यौन शोषण मामला: अनुराग कश्यप के खिलाफ पायल घोष ने वर्सोवा थाने में दर्ज कराई FIR

मशहूर फिल्ममेकर अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap) पर यौन शोषण (Sexual Exploitation) का आरोप लगाने वाली एक्ट्रेस पायल घोष (Payal Ghosh) ने मंगलवार को फिल्ममेकर के ख‍िलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज करा दी है.
मशहूर फिल्ममेकर अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap) पर यौन शोषण (Sexual Exploitation) का आरोप लगाने वाली एक्ट्रेस पायल घोष (Payal Ghosh) ने मंगलवार को फिल्ममेकर के ख‍िलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज करा दी है.

मशहूर फिल्ममेकर अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap) पर यौन शोषण (Sexual Exploitation) का आरोप लगाने वाली एक्ट्रेस पायल घोष (Payal Ghosh) ने मंगलवार को फिल्ममेकर के ख‍िलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज करा दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 23, 2020, 1:37 PM IST
  • Share this:
मुंबई. यौन शोषण के मामले में फिल्ममेकर अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap) की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. हाल ही में एक्ट्रेस पायल घोष (Payal Ghosh) ने फिल्ममेकर पर यौन शोषण (Sexual Exploitation) का आरोप लगाया था. वहीं, पायल घोष ने मंगलवार को फिल्ममेकर के ख‍िलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज करा दी है. एक्ट्रेस ने मुंबई के वर्सोवा पुलिस स्टेशन (Versova Police Station) में एफआईआर कराई है.

अनुराग ने आरोपों को बताया है बेबुनियाद
दूसरी ओर, एक्ट्रेस के आरोपों के एक दिन बाद 20 सितंबर को एक के बाद एक अनुराग कश्यप ने कई ट्वीट किए और खुद पर लगे इन गंभीर आरोपों पर प्रतिक्रिया दी थी. उन्होंने एक ट्वीट में लिखा, "क्या बात है, इतना समय ले लिया मुझे चुप करवाने की कोशिश में. चलो कोई नहीं. मुझे चुप कराते कराते इतना झूठ बोल गए कि औरत होते हुए दूसरी औरतों को भी संग घसीट लिया. थोड़ी तो मर्यादा रखिए मैडम. बस यही कहूंगा कि जो भी आरोप हैं आपके सब बेबुनियाद हैं."


अनुराग के वकील ने जारी किया बयान


वहीं, अनुराग कश्यप ने अपनी वकील प्रियंका खिमानी के जरिए भी एक बयान जारी किया है. अपने बयान में अनुराग कश्यप ने कहा कि पायल घोष द्वारा उन पर लगाए सभी आरोप गलत हैं और वह इसके खिलाफ कानूनी एक्शन लेने के लिए तैयार हैं. वकील प्रियंका खिमानी के बयान में लिखा गया है, ''मेरे क्लाइंट, अनुराग कश्यप पर हाल ही में लगे यौन शोषण के झूठे आरोपों से उन्हें गहरा दुख हुआ है. ये आरोप पूरी तरह से झूठे, निंदनीय और गलत हैं. यह दुखद है कि मीटू जैसे महत्वपूर्ण आंदोलन को खुद के स्वार्थ और किसी की चरित्र हत्या के लिए चुना गया.''
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज