Home /News /entertainment /

पढ़ें: जिन सबूतों ने सजा दिलाई, उन्हीं के आधार पर कैसे बरी हो गए सलमान!

पढ़ें: जिन सबूतों ने सजा दिलाई, उन्हीं के आधार पर कैसे बरी हो गए सलमान!

13 साल पहले हुए इस हादसे के बाद जिन सबूतों को जुटाकर सलमान खान पर आरोप लगा, अब उन्हीं सबूतों के आधार पर बॉम्मे हाईकोर्ट ने उन्हें बरी कर दिया।

13 साल पहले हुए इस हादसे के बाद जिन सबूतों को जुटाकर सलमान खान पर आरोप लगा, अब उन्हीं सबूतों के आधार पर बॉम्मे हाईकोर्ट ने उन्हें बरी कर दिया।

13 साल पहले हुए इस हादसे के बाद जिन सबूतों को जुटाकर सलमान खान पर आरोप लगा, अब उन्हीं सबूतों के आधार पर बॉम्मे हाईकोर्ट ने उन्हें बरी कर दिया।

    मुंबई। सलमान खान पर आए फैसले ने जहां उनके प्रशंसकों को खुश कर दिया, वहीं कानूनविद इस फैसले से हैरान हैं। दरअसल 13 साल पहले हुए इस हादसे के बाद जिन सबूतों को जुटाकर सलमान खान पर आरोप लगा, अब उन्हीं सबूतों के आधार पर बॉम्मे हाईकोर्ट ने उन्हें बरी कर दिया। हम ऐसे चार सबूतों के बारे में बताते हैं जो इस फैसले में निर्णायक साबित हुए।

    • सेशन कोर्ट ने सलमान खान के बॉडीगार्ड रविंद्र पाटिल की गवाही को अहम माना। पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने रविंद्र की गवाही को ज्यादा तवज्जो नहीं दिया।

    • सेशन कोर्ट ने होटल के बिल और होटल के कर्मचारियों की गवाही को देखते हुए माना था कि सलमान शराब पी रहे थे। वहीं बॉम्बे हाईकोर्ट का मानना है कि बिल से साबित नहीं हो सकता कि कोई इंसान शराब पी रहा था। किसी गवाह ने साफ नहीं कहा है कि सलमान शराब पी रहे थे।

    • सेशन कोर्ट ने माना था कि पीड़ित की मौत कार के नीचे कुचलने की वजह से हुई थी। पर बॉम्बे हाईकोर्ट का मानना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से यह साबित नहीं होता है कि पीड़ित की मौत कार के कुचलने से हुई है या फिर कार को उठाते समय क्रेन के गिरने से।

    • सेशन कोर्ट ने सरकारी अस्पताल की ब्लड रिपोर्ट से माना कि सलमान काफी ज्यादा शराब पीए हुए थे। पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने पूरी रिपोर्ट पर ही सवाल खड़े किए और कहा कि सैंपल पर नाम साफ तरीके से नहीं लिखे हुए थे।

    Tags: Bombay high court, Salman khan

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर