लाइव टीवी

राकेश रोशन ने किया खुलासा, 'डॉक्‍टरों ने कहा था काटनी पड़ेगी आपकी जीभ तो मैंने कहा...'

News18Hindi
Updated: November 8, 2019, 3:31 PM IST
राकेश रोशन ने किया खुलासा, 'डॉक्‍टरों ने कहा था काटनी पड़ेगी आपकी जीभ तो मैंने कहा...'
राकेश रोशन ने अपने कैंसर के दौरान की घटनाओं का खुलासा किया.

राकेश रोशन (Rakesh Roshan) ने बताया, 'मुझे शुरुआत से ऐसा प्रतीत हो रहा था कि मुझे कैंसर (Cancer) है. मुझे अच्‍छे से याद है वो तारीख थी 15 दिसंबर, 2018. उस दिन मैं बेटे ऋतिक (Hrithik Roshan) के पास था. तभी मुझे एक कॉल आई और कैंसर की पुष्टि हो गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 8, 2019, 3:31 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कैंसर (Cancer) से जंग लड़ने के बाद फिल्‍म निर्देशक राकेश रोशन (Rakesh Roshan) ने अब एक इंटरव्‍यू में उन बातों का खुलासा किया है, जिनसे उन्‍हें कैंसर के दौरान गुजरना पड़ा था. उन्‍होंने SpotBoye को दिए इंटरव्‍यू में इस बात का भी खुलासा किया कि जब वह जीभ के कैंसर (Tongue Cancer) से जूझ रहे थे तो डॉक्‍टरों ने उनसे कहा था कि शायद आपकी जीभ का कुछ हिस्‍सा काटना पड़ सकता है. उसके बाद उसकी ग्राफ्टिंग करनी पड़ सकती है. राकेश रोशन ने इस बात का खुलासा किया कि उसे दौरान उन्‍होंने डॉक्‍टरों से क्‍या कहा था.

इलाज से नहीं हुआ फायदा तो कराई बायोप्‍सी
राकेश रोशन ने बताया, 'यह सब एक छाले से शुरू हुआ था. मेरे फैमिली डॉक्‍टर ने उसका कई बार इलाज किया लेकिन वो खत्‍म होने का नाम नहीं ले रहा था. वो छाला बेहद छोटा था और उसमें कोई दर्द व खुजली जैसी समस्‍या भी नहीं थी.' उन्‍होंने आगे बताया कि एक दिन वह हिंदुजा हॉस्पिटल में अपने दोस्‍त से मिलने गए थे. जब वह वहां से बाहर निकल रहे थे तो उनकी नजर उसके केबिन के बाहर लगे ईएनटी (नाक, कान, गला) के डॉक्‍टर का बोर्ड दिखा. उन्‍होंने तुरंत उनसे मुलाकात की. डॉक्‍टर ने उन्‍हें बायोप्‍सी कराने की सलाह दी.

जब कैंसर की पुष्टि हुई तो ऋतिक के साथ थे राकेश

राकेश रोशन ने बताया, 'मुझे शुरुआत से ऐसा प्रतीत हो रहा था कि मुझे कैंसर है. मुझे अच्‍छे से याद है वो तारीख थी 15 दिसंबर, 2018. उस दिन मैं बेटे ऋतिक के पास था. तभी मुझे एक कॉल आई. दूसरी ओर से मुझे बताया गया कि आपकी बायोप्‍सी रिपोर्ट पॉजिटिव है. मतलब कैंसर की पुष्टि हो गई थी.' राकेश रोशन से यह पूछा गया कि जब उन्‍हें कैंसर से पीड़ित होने की बात पता चली तो बेटे ऋतिक रोशन का क्‍या रिएक्‍शन था. इस पर उन्‍होंने कहा, 'जैसा कि मैंने पहले कहा यह सारी चीजें हमारे लिए नई नहीं थीं. तो हमने इन समस्‍याओं से पार पाने का प्रयास किया. कभी डिप्रेशन में नहीं जाना चाहिए. जिंदगी जीनी चाहिए. कैंसर सिर्फ एक बड़ा नाम है.'

राकेश रोशन ने परिवार के बारे में कई बातें बताईं.


डॉक्‍टरों ने कहा काटना पड़ेगा जीभ का कुछ हिस्‍सा
Loading...

इसके बाद उन्‍होंने बताया, 'मैं उस दौरान थोड़ा सा डर गया था जब डॉक्‍टरों की ओर से मुझसे कहा गया कि आपकी जीभ का कुछ हिस्‍सा शायद काटना पड़ेगा. उसके बाद हम उसकी ग्राफ्टिंग भी करेंगे. इस पर मैंने कहा कि ये सब चीजें करने की कोई जरूरत नहीं है.' उन्‍होंने कहा कि कैंसर होने के लिए जीभ सबसे खराब जगह है. ऐसे में आप पानी नहीं पी सकते. कॉफी और चाय भी नहीं पी सकते. आप ऐसे में चीजों का स्‍वाद असल स्‍वाद भी नहीं ले सकते.

'2-3 महीने तकलीफ से गुजरा'
राकेश रोशन ने आगे खुलासा करते हुए बताया, 'मैं इन सब चीजों से करीब 2 से 3 महीने तक गुजरा. इस दौरान मेरा वजन 10 किलोग्राम कम हो गया. लेकिन अब यह 3 किलोग्राम बढ़ गया है. कैंसर के इलाज के चलते मैं काफी कमजोर हो चुका था. आपकी अच्‍छी कोशिकाएं (Cell) भी इस दौरान खत्‍म होने लगते हैं.' उन्‍होंने बताया, 'लेकिन अब मैं काफी, काफी अच्‍छा हो गया हूं. मैंने रोजाना 90 मिनट जिम करना शुरू कर दिया है. मेरा निजी ट्रेनर इसके लिए मेरे घर आता है. अब मेरा स्‍टैमिना वापस आ गया है. लेकिन हां यह सच है कि अभी मुझे पूरी तरह से फिट होने में करीब 6 महीने और लगेंगे.'

कीमोथेरेपी और सर्जरी हुई
राकेश रोशन ने अपने कैंसर के इलाज की जानकारी देते हुए आगे बताया, 'तीन हफ्ते बाद कोकिलाबेन अस्‍पताल में मेरी कीमोथेरेपी शुरू हुई. यह रोजाना करीब 4 से 5 घंटे का होती थी. मेरी सर्जरी एचएन रिलायंस फाउंडेशन हॉस्पिटल में हुई. उन्‍होंने मुझे सिस्‍प्‍लाटिन दी. आमतौर पर इसकी मात्रा 40 होती है लेकिन मुझे यह 100 दी जाती थी. यहां तक कि मुझे दिए जाने वाले रेडिएशन को भी बढ़ाकर 60 से 67 कर दिया गया.' उन्‍होंने कहा, 'डॉक्‍टर मुझसे कहते थे आपकी विल पावर काफी अधिक है.'

'परिवार भी स्‍वास्‍थ्‍य परेशानियों से गुजरा था' 
राकेश रोशन ने अपने परिवार की स्‍वास्‍थ्‍य तकलीफों के बारे में भी बात की. उन्‍होंने कहा कि मेरे परिवार के सभी सदस्‍य स्‍वास्‍थ्‍य तकलीफों से गुजर चुके हैं. मेरी पत्‍नी उस दौरान अस्‍वस्‍थ थीं. मेरे ससुर की भी तबीयत खराब थी. सुनैना को भी कैंसर रहा था. ऋतिक की भी ब्रेन सर्जरी हो चुकी है. मैं कभी-कभी निराश होता था, लेकिन हमेशा वहीं बातें नहीं सोचता था. मैं निराशावादी इंसान नहीं हूं. मैं खुशकिस्‍मत भी रहा.

राकेश रोशन ने अपनी पीछे की जिंदगी के बारे में भी कुछ खुलासे किए. उन्‍होंने बताया कि जब 'कहो ना प्‍यार है' बस रिलीज ही हुई थी, उस समय मुझे ईसीजी कराना पड़ा था. मुझे कुछ ही समय में पता चल गया था कि मेरी नसों में ब्‍लॉकेज है. भगवान मेरे लिए काफी दयालू रहे. मैंने कभी हार नहीं मानी और इन सभी समस्‍याओं से बाहर निकल आया.'

 



'कृष-4 पर कर रहा हूं काम'
निर्देशक राकेश रोशन ने इंटरव्‍यू के दौरान अपनी आगामी फिल्‍मों के बारे में भी खुलासा किया. उन्‍होंने बताया कि वह फिल्‍म कृष-4 के लिए काम शुरू कर दिया है. मैं कृष-4 पर काम कर रहा हूं लेकिन उसकी स्क्रिप्‍ट पर नहीं कर रहा. मैं उसका दोबारा विश्‍लेषण कर रहा हूं और उसमें कुछ जरूरी बदलाव कर रहा हूं. उन्‍होंने साफतौर पर कहा कि कृष-4 मेरी आगामी निर्देशित फिल्‍म है. बता दें कि अभिनेता ऋतिक रोशन ने भी पिछले महीने यह कंफर्म किया था कि उनके पिता राकेश रोशन अगली फिल्‍म के लिए तैयार हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बॉलीवुड से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 8, 2019, 3:31 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...