10 साल की उम्र में ही राजेश रोशन ने कर दिखाया था कमाल, B'day पर पढ़िए एक दिलचस्प स्टोरी

राजेश रोशन को बतौर संगीतकार पहला मौका फिल्म 'कुंवारा बाप' में मिला था (फोटो साभारः Instagram/rakesh_roshan9)

राजेश रोशन को बतौर संगीतकार पहला मौका फिल्म 'कुंवारा बाप' में मिला था (फोटो साभारः Instagram/rakesh_roshan9)

आज बॉलीवुड के मशहूर संगीतकार राजेश रोशन (Rajesh Roshan) का जन्मदिन हैं. वे जाने-माने संगीतकार रोशनलाल नागरथ (Roshan Lal Nagrath) के बेटे हैं. इस मौके पर हम उनकी जिंदगी से जुड़े कुछ खास किस्से आप तक लाए हैं.

  • Share this:

नई दिल्लीः मशहूर संगीतकार राजेश रोशन (Rajesh Roshan) बीते 40 सालों से बॉलीवुड को अपने संगीत से सजाते आ रहे हैं. आज उनका जन्मदिन हैं. राजेश ने 24 मई 1955 को बॉलीवुड के चर्चित परिवार में जन्म लिया था. वे जाने-माने संगीतकार रोशनलाल नागरथ (Roshan Lal Nagrath) के बेटे हैं. राजेश के बड़े भाई राकेश रोशन (Rakesh Roshan) और भतीजे ऋतिक (Hrithik Roshan) रोशन बॉलीवुड के दो बड़े नाम हैं. आज उनके जन्मदिन के मौके पर हम उनकी जिंदगी से जुड़ी कुछ रोचक बातें आप तक लाए हैं.

राजेश को अपने पिता की तरह संगीत की दुनिया रास आई, लेकिन उन्हें पिता का साथ बहुत कम समय तक मिला. दरअसल, राजेश जब छोटे ही थे, तब उनके पिता रोशनलाल नागरथ का देहांत हो गया था. पिता के निधन के बाद परिवार ने सरनेम 'नागरथ' की जगह रोशन लगाना शुरू कर दिया था.

राजेश को छोटी उम्र से ही उनकी मां इरा खान संगीत की बारीकियां सिखाने लगी थीं. बाद में उन्होंने मशहूर जोड़ी लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल से संगीत की तालीम ली.

(फोटो साभारः Instagram/rakesh_roshan9)

राजेश की संगीत की समझ से उनके पिता अच्छी तरह परिचित थे. खबरों के अनुसार, एक दिन रोशन, मन्ना डे, मोहम्मद रफी और आशा भोसले के साथ मिलकर फिल्म 'बरसात' के गाने 'इश्क इश्क है' का रिहर्सल कर रहे थे. गीतकार साहिर लुधियानवी गाने को लेकर कुछ असमंजस में थे. रोशन भी कुछ असहज थे. उन्होंने संशय दूर करने के लिेए तुरंत राजेश को बुलाया और गाने को लेकर उनकी राय जाननी चाही. कहा जाता है कि राजेश को गाना पसंद आने के बाद ही इसकी फाइनल रिकॉर्डिंग की गई थी. तब राजेश सिर्फ दस साल के थे.

राजेश रोशन ने बतौर संगीतकार बॉलीवुड में तब कदम रखा था, जब संगीतकार जोड़ी लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल की तूती बोलती थी. उन्हें पहला मौका फिल्म 'कुंवारा बाप' में मिला था. उन्होंने इस फिल्म के गाने 'सज रही गली' को अपने संगीत से पिरोया था. यह गाना 15 किन्नरों के साथ रिकॉर्ड हुआ था. गाना खूब लोकप्रिय हुआ था.

राजेश रोशन ने 1975 में आई फिल्म 'जूली' के लिए फिल्मफेयर का बेस्ट म्यूजिक डायरेक्टर का खिताब जीता था. इस फिल्म ने उन्हें बॉलीवुड में स्थापित कर दिया था. राजेश को 2000 में फिल्म 'कहो ना प्यार है' के लिए यह अवॉर्ड फिर से मिला था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज