पीयूष गोयल बोले- 26 लाख कर्मचारियों को न्यूनतम मजदूरी, सामाजिक सुरक्षा दे एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री

पीयूष गोयल बोले- 26 लाख कर्मचारियों को न्यूनतम मजदूरी, सामाजिक सुरक्षा दे एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री
वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल फिल्म उद्योग पर आधारित फिक्की फ्रेम्स 2020 में यह बात कही.

वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल (Commerce and Industries Minister Piyush Goyal) ने अनियमित ओटीटी प्लेटफार्मों (OTT Platforms) पर भी चिंता व्यक्त की, जहां कटेंट कभी-कभी आपत्तिजनक होता है और इसमें भ्रामक सूचनाएं भी होती हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल (Commerce and Industries Minister Piyush Goyal) ने शनिवार को फिल्म उद्योग (Film Industry) से कहा कि, वह अपने कर्मचारियों को न्यूनतम मजदूरी, स्वास्थ्य सुरक्षा और अन्य सामाजिक सुरक्षा देना सुनिश्चित करे. उन्होंने फिक्की और अन्य संगठनों से इस क्षेत्र में एक तंत्र तैयार करने में मदद करने का आग्रह भी किया ताकि भारत में विदेशी फिल्मों की शूटिंग के लिए बाहर के लोगों को आकर्षित किया जा सके.

26 लाख लोगों का बेहतर जीवन स्तर सुनिश्चित करे एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री
गोयल ने अनियमित ओटीटी प्लेटफार्मों पर भी चिंता व्यक्त की, जहां कटेंट कभी-कभी आपत्तिजनक होता है और इसमें भ्रामक सूचनाएं भी होती हैं. उन्होंने फिल्म उद्योग पर आधारित फिक्की फ्रेम्स 2020 में कहा, ‘इस उद्योग में काम करने वाले सभी हितधारकों के बीमा, स्वास्थ्य देखभाल, पेंशन और सामाजिक कल्याण को लेकर मैं चिंतित रहता हूं.’ गोयल ने कहा कि स्पॉट बॉय/ गर्ल्स जैसे कई लोग फिल्मों, धारावाहिकों या विज्ञापनों में शामिल होते हैं, और उद्योग को इस क्षेत्र में लगे 26 लाख लोगों का बेहतर जीवन स्तर सुनिश्चित करने का प्रयास करना चाहिए.

आगे बने रहने के लिए उद्योगों को अलग तरह से सोचना होगा
गोयल ने आत्मनिर्भर भारत योजना के बारे में कहा कि यह अपने दरवाजे बंद करने के बारे में नहीं है, बल्कि ताकत और आत्मविश्वास से भरी एक ऐसी स्थिति के बारे में है, जहां से हम समान शर्तों पर बातचीत करते हैं. कोविड-19 महामारी से पैदा हुई चुनौतियों के बारे में गोयल ने कहा कि दुनिया काम करने के नए तरीके को अपना रही है तथा आगे बने रहने के लिए उद्योगों को अलग तरह से सोचना होगा, इनोवेशन और कारोबारी ढांचे को नया स्वरूप देना होगा.



गोयल ने कहा कि वह भारत में फिल्मों की शूटिंग को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकारों से बात करेंगे, निर्माता किसी दूसरे विदेशी स्थान पर न जाएं. उन्होंने कहा कि इससे पर्यटन के क्षेत्र में भी सुधार आएगा. साथ ही उन्होंने अधिक संख्या में विदेशी कंपनियों को भारत में लाने की जरूरत पर जोर दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading