Home /News /entertainment /

r madhavan defends bollywood in north vs south debate know what the actor said an

आर माधवन ने 'North Vs South' डिबेट में बॉलीवुड का किया बचाव, जानें क्या बोले एक्टर

आर माधवन की 'रॉकेट्री: द नांबी इफेक्ट' 1 जुलाई को रिलीज होगी. (फोटो साभार: Instagram@actormaddy)

आर माधवन की 'रॉकेट्री: द नांबी इफेक्ट' 1 जुलाई को रिलीज होगी. (फोटो साभार: Instagram@actormaddy)

आर माधवन (R Madhavan) का मानना ​​है कि दक्षिण की फिल्मों की लोकप्रियता का मतलब यह नहीं है कि बॉक्स ऑफिस पर हिंदी फिल्में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रही हैं. उन्होंने 'गंगूबाई काठियावाड़ी', 'द कश्मीर फाइल्स' और 'भूल भुलैया 2' का हवाला देते हुए बॉलीवुड का बचाव किया. उन्होंने साउथ सिनेमा के बड़े स्टार्स की भी तारीफ की.

अधिक पढ़ें ...

आर माधवन (R Madhavan) का कहना है कि बॉलीवुड और साउथ सिनेमा की बहस में पड़ना बेकार है, क्योंकि फिल्म इंडस्ट्री में चीजें लगातार बदल रही हैं और कोई भी यह अनुमान नहीं लगा सकता कि लोगों को फिल्म कैसी मिलेगी. साल 2022 में केवल तीन हिंदी फिल्में- ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’, ‘द कश्मीर फाइल्स’ और ‘भूल भुलैया 2’ हिट रही हैं.

साउथ में एसएस राजामौली की तेलुगु फिल्म ‘आरआरआर’, कन्नड़ फिल्म ‘केजीएफ चैप्टर 2’ और अल्लू अर्जुन की तेलुगु फिल्म ‘पुष्पा’ ने बॉक्स ऑफिस पर नए रिकॉर्ड कायम किए हैं. माधवन ने अपनी फिल्म ‘रॉकेट्री: द नांबी इफेक्ट’ के प्रचार के दौरान एक प्रेस कॉन्प्रेंस में कहा कि यह बहस करना बेकार है कि साउथ की फिल्में हिंदी क्षेत्र में अच्छा कारोबार क्यों कर रही हैं?

आर माधवन: दर्शकों की प्रतिक्रिया का अनुमान लगाना मुश्किल
आर माधवन कहते हैं, ‘अगर आपको लगता है कि सफल होने का कोई नियम है, तो आप सबकुछ गंवा सकते हैं, क्योंकि हर दिन चीजें बदल रही हैं. मुझे उम्मीद है कि आने वाले सालों में अन्य फिल्में अच्छा प्रदर्शन करेंगी और एक नया चलन शुरू होगा. मुझे नहीं लगता कि हम यह अनुमान लगा सकते हैं कि दर्शक कैसी प्रतिक्रिया करेंगे.’

आर माधवन: हिंदी फिल्में भी कर रही हैं अच्छा परफॉर्म
माधवन का मानना ​​है कि साउथ की फिल्मों की लोकप्रियता का मतलब यह नहीं है कि हिंदी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रही हैं. वे कहते हैं, ‘बाहुबली, आरआरआर, केजीएफ और पुष्पा ने हिंदी फिल्मों से ज्यादा कमाई की है, क्योंकि पूरे भारत में उनकी फैन फॉलोइंग है और वे बड़े पैमाने पर बनी हैं. हालांकि, इसका मतलब यह नहीं है कि हिंदी फिल्में सफल नहीं रही हैं. ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’, ‘द कश्मीर फाइल्स’ और ‘भूल भुलैया 2′ भी बड़ी हिट रही हैं.’

आर माधवन: अल्लू अर्जुन जैसे एक्टर्स की कड़ी मेहनत लाई रंग
वे आगे कहते हैं, ‘मेरा मानना ​​​​है कि इस कोरोना काल में, दर्शकों की मानसिकता में बदलाव आया है. कोविड के बाद लोगों का सब्र और सहनशीलता कम हो गई है.’ उन्होंने कहा कि साउथ की फिल्मों की सफलता का श्रेय एनटीआर जूनियर, राम चरण, अल्लू अर्जुन जैसे एक्टर्स की कड़ी मेहनत को दिया जा सकता है.

Tags: Bollywood news, R Madhavan

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर