अपना शहर चुनें

States

प्रियंका चोपड़ा को है फेयरनेस क्रीम का ऐड करने का दुख, बोलीं- मैं गोरा दिखने के लिए टेल्कम पाउडर लगाती थी

(photo credit: instagram/@priyankachopra)
(photo credit: instagram/@priyankachopra)

प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) को एक समय पर फेयरनेस क्रीम का ऐड करने को लेकर भारत में काफी विरोध का सामना करना पड़ा था. हालांकि, हॉलीवुड में कदम रखने के बाद उन्होंने फेयरनेस क्रीम के विज्ञापन नहीं करने का फैसला लिया. प्रियंका चोपड़ा के मुताबिक, एक भारतीय एक्टर के तौर पर फेयरनेस क्रीम का विज्ञापन करना काफी आम बात है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 26, 2021, 10:17 AM IST
  • Share this:
मुंबईः बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड तक में अपनी शानदार एक्टिंग से लोगों का दिल जीतने वालीं प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) अपनी प्रोफेशनल लाइफ के साथ ही पर्सनल लाइफ को लेकर भी सुर्खियों में बनी रहती हैं. प्रिंयका चोपड़ा अक्सर ही अपनी पर्सनल लाइफ पर खुलकर बात करती नजर आ जाती हैं. चाहे फिर वह निक जोनास (Nick Jonas) संग उनकी लव स्टोरी हो या फिर उनके करियर के बीच में आई परेशानियां, हर मुद्दे पर प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra Fairness Cream Ad) खुलकर बात करती हैं. ऐसे में एक बार फिर प्रियंका चोपड़ा ने एक ऐसे मुद्दे पर बात की है, जिसे लेकर उन्हें भारत में एक समय पर काफी विरोध का सामना करना पड़ा था और यह मुद्दा था फेयरनेस क्रीम का ऐड.

प्रियंका चोपड़ा ने हाल ही में एक इंटरव्यू में कहा कि उन्हें फेयरनेस क्रीम का विज्ञापन करने का काफी दुख है. उन्हें एक समय पर फेयरनेस क्रीम का ऐड करने को लेकर भारत में काफी विरोध का सामना करना पड़ा था. हालांकि, हॉलीवुड में कदम रखने के बाद उन्होंने फेयरनेस क्रीम के विज्ञापन नहीं करने का फैसला लिया. प्रियंका चोपड़ा के मुताबिक, एक भारतीय एक्टर के तौर पर फेयरनेस क्रीम का विज्ञापन करना काफी आम बात है. क्योंकि, इंडस्ट्री में कई ऐसे एक्टर हैं, जो इसका विज्ञापन करते हैं.

प्रियंका चोपड़ा ने अपनी बुक 'अनफिनिश्ड' में भी इस मुद्दे पर खुलकर बात की है. इस बुक में प्रियंका ने लिखा है- 'साउथ एशिया में स्किन लाइटिनिंग क्रीम का विज्ञापन करना आम बात है. क्योंकि, इंडस्ट्री काफी बड़ी है और हर कोई ऐसे विज्ञापन करता है. कुछ लोग इसे ठीक मानते हैं, लेकिन अब इसे लेकर लोगों मे जागरूकता देखने को मिल रही है. एक महिला एक्टर जब ऐसे विज्ञापन करती है तो इसे बुरा माना जाने लगता है. मेरे लिए भी यह करना गलत था. मैं जब बच्ची थी तो खुद को गोरा दिखाने के लिए टेल्कम पाउडर लगाती थी, क्योंकि मुझे लगता था कि डार्क स्किन होना अच्छी बात नहीं है.'



ये भी पढ़ेंः राखी सावंत ने बदन पर लिखा अभिनव का नाम, देखकर भड़क गईं रुबीना, बोलीं- मेरे पति का टैटू करवा लो...
मालूम हो कि प्रियंका चोपड़ा ने 2015 में इस तरह के विज्ञापनों से खुद को दूर रखने का फैसला लिया था. प्रियंका चोपड़ा ने एक इंटरव्यू में कहा था कि उन्हें इसे लेकर काफी बुरा महसूस होता था, जिसके चलते उन्होंने फेयरनेस क्रीम का ऐड करना बंद कर दिया. प्रियंका चोपड़ा के मुताबिक, उनके सभी भाई-बहन काफी गोरे थे, उनके परिवार में केवल वही थीं, जिनकी स्किन डार्क थी. मजे लेने के लिए उनके परिवार में लोग उन्हें काली, काली कहकर बुलाते थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज