अमृता फडणवीस का ट्वीट देख भड़कीं रेणुका शहाणे, बोलीं- 'कृप्या सुशांत की मौत का राजनीतिकरण न करें'

अमृता फडणवीस का ट्वीट देख भड़कीं रेणुका शहाणे, बोलीं- 'कृप्या सुशांत की मौत का राजनीतिकरण न करें'
रेणुका शहाणे ने अमृता फडणवीस के ट्वीट पर प्रतिक्रिया दी है.

अमृता फडणवीस ने सुशांत सिंह राजपूत के लिए जस्टिस की मांग करते हुए एक ट्वीट किया था. जिस पर अब बॉलीवुड एक्ट्रेस रेणुका शहाणे (Renuka Shahane) ने प्रतिक्रिया दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 4, 2020, 6:03 PM IST
  • Share this:
मुंबईः बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत मामले में मुंबई पुलिस (Mumbai Police) के साथ परिवार द्वारा पटना में शिकायत दर्ज कराने के बाद बिहार पुलिस (Bihar Police) भी जांच कर रही है. मामले की जांच को लेकर बिहार पुलिस टीम के आईपीएस ऑफिसर मुंबई पहुंचे थे, जहां उन्हें क्वारंटीन किया गया है. ऐसे में इस मामले पर नाराजगी जाहिर करते हुए महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) की पत्नी अमृता फडणवीस (Amruta Fadnavis) ने सोमवार को ट्वीट किया था. जिसमें उन्होंने स्वाभिमानी लोगों के लिए मुंबई को असुरक्षित बताया था. अपने ट्वीट में अमृता फडणवीस ने सुशांत सिंह राजपूत के लिए जस्टिस की मांग करते हुए यह ट्वीट किया था. जिस पर अब बॉलीवुड एक्ट्रेस रेणुका शहाणे (Renuka Shahane) ने प्रतिक्रिया दी है.

अमृता फडणवीस के ट्वीट पर पलटवार करते हुए रेणुका शहाणे ने लिखा है- 'ये आप कैसे कह सकती हैं. यह वही मुंबई शहर है, जो लाखों लोगों का घर चलाता है. यह शहर लोगों को सपने देता है और यही नहीं बिना Z सिक्यॉरिटी के भी मुस्कान देता है. मुम्बई पुलिस हमें सुरक्षित करने के लिए लगातार करोना काल मे 24 घंटे काम कर रही है. इइसे राजनीतिक मुद्दा बनाकर इस तरह के ट्वीट न करें. अगर ऐसा कोई मामला आपके पति के कार्यकाल में होता तब भी क्या आप इस तरह की बात कर सवाल खड़े करतीं.'






इसके साथ ही रेणुका शहाणे ने पुलिस और मीडिया को बिना प्रेशर के उनका काम और मामले की जांच करने देने की बात भी कही है. बता दें हाल ही में अमृता फडणवीस ने एक ट्वीट किया था, जिसके बाद से ही वे ट्रोलर्स के निशाने पर हैं. अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा था- '#JusticeforSushantSingRajput जिस हिसाब से सुशांत सिंह राजपूत के मौत के मामले को हैंडल किया गया, मुझे लगता है कि मुंबई ने अपनी इंसानियत खो दी है और अब ये शहर मासूम, स्वाभिमानी लोगों के रहने के लिए सुरक्षित नहीं है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज