Prakash Jha Birthday: वो डायरेक्टर जो आसाराम बापू और व्यापम घोटाले पर बनाना चाहता है फिल्म

Prakash Jha Birthday: वो डायरेक्टर जो आसाराम बापू और व्यापम घोटाले पर बनाना चाहता है फिल्म
प्रकाश झा बॉलीवुड के दिग्गज डायरेक्टर हैं.

बॉडीवुड के जानेमाने निर्माता-निर्देशक प्रकाश झा का आज जन्मदिन (Prakash Jha Birthday) है. बीते कुछ सालों से उनके अंदाज वाली फिल्में दर्शकों को देखने को नहीं मिली हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 27, 2020, 6:09 AM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
मुंबई. 'गंगाजल', 'राजनीति', 'अपहरण', 'आरक्षण', 'चक्रव्यूह' और 'सत्याग्रह' जैसी फिल्में देने वाले डायरेक्टर प्रकाश झा (Prakash Jha) का जन्म 27 फरवरी 1952 को बेतिया बिहार में हुआ था. आज वे अपना 68वां जन्मदिन मना रहे हैं. बात शुरुआती दिनों की करें तो कॉलेज के दिनों में उन्हें फिजिक्स बहुत पसंद थी. उन्होंने फिजिक्स में बीएससी ऑनर्स में एडमिशन भी लिया था. लेकिन बीएससी पूरा करने से पहले ही उनका मन सिनेमा की ओर ज्यादा लगने लगा था. शुरुआती एक साल कॉलेज में गुजारने के बाद प्रकाश झा मुंबई आ गए. यहां आने के पीछे उनका मकसद पेंटर बनना था. अपने इस सपने को पूरा करने के लिए वह जेजे स्कूल ऑफ आर्ट्स में एडमिशन लेने की तैयारी कर रहे थे. लेकिन आर्ट स्कूल में एडमिशन की तैयारी के दौरान उन्होंने फिल्म 'धर्मा' की शूटिंग होती देखी बस यहीं से उनका पूरा इंटरेस्ट बदल गया और उन्होंने फिल्म लाइन में आने का फैसला लिया.

फिल्मों के गुर सीखने के लिए प्रकाश ने FTII पुणे (1973) में एडमिशन लिया. लेकिन इससे पहले कि पढ़ाई पूरी होती फिल्म इंस्टीट्यूट ही एक छात्र आंदोलन के चलते कॉलेज कुछ समय के लिए बंद हो गया. कॉलेज बंद हुआ तो प्रकाश झा मुंबई लौट आए और काम करना शुरू कर दिया. इसके बाद उन्होंने लगातार काम किया. साल 1982 में उन्होंने डॉक्युमेंट्री फिल्म 'श्री वत्स' से शुरुआत की और आज इंडस्ट्री एक जाना-पहचाना नाम बन गए हैं.

अपनी आखिरी मुख्य धारा की फिल्म 'जय गंगाजल' में उन्होंने डायरेक्‍शन के साथ एक्टिंग में भी कदम रखा. तब उनके अभिनय को काफी सराहा भी गया. इसके बाद उन्होंने अनुराग कश्यप द्वारा निर्म‌ित फिल्म 'सांड की आंख' में भी अभिनय किया. लेकिन 'जय गंगाजल' के बाद उनके अंदाज वाली कोई फिल्म नहीं आई. साल 2016 में आई 'जय गंगाजल' के बाद उन्होंने आखिरी बार निर्देशन की बागडोर साल 2019 में आई 'परीक्षा' में संभाली थी. लेकिन यह आदिल हुसैन, संजय सुरी स्टारर यह फिल्म महज फिल्म फेस्टिवल्स तक ही सिमट कर रह गई. फिल्मों के अलावा उन्हें सांसद बनने में दिलचस्पी है. उन्होंने तीन मर्तबा लोकसभा चुनाव लड़ा पर वे जीतने में सफल नहीं हो पाए. वे बिहार में अपने जन्मस्‍थान चंपारण सीट से चुनाव लड़ा करते थे, लेकिन उन्हें एक बार भी जीत नहीं मिली.



लेकिन बीते कुछ दिनों में उनसे जुड़ी जिन बातों के लिए उनकी सबसे ज्यादा चर्चा हुई वो है मध्य प्रदेश के मशहूर व्यापमं घोटाले पर उनकी फिल्म बनाने की मंशा और कई जघन्य अपराधों के दोषी पाए गए आसाराम बापू के जीवन में फिल्म बनाने की चाहत. उन्होंने इन दो विषयों पर फिल्म बनाने की बात कही थी. हालांकि अभी इन फिल्मों को वो अमली जामा नहीं पहना सके हैं.



यह भी पढ़ेंः माहिरा शर्मा को भूल नहीं पा रहे हैं पारस छाबड़ा, शो पर कर डाला ये बड़ा ऐलान

प्रकाश ने कहा था कि यदि उन्हें प्रस्ताव मिलता है तो वह व्यापमं घोटाले पर फिल्म जरूर बनाएंगे. बता दें कि सीबीआई जैसी बड़ी जांच एजेंसी भी अभी तक इस घोटाले का पर्दाफाश नहीं कर पाई हैं. इससे जुड़े लोगों की रहस्यमय ढ़ग से मौतें हुई हैं. इसके अलावा प्रकाश झा ने एक दफा कहा था कि मेरी अगली परियोजना 'सतसंग' है, जो आसाराम बापू पर आधारित होगी. इसके अलावा मैं ‘चक्रव्यूह-2’ और ‘राजनीति-2’ का भी निर्माण करूंगा. मौका और अच्छी स्क्रिप्ट मिली तो 'सत्याग्रह 2' भी बनाऊंगा.
First published: February 27, 2020, 6:08 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading