार रुपये का भुगतान कर रहे थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 25, 2020, 11:07 PM IST
  • Share this:
इंदौर. ग्राहकी शुल्क वसूलकर अश्लील फिल्में दिखाने वाला एक ओटीटी प्लेटफॉर्म कथित तौर पर चलाने वाली एक निजी कम्पनी के दो निदेशकों को पुलिस के साइबर दस्ते ने मंगलवार को गिरफ्तार किया. पुलिस का कहना है कि इस ओटीटी प्लेटफॉर्म को एक पाकिस्तानी व्यक्ति की तकनीकी मदद से विकसित किया गया है और पड़ोसी मुल्क का यही नागरिक इसके रख-रखाव का काम भी कर रहा है.

राज्य साइबर सेल की इंदौर इकाई के पुलिस अधीक्षक जितेंद्र सिंह ने संवाददाताओं को बताया कि मामले में एक निजी कम्पनी के दो निदेशकों-दीपक सैनी (30) और केशव सिंह (27) को सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम के संबद्ध प्रावधानों के तहत गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने बताया कि वे ग्वालियर से अश्लील फिल्मों का कारोबार चला रहे थे.

उन्होंने बताया कि सैनी और सिंह पर आरोप है कि वे वयस्क वीडियो कंटेंट बनाने वाले गिरोह के लोगों से अश्लील फिल्में खरीदते थे और इसे अपने ओटीटी प्लेटफॉर्म पर प्रसारित करते थे.



सिंह ने बताया कि आरोपियों ने फ्रीलांसरों के एक ऑनलाइन नेटवर्क के जरिये पिछले साल पाकिस्तान के किसी हुसैन अली को अपने ओटीटी प्लेटफॉर्म को तकनीकी रूप से विकसित करने का काम लगभग 20,000 भारतीय रुपये में सौंपा था.
पुलिस अधीक्षक ने जांच के हवाले से बताया कि फिलहाल दोनों आरोपी इस पाकिस्तानी नागरिक को अपने ओटीटी प्लेटफॉर्म के रख-रखाव के बदले भारतीय मुद्रा में हर महीने करीब 40 हजार रुपये का भुगतान कर रहे थे.

उन्होंने बताया, "आरोपियों के ओटीटी प्लेटफॉर्म पर अश्लील फिल्मों का प्रसारण किया जाता है और इसके ग्राहक भारत समेत 12 देशों में फैले हैं. इस ओटीटी प्लेटफॉर्म के ग्राहकों से हर महीने 249 रुपये का शुल्क वसूला जाता है."

यह भी पढ़ेंः संजय दत्त को मिला 5 साल के लिए US वीजा, कैंसर का इलाज कराने जाएंगे न्यूयॉर्क

सिंह ने बताया कि वेब सीरीज बनाने का झांसा देकर युवतियों से अश्लील फिल्मों में काम कराने वाले अंतरप्रांतीय गिरोह के खिलाफ जारी जांच में मिले सुरागों के आधार पर दोनों आरोपियों को पकड़ा गया है. इस गिरोह के चार सदस्यों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है. उन्होंने बताया कि मामले में विस्तृत जांच जारी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज