अपना शहर चुनें

States

पालघर की घटना पर फूटा कंगना रनौत का गुस्‍सा, ट्वीट कर मांगा साधुओं के ल‍िए न्‍याय

कंगना रनौत ने बताया किस्सा (Photo Credit- team_kangana_ranaut/Instagram)
कंगना रनौत ने बताया किस्सा (Photo Credit- team_kangana_ranaut/Instagram)

पालघर (palghar) में दो साधुओं समेत तीन लोगों की मॉब लिंचिंग (Mob Lynching) से हुई मौत के मामले पर लोगों का गुस्सा लगातार सामने देखने को मिल रहा है. इस घटना पर अब एक्‍ट्रेस कंगना रनौत (Kangana ranuat) ने भी अपनी नाराजगी जाहिर की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 20, 2020, 2:55 PM IST
  • Share this:
महाराष्ट्र (Maharashtra) के पालघर (palghar) में दो साधुओं समेत तीन लोगों की मॉब लिंचिंग (Mob Lynching) से हुई मौत के मामले पर लोगों का गुस्सा लगातार सामने देखने को मिल रहा है. ऐसे में बॉलीवुड के भी कई सितारे इस घटना पर अपनी नाराजगी जता रहे हैं. एक्‍ट्रेस कंगना रनौत (Kangana ranuat) ने भी इस मामले पर अपना गुस्‍सा जाहिर किया है.

कंगना रनौत की टीम ने ट्विटर पर लिखा, 'पालघर में हुई मॉब लिंचिंग की घटना द‍िल दहला देने वाली है. हमारे राष्‍ट्र निर्माण में साधूओं का एक बहुत बड़ा हाथ है. कंगना रनौत इस अमानवीय घटना की कड़ी निंदा करती है जिसमें पालघर में साधुओं की हत्‍या हुई. सिर्फ कमजोर ही बुजुर्गों पर हाथ उठाते हैं.' अपने इस पोस्‍ट के साथ कंगना की टीम ने #JusticeForSadhu हैशटैग भी शेयर किया है.

 





बताया जा रहा है दोनों साधु पालघर के ​गड़चिनचले गांव में जब इंटिरयर रोड से होते हुए मुंबई से गुजरात की ओर जा रहे थे तभी किसी ने अफवाह उड़ा दी कि कुछ चोर भाग रहे हैं. इसके बाद दर्जनों लोगों की भीड़ उनके ऊपर टूट पड़ी. बताया जाता है कि यह पूरी घटना वहां मौजूद पुलिसकर्मियों के सामने हुई लेकिन उन्होंने कुछ नहीं किया. वहां मौजूद लोगों ने साधुओं के साथ एक ड्राइवर और पुलिसक​र्मी पर हमला कर दिया. हमले के बाद साधुओं को अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

पालघर के जिलाधिकारी के शिंदे ने बताया कि घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है, जिसमें साफ दिखाई दे रहा है कि गांव के लोग लाठी डंडे लेकर पहुंचे और उन्होंने साधुओं पर हमला शुरू कर दिया. वीडियो के आधार पर गांव के 110 लोगों को चिह्नित कर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है और सभी को गिरफ्तार कर लिया गया है.

बता दें कि इस मामले में अभी तक 110 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. इनमें से 101 लोगों को 30 अप्रैल तक पुलिस कस्टडी में भेजा गया है, जबकि 9 नाबालिगों को जुवेनाइल होम में भेज दिया गया है. रिपोर्ट के अनुसार एक अफवाह ने गांव के लोगों में इस कदर गुस्सा बढ़ा दिया कि उन्होंने बिना कुछ सोचे समझे दो साधुओं समेत तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज