Home /News /entertainment /

50 Years Of Amar Prem: राजेश खन्ना ने 24 बार देखी थी ये बंगाली फिल्म, ‘पुष्पा आई हेट टीयर्स’ का जाने किस्सा

50 Years Of Amar Prem: राजेश खन्ना ने 24 बार देखी थी ये बंगाली फिल्म, ‘पुष्पा आई हेट टीयर्स’ का जाने किस्सा

राजेश खन्ना और शर्मिला टैगोर की फिल्म ‘अमर प्रेम’   28 जनवरी 1972 में रिलीज हुई थी. (फोटो साभार:  Movies N Memories/twitter)

राजेश खन्ना और शर्मिला टैगोर की फिल्म ‘अमर प्रेम’ 28 जनवरी 1972 में रिलीज हुई थी. (फोटो साभार: Movies N Memories/twitter)

राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) और शर्मिला टैगोर (Sharmila Tagore) की सुपरहिट फिल्म ‘अमर प्रेम’ फिल्म 1970 में बनी बंगाली फिल्म ‘निशी पद्मा’ (Nishi Padma) का हिंदी रीमेक है. बंगाली फिल्म का डायरेक्शन अरबिंद मुखर्जी ने किया था. ‘निशी पद्मा’ बिभूतिभूषण बंदोपाध्याय की कहानी ‘हिंगर कोचुरी’ पर बनी थी. अरबिंद मुखर्जी ने हिंदी और बंगाली दोनों ही फिल्मों की स्क्रिप्ट लिखी थी.

अधिक पढ़ें ...

    राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) और शर्मिला टैगोर (Sharmila Tagore) की जोड़ी हिट मानी जाती थी. इसके पीछे 50 साल पहले रिलीज हुई फिल्म ‘अमर प्रेम’ (Amar Prem)  जैसी फिल्मों का बड़ा योगदान हैं. शक्ति सामंत (Shakti Samanta) के निर्देशन में बनी इस फिल्म में विनोद मेहरा (Vinod Mehra), सुजीत कुमार और ओम प्रकाश भी थे. 28 जनवरी 1972 में रिलीज हुई ‘अमर प्रेम’  के गाने ‘कुछ तो लोग कहेंगे’, ‘चिंगारी कोई भड़के’, ‘रैना बीती जाए’, ‘ये क्या हुआ’, ‘बड़ा नटखट है’ ही नहीं बल्कि एक डायलॉग भी ऐसा है जिसे 50 बरस बाद भी अक्सर बोला और सुना जाता है.

    बंगाली फिल्म का हिंदी रीमेक है ‘अमर प्रेम’
    राजेश खन्ना यानी बॉलीवुड के काका एक ऐसे सुपरस्टार थे, जिनकी चर्चा आज भी सबसे अधिक होती है. राजेश खन्ना को लेकर फिल्म इंडस्ट्री के अंदर बाहर तमाम तरह के किस्से कहानियां सुने सुनाए जाते हैं लेकिन अपनी फिल्मों को लेकर वह कितने संजीदा थे इसकी एक बानगी फिल्म ‘अमर प्रेम’ के दौरान दिखी थी. ‘अमर प्रेम’ फिल्म 1970 में बनी बंगाली फिल्म ‘निशी पद्मा’ का हिंदी रीमेक है. बंगाली फिल्म का डायरेक्शन अरबिंद मुखर्जी ने किया था. ‘निशी पद्मा’ बिभूतिभूषण बंदोपाध्याय की कहानी ‘हिंगर कोचुरी’ पर बनी थी. अरबिंद मुखर्जी ने हिंदी और बंगाली दोनों ही फिल्मों की स्क्रिप्ट लिखी थी.

    rajesh khanna, sharmila tagore

    50 साल पहले रिलीज हुई थी फिल्म ‘अमर प्रेम’. (फोटो साभार: Movies N Memories/twitter)

    आनंद बाबू के रोल के लिए 24 बार देखी ‘निशी पद्मा’
    राजेश खन्ना को फिल्म ‘आनंद प्रेम’ में  जब कास्ट किया गया तो अपनी फिल्म के किरदार के साथ इंसाफ करने के लिए काफी मेहनत की. फिल्म में आनंद बाबू नामक किरदार राजेश ने निभाया था. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो इस रोल को प्ले करने से पहले राजेश ने एक दो बार नहीं बल्कि 24 बार ‘निशी पद्मा’ देखी थी, लेकिन राजेश खन्ना की मेहनत का ही नतीजा कहिए कि इस फिल्म के 50 बरस बीत जाने के बाद भी सिनेप्रेमी उसी शिद्दत से देखना पसंद करते हैं.

    amar prem film, rajesh khanna

    अमर प्रेम फिल्म का एक सीन.(फोटो साभार: Movies N Memories/twitter)

    आज भी हिट डायलॉग है ‘पुष्पा आई हेट टीयर्स’
    शक्ति सामंत जब ये फिल्म बना रहे थे तब उन्होंने सोचा भी नहीं होगा कि हड़बड़ी में कुछ ऐसा होगा कि फिल्म का डायलॉग ही अमर हो जाएगा. आज भी जब कोई प्रेमी अपनी प्रेमिका को रोते हुए देखता है और उसे हंसाना चाहता है तो राजेश की फिल्म ‘अमर प्रेम’ का फेमस डायलॉग ‘पुष्पा आई हेट टीयर्स’ बोल आंसू पोछ देता है. चलिए आपको बताते हैं कि ये डायलॉग बना कैसे ?

    ‘पुष्पा आई हेट टीयर्स’ का दिलचस्प किस्सा
    राजेश खन्ना के मशहूर डायलॉग के पीछे की कहानी बेहद दिलचस्प है. इस फिल्म की स्क्रिप्ट लिखने में एक नहीं बल्कि दो-दो राइटर ने काम किया था. हुआ यूं कि ‘अमर प्रेम’ की स्किप्ट लिखने वाले अरविंद मुखर्जी को हिंदी बहुत अच्छी तरह से नहीं आती थी, इसलिए फिल्म का स्क्रीनप्ले उन्होंने अंग्रेजी में लिखा. फिर उनके लिखे को रमेश पंत ने हिंदी में ट्रांसलेट किया. लेकिन रमेश ने ‘पुष्पा आई हेट टीयर्स’ वाले डायलॉग को ट्रांसलेट किया तो कुछ बेहतर हिंदी नहीं बन पा रही थी तो उन्होंने उसे यूं ही छोड़ दिया. अच्छा ही हुआ, अगर हिंदी में कुछ ट्रांसलेट कर बनाया होता तो शायद आज हम इस आइकॉनिक डायलॉग का आनंद नहीं उठा पाते.

    amar prem film , rajesh khanna, vinod mehra

    ‘अमर प्रेम’ में विनोद मेहरा सुजीत कुमार ओम प्रकाश भी थे. (फोटो साभार: Movies N Memories/twitter)

    डायलॉग की सफलता का रमेश पंत को भी अंदाजा नहीं था
    रमेश पंत को लगा इतने सारे डायलॉग फिल्म में हैं, एक को ऐसे ही एक्टर से बोलवा लिया जाएगा लेकिन उन्हें जरा भी अंदाजा नहीं था कि ये डायलॉग जब राजेश खन्ना अपने खास अंदाज में फिल्मी पर्दे पर बोलेंगे तो ऐसा हिट होगा कि उसे बरसों तक याद किया जाएगा. ‘अमर प्रेम’ के गानों के साथ-साथ इस आइकॉनिक डायलॉग को सुनते ही लोगों के चेहरे पर बरबस ही मुस्कान आ जाती है.

    ये भी पढ़िए-33 Years Of Ram Lakhan: ‘राम लखन’ की एक्ट्रेस ने जब काट ली अपनी नस, सुभाष घई की जान पर आ गई थी आफत!

    राजेश खन्ना की अदायगी ने कमाल कर दिया था
    हिंदी सिनेमा के प्रसिद्ध अभिनेता राजेश खन्ना ने 170 से अधिक फिल्मों में काम किया, लेकिन कुछ ही फिल्मों के डायलॉग्स आज भी याद किए जाते हैं. इसमें लिखने वालों की काबिलियत तो है ही लेकिन उसे पर्दे पर अंदाजे बयां करने में एक्टर्स की भी बड़ी भूमिका होती है. ‘आराधना’, ‘आनंद’, ‘अमर प्रेम’ जैसी कुछ फिल्मों की वजह से राजेश आज भी प्रशंसकों के दिलों में जिंदा हैं.

    Tags: Rajesh khanna, Sharmila Tagore

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर