'पद्मावती' को अब मिली धरना प्रदर्शन की चुनौती

फिल्म 'पद्मावती' को लेकर जारी हैं धरने प्रदर्शन

फिल्म 'पद्मावती' को लेकर जारी हैं धरने प्रदर्शन

संजय लीला भंसाली को मिली राजपूतों से चुनौती, फिल्म रिलीज हुई तो होंगे धरने.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 9, 2017, 9:47 PM IST
  • Share this:

संजय लीला भंसाली ने भले ही फिल्म 'पद्मावती' फिल्म को लेकर राजपूतों के इतिहास के साथ छेड़छाड़ ना होने का आश्वासन दे दिया हो, लेकिन राजपूत समाज अभी भी संजय लीला भंसाली से खफा है. राजपूतों को भंसाली की बातों पर यकीन नहीं हो रहा है.

अभी हाल ही में मुंबई में एक बार फिर करणी सेना और बीजेपी एमएलए राजपुरोहित ने चेतावनी दी है कि अगर इस फिल्म ने इतिहास के साथ छेड़छाड़ की होगी तो इसका अंजाम बुरा होगा.

बता दें कि संजय लीला भंसाली के आश्वासन के बाद भी 'पद्मावती' से संकट के बादल छंटने का नाम नहीं ले रहे हैं. मुंबई में करणी सेना ने संजय लीला भंसाली को आगाह किया है कि पद्मावती और खिलजी को लेकर जिस तरीके का ड्रीम सीक्वेंस बनाया गया है वो राजपूत, राजस्थान और पूरे देश के इतिहास के साथ खिलवाड़ है.



उन्होंने यह भी कहा है कि अगर सेंसर बोर्ड इस फिल्म को रिलीज कर भी देगी तो राजपूत समाज सेंसर बोर्ड ऑफिस और सिनेमाघरों के सामने प्रदर्शन करेंगे. साथ ही मुख्यमंत्री के घर पर 20 नवंबर को धरना देंगे.
इतने विरोधों के बावजूद संजय लीला भंसाली कई बार सफाई दे चुके हैं कि लोग बिना बात के ही फिल्म का विरोध कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि फिल्म में रानी पद्मावती और खिलजी के बीच कोई ड्रीम स्वीक्वेंस नहीं है.

फिर भी राजपूत समाज अपनी मांगों पर अड़ा है. उनका कहना है कि यह फिल्म रिलीज ना की जाए. करणी सेना के लोग इस सिलसिले में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को पत्र भी लिख चुके हैं. फिल्म एक दिसम्बर को सिनेमाघरों में आएगी.

ये भी पढ़ें :

REVIEW : रिवेंज से भरी है 'शादी में जरूर आना'

 

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज