आखिर क्या था 16 अप्रैल के एपिसोड में, जिसने 'रामायण' को बना दिया वर्ल्ड में नंबर वन

रामानंद सागर की 'रामायण' का एक सीन. (फाइल फोटो).
रामानंद सागर की 'रामायण' का एक सीन. (फाइल फोटो).

डीडी इंडिया के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट के मुताबिक, '16 अप्रैल को प्रसारित हुए रामायण (Ramayan) के एपिसोड ने दर्शकों के मामले में विश्व रिकॉर्ड बनाया है.

  • Share this:
मुंबई : रामानंद सागर (Ramanand Sagar) की 'रामायण' (Ramayan) जब से दूरदर्शन (Doordarshan) पर री-टेलीकास्ट हुआ है, तब से हर दिन यह नया रिकॉर्ड बना रहा है. सोशल मीडिया पर भी रामायण लगातार सुर्खियों में है. 'रामायण' के एक्टर्स को भी इन दिनों इंटरनेट पर खूब सर्च किया जा रहा है. लोग इन एक्टर्स की जिंदगी से जुड़ी हर छोटी-बड़ी बात में दिलचस्पी लेते दिख रहे हैं. यही नहीं लॉकडाउन के बीच इस धारावाहिक की टीआरपी भी आसमान छू रही है. इस बीच 'रामायण' ने एक नया रिकॉर्ड बनाया है. डीडी इंडिया के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट के मुताबिक, '16 अप्रैल को प्रसारित हुए रामायण के एपिसोड ने दर्शकों के मामले में विश्व रिकॉर्ड बनाया है. 16 अप्रैल को प्रसारित हुए एपिसोड को 7.7 करोड़ दर्शकों ने दुनिया भर में देखा, जिसके बाद यह सबसे अधिक देखा जाने वाला धारावाहिक बन गया है.'

इस नए रिकॉर्ड से पता चलता है कि लोग इस धार्मिक धारावाहिक को काफी पसंद कर रहे हैं. लेकिन, अब कई लोगों के मन में यह सवाल भी उठ रहा है कि आखिर रामायण के इस एपिसोड में ऐसा क्या था, जो इतने लोगों ने एकसाथ रामायण देखी. दरअसल, 15 अप्रैल को प्रसारित हुए एपिसोड का अंत होता है इंद्रजीत के लक्ष्मण पर शक्ति वाण से प्रहार से, जिससे लक्ष्मण घायल हो कर जमीन पर गिर जाते हैं. विभीषण के सुझाव के अनुसार हनुमान जी लक्ष्मण जी को बचाने के लिए सुषैण वैद्य को लेकर आते हैं. लेकिन, सुषैण वैद्य पहले लक्ष्मण का इलाज करने से मना कर देते हैं, लेकिन राम और विभीषण के बहुत आग्रह के बाद वह लक्ष्मण का इलाज करने के लिए मान जाते हैं.


लक्ष्मण का इलाज कर रहे सुषैण वैद्य श्रीराम से कहते हैं कि अगर वह अपने भाई को जीवित देखना चाहते हैं तो हिमालय पर्वत से संजीवनी बूटी लेकर आएं. इस पर हनुमान श्रीराम से आज्ञा लेते हैं और संजीवनी बूटी लाने के लिए निकल पड़ते हैं. इसके बाद 16 अप्रैल के एपिसोड में दिखाया गया कि, संजीवनी बूटी के ना मिलने पर हनुमान जी पूरा कैलाश पर्वत हाथ में उठा कर ले आते हैं. इसके बाद सुषैण वैद्य के इलाज के बाद लक्ष्मण जी को होश आ जाता है. लेकिन, जैसे ही लंका नरेश रावण और मेघनाद को इस बात की सूचना मिलती है, वह क्रोधित हो उठते हैं.



Raavan scene cut in Ramayan, doordarshan viewers angry on social media, Prasar Bharti CEO Shashi Shekhar respond, TV, entertainment, रामायण में रावण सीन कट, दूरदर्शन के दर्शक नाराज, प्रसार भारती के सीईओ ने दिया जवाब, टीवी, मनोरंजन

इस पर मेघनाद पिता की आज्ञा लेकर अजेय रथ को प्राप्त करने के लिए यज्ञ करने निकल पड़ता है, लेकिन विभीषण श्रीराम और लक्ष्मण को इस बात की जानकारी दे देते हैं. जिसके बाद मेघनाद का यज्ञ रोकने के लिए लक्ष्मण अपनी सेना के साथ बाधा डालते हैं और मेघनाद को युद्ध के लिए ललकारते हैं. इस पर क्रोधित होकर फिर लक्ष्मण पर मायावी वाण का प्रयोग करता है, लेकिन सफलता ना मिलने पर गायब हो जाता है.

ये भी पढ़ेंः बंद हो जाएगी ऋषि कपूर की ये आखिरी फिल्म? शूटिंग के दौरान बिगड़ी थी तबीयत!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज