Full Story: रानू मंडल के प्लेटफॉर्म पर गाने से लता मंगेशकर की टिप्पणी तक

News18Hindi
Updated: September 7, 2019, 5:05 PM IST
Full Story: रानू मंडल के प्लेटफॉर्म पर गाने से लता मंगेशकर की टिप्पणी तक
रानू मंडल अब देश के लिए एक जाना पहचाना नाम बन गई हैं.

रानू मंडल (Ranu Mondal) की जिंदगी और उनके फर्श से अर्श तक पहुंचने की पूरी कहानी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 7, 2019, 5:05 PM IST
  • Share this:
कहते हैं कि टैलेंट और लगन हो, तो किस्मत भी कभी ना कभी साथ दे ही देती है. कुछ ऐसा ही हुआ इंटरनेट सेंसेशन रानू मंडल (Ranu Mondal) के साथ. वो एक लाचार महिला थीं जिनकी ताकत उनकी आवाज बनी. रानू का रेलवे प्लेटफॉर्म वाला वीडियो लगभग हर किसी ने देखा होगा. जिसमें वह अपनी मोहक आवाज में लता मंगेशकर (Lata Mageshkar Songs) का गाना 'एक प्यार का नगमा है' गाती हुई नजर आ रही हैं. इसके बाद से आलम ये है कि हर कोई रानू के बारे में जानना चाहता है. अब कहा जा रहा है कि उनका असली नाम कुछ और है. ऐसे में हम आपको बताने जा रहे हैं रानू के बारे में कुछ ऐसी बातें जो शायद ही कोई जानता हो...जानें रानू की पूरी कहानी-

अलग-अलग नाम से पहचान
जादुई आवाज वाली रानू मंडल पश्चिम बंगाल के रानाघाट की रहने वाली हैं. कई मीडिया रिपोर्ट्स तो यहां तक दावा कर रही हैं कि रानू का असली नाम रेनू रे (Renu Ray) है. वहीं कुछ रिपोर्ट्स का दावा है कि रानू मंडल (Ranu Mondal) पहले एक क्लब में गाना गाया करती थीं, तब उन्हें लोग रानू बॉबी के नाम से जानते थे.

ranumandal2
रानू मंडल ने हिमेश रेशमिया के साथ गाने रिकॉर्ड किए हैं.


रानू की शादी बबलू मंडल नाम के एक शख्स से हुई थी. तभी से वह रानू मंडल हो गईं. शादी के बाद रानू मुंबई शिफ्ट हो गई थीं. रानू की जिंदगी ठीक ही चल रही थी, लेकिन जब उनके पति की मृत्यु हुई तो अचानक रानू की जिंदगी में भूचाल आ गया.



लौट गईं घर ऐसे थे हालात
Loading...

पति के निधन के बाद रानू अपने गांव रानाघाट वापस आ गईं और यहां आकर उनकी हालत और खराब हो गई. रानू ने तय किया कि वो अपने जीवनयापन के लिए अपनी आवाज को ताकत बनाएंगी.

आवाज बनी ताकत


गरीबी का आलम ये था कि रानू को रेलवे स्टेशन पर कोने में बैठ कर भीख मांगनी पड़ती थी. वो गाना गातीं और रास्ते से गुजरते लोग उनकी आवाज सुनकर उन्हें कुछ पैसे या खाने की चीजें दे जाया करते.

छोड़ गई बेटी
रानू की एक बेटी भी है. इस बेटी ने रानू का साथ इसलिए छोड़ दिया क्योंकि उसे अपनी मां का रेलवे स्टेशन पर भीख मांगना पसंद नहीं था. रानू ने लगभग 10 साल ऐसे ही गरीबी के हालत में गुजारे और इन सालों में बेटी, रानू के साथ नहीं थीं. जब रानू एक वीडियो के साथ सोशल मीडिया सेंसेशन बन गईं तो 10 सालों बाद उनकी बेटी भी वापस लौट आईं.

बेटी ने छोड़ा था साथ


जब 20 साल की थीं रानू
एक मीडिया रिपोर्ट में ये भी बताया गया कि जब रानू 20 साल की थीं तो एक क्लब में गाना गाया करती थीं. तब उन्हें लोग रानू बॉबी के नाम से जानते थे. उन्होंने गाना सिर्फ इसलिए छोड़ दिया था क्योंकि परिवार को रानू का ये काम कतई पसंद नहीं था.

पटल गई किस्मत


फिर एक दिन
वहीं रानू ने कई सालों तक रेलवे स्टेशन के एक कोने में बैठकर गाना गाया और भीख मांगी. एक दिन अतींद्र चक्रवर्ती नाम के एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर की वजह से रानू की किस्मत पलट गई. अतींद्र ने रानू को लता मंगेशकर का गाना 'एक प्यार का नगमा है'. गाते हुए देखा और उनका वीडियो रिकॉर्ड कर सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया था. इसके बाद की कहानी तो सभी को पता है. रानू इसी वीडियो के बाद इंटरनेट सनसनी बन गईं. उनका ये वीडियो रातों-रात ऐसा वायरल हुआ कि आज रानू बॉलीवुड सिंगर के तौर पर पहचान बना चुकी हैं.

बॉलीवुड डेब्यू
अब किस्मत कहें या रानू की प्रतिभा दोनों बातें एक-दूसरे से जुड़ी हुई हैं. रानू ने हिमेश रेशमिया की फिल्म 'हैप्पी हार्डी और संधू' से बॉलीवुड में डेब्यू कर लिया है. उनके बारे में कई सेलेब्रिटीज के साथ-साथ खुद हिमेश भी ये कह चुके हैं कि रानू को सुपरस्टार बनने से अब कोई नहीं रोक सकता है.

ranumandal3
रानू मंडल की बॉलीवुड आने से पहले की जिंदगी काफी संघर्ष से भरी रही.


बनेगी बायोपिक
रानू को मशहूर हुए महज कुछ हफ्ते ही हुए हैं और उन पर बायोपिक बनाने की तैयारी भी की जा रही है. एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक रानू मंडल पर बायोपिक बनने जा रही है और इस फिल्म के प्रोड्यूसर के बारे में भी जानकारी दी गई है. बताया गया है कि इस फिल्म को जाने-माने निर्माता-निर्देशक ऋषिकेश मंडल बना रहे हैं.







अगर कहें कि सोशल मीडिया के जरिए चारों तरफ बस रानू ही रानू छाई हुई हैं तो गलत नहीं होगा. ऐसा हो भी क्यों ना.. कम ही लोगों में होता है ऐसा हैरान कर देने वाला टैलेंट.

बेटी ने किए खुलासे
रानू की निजी जिंदगी की बात करें तो उनकी बेटी एलिजाबेथ साथी रॉय पर ऐसे आरोप लग रहे थे कि उन्होंने गरीबी की हालत में अपनी मां का साथ छोड़ दिया. ऐसे आरोपों पर एलिजाबेथ ने कहा कि रानू के चारों बच्चों में वो अकेली ही थीं, जो समय-समय पर उनकी मदद कर दिया करती थीं. वो खाने से लेकर पैसों तक रानू तक हर तरह की मदद पहुंचाती थीं. एलिजाबेथ ने खुलासा किया कि रानू का वीडियो वायरल करने वाले अतींद्र चक्रवर्ती एक क्लब के मेंबर थे. ये क्लब रानू की देखरेख करता था. वहीं अतींद्र एक अन्य के साथ मिलकर रानू की बेटी को उनसे ना मिलने के लिए धमकाते थे और गुजारिश करने के बाद भी वो उन्हें मां से नहीं मिलने देते थे.

लता मंगेशकर ने दी सलाह


लता मंगेशकर की सलाह
रानू की आवाज अब स्वर कोकिला लता मंगेशकर तक भी पहुंच गई है. एक इंटरव्यू में लता मंगेशकर ने रानू को सलाह दी है. उन्होंने रानू से कहा था कि नकल मत करो बल्कि ऑरिजनल रहो. उनका कहना था, 'अगर मेरे नाम और काम से किसी का भला होता है तो मैं अपने आप को खुशकिस्मत समझती हूं. लेकिन मैं ये भी महसूस करती हूं कि नकल करने से आपको लंबे समय तक सफलता नहीं मिल सकती है'. उन्होंने रानू को नसीहत देते हुए कहा, 'ऑरिजिनल रहो, सभी सिंगर्स के एवरग्रीन गाने गाओ लेकिन कुछ समय बाद गायक को अपना गाना ढूंढना चाहिए'.

ये भी पढ़ें- 

रानू मंडल पर बन रही है बायोपिक? लीक हो गई ये जानकारी
रानू मंडल का 'गाना गाते' ममता और केजरीवाल हुए ट्रोल
रानू मंडल की हुई थी दो शादी, पति ने गाने की वजह से छोड़ा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बॉलीवुड से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 30, 2019, 10:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...