'ऑस्कर मिलने के बाद किसी ने मुझे हिंदी फिल्मों में काम नहीं दिया'

'ऑस्कर मिलने के बाद किसी ने मुझे हिंदी फिल्मों में काम नहीं दिया'
हिन्दी सिनेमा में भेदभाव पर हो रहा है विवाद.

रेसुल पुकुट्टी (Resul Pookutty) ने कहा कि फिल्म उद्योग में उनका अनुभव भी कुछ इसी तरह का है और यह क्षेत्रीय सिनेमा ही है, जिसने उनकी कद्र की.

  • Share this:
मुंबई. साउंड डिजाइनर रेसुल पुकुट्टी ने सोमवार को कहा कि "स्लमडॉग मिलियनेयर" के लिए ऑस्कर पुरस्कार मिलने के बाद उन्हें हिंदी फिल्म उद्योग में काम मिलना बंद हो गया. साथ ही, कुछ प्रोडक्शन हाउस ने उन्हें यह कहते हुए मना कर दिया कि उन्हें उनकी बिल्कुल "जरूरत" नहीं है. ऑस्कर विजेता संगीतकार ए आर रहमान ने हाल ही में कहा था कि उनके खिलाफ एक "गिरोह" काम कर रहा है, जिसकी वजह से उन्हें बॉलीवुड में काम मिलने में मुश्किल हो रही है.

पिछले महीने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत होने के बाद बॉलीवुड में शुरू हुई 'अंदरूनी बनाम बाहरी' बहस के बीच उनका यह बयान आया. रहमान के बयान को साझा करते हुए, फिल्म निर्माता शेखर कपूर ने रविवार को ट्वीट किया था कि क्या बॉलीवुड एक कलाकार से असुरक्षित हो सकता है, जिसने अकादमी ऑफ मोशन पिक्चर आर्ट्स एंड साइंसेज (एएमपीएएस) से मान्यता प्राप्त की है.

निर्देशक के पोस्ट के जवाब में, पुकुट्टी ने कहा कि फिल्म उद्योग में उनका अनुभव भी कुछ इसी तरह का है और यह क्षेत्रीय सिनेमा ही है, जिसने उनकी कद्र की. पुकुट्टी ने 2009 में डैनी बॉयल की फिल्म में अपने काम के लिए सर्वश्रेष्ठ साउंड मिक्सिंग के लिए अकादमी पुरस्कार हासिल किया, जबकि रहमान ने सर्वश्रेष्ठ मूल स्कोर और सर्वश्रेष्ठ मूल संगीत के लिए यह पुरस्कार जीता था.



दरअसल पहले एआर रहमान ने एक इंटरव्यू में कहा कि उनके कम काम करने के पीछे की वजह पूछी गई थी. इस पर रहमान ने कहा कि कुछ लोग उनके बारे में फिल्म जगत में ‘अफवाह’ फैला रहे हैं जिससे उनके और फिल्म निर्मातओं के बीच ‘गलतफहमी’ पैदा हो रही है. उन्होंने कहा, ‘‘ मैं अच्छी फिल्मों को मना नहीं करता हूं लेकिन मेरा मानना है कि एक गैंग है जो कुछ अफवाह फैला रहा है और गलतफहमी पैदा हो रही है. इसलिए जब मुकेश छाबड़ा मेरे पास आए तो मैंने उन्हें दो दिन में चार गाने दिए. उन्होंने मुझ से कहा, ‘‘ सर, कई लोगों ने कहा कि उनके पास मत जाओ. उन्होंने मुझे कई किस्से सुनाएं. मैंने सुना और कहा-ठीक है, अब मैं समझा कि मुझे काम कम क्यों मिल रहा है और मेरे पास अच्छी फिल्में क्यों नहीं आ रही हैं....’’
इसी बयान से जुड़ी एक खबर को शेयर करते हुए शेखर कपूर ने लिखा, "रहमान आप जानते हैं कि समस्या क्या है? आपने मेहनत की और ऑस्कर पा लिया. लेकिन बॉलीवुड वालों के लिए ऑस्कर मौत को चूमने जैसा है. यह साबित करता है कि आपके भीतर बॉलीवुड वालों के संभालने से ज्यादा प्रतिभा है."

इसके जवाब में एआर रहमान ने लिखा, "जा चुके पैसे वापस पाए जा सकते हैं. डूब चुका नाम फिर से कमाया जा सकता है. लेकिन जीवन का सबसे अहम समय बर्बाद हो जाने के बाद कभी वापस नहीं पाया जा सकता है. शांति. आगे बढ़ते हैं. हमारे पास करने के लिए और भी ज्यादा महत्वपूर्ण काम हैं."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading