संजय दत्त ने दोबारा राजनीति में आने को लेकर दिया बड़ा बयान, इस नेता को बताया- अच्छा दोस्त

News18Hindi
Updated: August 26, 2019, 6:18 PM IST
संजय दत्त ने दोबारा राजनीति में आने को लेकर दिया बड़ा बयान, इस नेता को बताया- अच्छा दोस्त
संजय दत्त ने महाराष्ट्र के मंत्री महादेव जानकार को अपना भाई और दोस्‍त बताया.

संजय दत्त (Sanjay Dutt) को लेकर राष्ट्रीय समाज पक्ष (RSP) प्रमुख महादेव जानकार ने कहा था कि वे आगामी महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में उतरने वाले हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 26, 2019, 6:18 PM IST
  • Share this:
फिल्म अभिनेता संजय दत्त (Sanjay Dutt) ने दोबारा राजनी‌ति में कूदने को लेकर चुप्पी तोड़ दी है. उनको लेकर महाराष्ट्र के मंत्री महादेव जानकार ने एक बयान जारी कर मुंबई में हलचल बढ़ा दी थी. जानकार ने कहा कि संजय आगामी 25 सितंबर को राष्ट्रीय समाज पक्ष (RSP) ज्वाइन करने वाले हैं. इसके बाद संजय दत्त ने उनकी बात को पूरी तरह से नकार दिया है.

जानकार मेरे भाई हैं, लेकिन राजनीति में नहीं आ रहाः संजय दत्त
संजय दत्त ने खुद के राजनीति में आने को लेकर उड़ खबरों पर स्पष्टता से कहा कि वे फिलहाल राजनीति में नहीं उतर रहे हैं. सामाचार एजेंसी एएनआई के ट्वीट के अनुसार, 'मैं कोई पार्टी ज्वाइन नहीं करूंगा. जानकार (महाराष्ट्र के मंत्री व आरएसपी प्रमुख महादेव जानकार) मेरे बहुत अच्छे दोस्त और भाई हैं. मैं तह-ए-दिल से उनके उज्जवल भविष्य की कामना करता हूं.'

यह भी पढ़ेंः सिंधु के गोल्ड मेडल जीतने पर बॉलीवुड ने कुछ यूं दी बधाई

संजय दत्त के इस बयान के बाद उनके आगामी महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों को लेकर लगाए जा रहे कयासों पर विराम लग गया है. असल में संजय दत्त की आगामी फिल्म 'प्रस्‍थानम' में वे एक राजनेता के किरदार में हैं. ऐसे में कई तरह की चर्चाएं लगने लगी थीं. लोगों का कहना था कि शायद फिल्म के बाद संजय असल राजनी‌ति में भी हाथ आजमाने के मूड में हैं. लेकिन फिलहाल उन्होंने ऐसी संभावनाओं को गलत बता दिया है.

राजनीति से है संजय दत्त का पुराना नाता, सजा के चलते राजनीति से हुए थे अलग
संजय दत्त के पिता सुनील दत्त और बहन प्रिया दत्त कांग्रेस से जुड़े रहे हैं और सक्रिय राजनीत‌ि करते रहे हैं. पिता के जाने के बाद खुद संजय सक्रिय राजनीति में आ गए थे. लेकिन उनके ऊपर चल रहे आपराधिक मामलों के चलते उन्हें राजनीति छोड़नी पड़ी थी. लेकिन अब संजय दत्त 1992 मुंबई बम धमाके से जुड़े मामले में एके-47 रखने के जुर्म में अपनी सजा पूरी कर चुके हैं. अब राजनीति में उनके कोई कानूनी रोड़ा नहीं है.
Loading...




संजय दत्त 2009 में समाजवादी पार्टी (सपा) के टिकट पर लखनऊ लोकसभा चुनावी मैदान में उतरे थे, लेकिन अदालत द्वारा शस्त्र अधिनियम के तहत उनकी सजा को निलंबित करने से इनकार करने के बाद वह पीछे हट गए थे. संजय दत्त सपा के महासचिव भी रह चुके हैं. पिछले लोकसभा चुनाव में संजय दत्त अपनी बहन और कांग्रेस प्रत्याशी प्रिया दत्त के लिए मुंबई में प्रचार करते नजर आए थे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बॉलीवुड से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 26, 2019, 6:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...