• Home
  • »
  • News
  • »
  • entertainment
  • »
  • Rajiv Kapoor 'राम तेरी गंगा मैली' से रातों-रात बने स्टार, फिर भी फ्लॉप रहा करियर, इन फिल्मों का नहीं चला जादू

Rajiv Kapoor 'राम तेरी गंगा मैली' से रातों-रात बने स्टार, फिर भी फ्लॉप रहा करियर, इन फिल्मों का नहीं चला जादू

राजीव कपूर.

राजीव कपूर.

राज कपूर (Raj Kapoor) के सबसे छोटे बेटे राजीव कपूर (Rajiv Kapoor) का हार्ट अटैक के चलते आज यानी 9 फरवरी को निधन हो गया है. वह एक्टर रणधीर कपूर और ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) के सबसे छोटे भाई थे. वह 58 साल की उम्र में इस दुनिया से रुखसत हुए हैं. राजीव कपूर (Rajiv Kapoor) अपने बाकी भाइयों की तरह प्रतिभाशाली थे.

  • Share this:

    मुंबईः महान एक्टर राज कपूर (Raj Kapoor) के सबसे छोटे बेटे राजीव कपूर (Rajiv Kapoor) आज हमारे बीच नहीं रहे. उनका हार्ट अटैक के चलते आज यानी 9 फरवरी को निधन हो गया है. वह एक्टर रणधीर कपूर और ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) के सबसे छोटे भाई थे. वह 58 साल की उम्र में इस दुनिया से रुखसत हुए हैं. उन्हें आज सुबह हार्ट अटैक आया था. इसके बाद रणधीर कपूर उन्हें तुरंत हॉस्पिटल लेकर गए थे. अस्पताल पहुंचे पर डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था.

    रणधीर कपूर ने यह दुखद खबर फैंस के साथ शेयर की है, उन्होंने लिखा है, ‘मैंने अपने सबसे छोटे भाई राजीव को खो दिया है. वह अब इस दुनिया में नहीं हैं. डॉक्टरों ने उन्हें बचाने की पूरी कोशिश की, पर बचा नहीं सके. मैं अभी हॉस्पिटल में ही हूं और उनकी डेड बॉडी मिलने का इंतजार कर रहा हूं.’ नीतू कपूर ने भी इंस्टाग्राम पर उनके निधन की पुष्टि की है.

    राजीव कपूर (Rajiv Kapoor) ने बॉलीवुड में बतौर एक्टर और डायरेक्टर काम किया था. उन्होंने 1983 में आई फिल्म ‘एक जान हैं हम’ (Ek Jaan Hain Hum) से काम करना शुरू किया था. लेकिन उन्हें बड़ा ब्रेक मिला अपनी पिता की फिल्म ‘राम तेरी गंगा मैली’ से. उन्होंने राज कपूर के डायरेक्शन में बनी फिल्म ‘राम तेरी गंगा मैली’ में साल 1985 में बतौर लीड एक्टर डेब्यू किया था. दिलचस्प बात यह है कि राज कपूर को इस फिल्म को बनाने का आइडिया फिल्म ‘जिस देश में गंगा बहती है’ शूटिंग के दौरान आया था, जिसे उन्होंने 26 साल बाद फिल्मी पर्दे पर उतारा. यह फिल्म बोल्ड सीन्स के चलते तब काफी विवादों में रही थी.

    उन्होंने फिल्म ‘आसमां’ (Aasmaan), ‘लव बॉय’ (Lover Boy), ‘जबरदस्त’ और ‘हम तो चले परदेस’ (Hum To Chale Pardes ) जैसी फिल्मों में एक्टिंग भी की थी. बतौर एक्टर वह आखिरी बार फिल्म ‘जिम्मेदार’ (Zimmedaar) में नजर आए थे, जो 1990 में रिलीज हुई थी.

    राजीव कपूर (Rajiv Kapoor) अपने बाकी भाइयों की तरह प्रतिभाशाली थे. उन्होंने ऋषि कपूर के लीड रोल वाली फिल्म ‘प्रेम ग्रंथ’ का डायरेक्शन किया था. बतौर डायरेक्टर यह उनकी पहली फिल्म थी. वह 1991 में आई फिल्म ‘हेना’ (Henna) के निर्माता भी थे. वह 1999 में आई फिल्म ‘आ अब लौट चलें’ (Aa Ab Laut Chalen) के प्रोड्यूसर भी थे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन