Home /News /entertainment /

67th National Film Awards: रजनीकांत को मिला दादासाहब फाल्के अवार्ड, दोस्त-गुरु को किया समर्पित

67th National Film Awards: रजनीकांत को मिला दादासाहब फाल्के अवार्ड, दोस्त-गुरु को किया समर्पित

सुपरस्टार रजनीकांत को दादासाहेब फाल्के अवार्ड मिला.  (फोटो साभारःTwitter @ManobalaV)

सुपरस्टार रजनीकांत को दादासाहेब फाल्के अवार्ड मिला. (फोटो साभारःTwitter @ManobalaV)

सुपरस्टार रजनीकांत (Rajinikanth) को भारतीय सिनेमा के सबसे प्रतिष्ठित 'दादासाहब फाल्के अवार्ड' मिला. 67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह (67th National Film Awards) में रजनीकांत ने इस पुरस्कार को अपने गुरु के बालाचंदर, अपने बड़े भाई सत्यनारायण गायकवाड़ और अपने सबसे अच्छे दोस्त राज बहादुर को समर्पित किया.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. सुपरस्टार रजनीकांत को भारतीय सिनेमा के सबसे प्रतिष्ठित ‘दादासाहब फाल्के अवार्ड’ (Dada Saheb Falke Award) से सम्मानित किया गया. रजनीकांत ने यह सम्मान 67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह (67th National Film Awards) में उपराष्ट्रपति एम. वैंकेया नायडू से ग्रहण किया. रजनीकांत ने इस पुरस्कार को अपने गुरु के. बालाचंदर, अपने बड़े भाई सत्यनारायण गायकवाड़ और अपने सबसे अच्छे दोस्त राज बहादुर को समर्पित किया. रजनीकांत जब कर्नाटक बस ट्रांसपोर्ट में कंडक्टर थे, राज बहादुर तब से ही उनके अच्छे दोस्त हैं.

    इस खास मौके पर रजनीकांत (Rajinikanth) ने सफेद कुर्ता और पायजामा पहना हुआ था. उन्होंने चेहरे पर मुस्कान के साथ प्रतिष्ठित पुरस्कार को उपराष्ट्रपति के हाथों से लिया. इसके बाद उन्होंने अपने गुरु, बड़े भाई और अपने लंबे समय के दोस्त को पुरस्कार समर्पित किया. उन्होंने कहा, “मैं इस प्रतिष्ठित पुरस्कार को पाकर बेहद खुश हूं और मुझे दादासाहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित करने के लिए केंद्र सरकार का दिल से धन्यवाद.”

    रजनीकांत ने आगे कहा,”मैं इस पुरस्कार को अपने मेंटोर और गुरु के बालाचंदर सर को समर्पित करता हूं. इस समय, मैं उन्हें याद कर रहा हूं. और मेरे भाई सत्यनारायण गायकवाड़, जो मेरे पिता की तरह हैं, मुझे महान मूल्यों की शिक्षा देने और मुझमें आध्यात्मिकता पैदा करने के लिए. साथ ही, मेरे मित्र और सहयोगी राज बहादुर को धन्यवाद, जो एक बस ड्राइवर थे. जब मैं बस कंडक्टर था, उन्होंने ही मुझमें एक्टर की पहचान की और मुझे फिल्मों में जाने के लिए प्रोत्साहित किया. इन सभी को ये अवार्ड डेडिकेट कर रहा हूं.”

    रजनीकांत ने आगे कहा, “उन सम्मानित निर्देशकों और निर्माताओं का आभार जिन्होंने मुझ पर विश्वास किया और मेरे साथ फिल्में कीं. तकनीशियनों, वितरकों, मीडिया और मेरे सभी फैंस का आभार. सभी तमिल लोगों को मेरा आभार – तुम्हारे बिना, मैं कुछ भी नहीं हूं.” इस राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में रजनीकांत की पत्नी लता, बेटी सौंदर्या, रजनीकांत और दामाद धनुष (Dhanush) समेत परिवार के सभी सदस्य मौजूद थे. खास बात यह है कि धनुष को फिल्म ‘असुरन’ (Asuran) में उनके प्रदर्शन के लिए बेस्ट एक्टर का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिला है.

    रजनी ने 1975 में डेब्यू किया था. एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में उनको करीब 46 साल हो चुके हैं. रजनीकांत 12वें दक्षिण भारतीय हैं जिन्‍हें यह अवॉर्ड मिला है. इससे पहले डॉ. राजकुमार, अक्‍कीनेनी नागेश्‍वर राव, के बालाचंदर जैसे लोगों को यह पुरस्‍कार दिया जा चुका है.

    वर्कफ्रंट की बात करें तो रजनीकांत ने अब तक एक से बढ़कर एक फिल्में की हैं. उनकी सुपरहिट फिल्मों की लिस्ट में ‘रोबोट’, ‘कबाली’, ‘चेन्नई एक्सप्रेस’, ‘धर्मा दोरई’, ‘लिंगा’, ‘बाबा’, ‘काला’ सहित कई नाम शामिल हैं. रजनीकांत के फैंस करोड़ों में हैं और उन्हें हमेशा ‘थलाइवा’ के नाम से भी पुकारते हैं.

    Tags: 67th national award, Dhanush, Rajinikanth

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर