होम /न्यूज /मनोरंजन /

जब संजय दत्त ने कहा था 'मेरा खून पीकर मर जाते थे मच्छर', सुनाया था खौफनाक दिनों का मजेदार किस्सा

जब संजय दत्त ने कहा था 'मेरा खून पीकर मर जाते थे मच्छर', सुनाया था खौफनाक दिनों का मजेदार किस्सा

संजय दत्त बुरी तरह नशे के आदी थे. (Photo Credits:duttsanjay/Instagram)

संजय दत्त बुरी तरह नशे के आदी थे. (Photo Credits:duttsanjay/Instagram)

संजय दत्त (Sanjay Dutt) की लाइफ में किसी फिल्म की कहानी से कम उतार-चढ़ाव नहीं रहे हैं. शायद यही वजह है कि राजू हिरानी (Raju Hirani) ने उनकी लाइफ पर फिल्म बनाने का फैसला किया.

    मुंबई: बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार सुनील दत्त (Sunil Dutt) और नरगिस दत्त (Nargis Dutt) के बेटे संजय दत्त (Sanjay Dutt) ने अपनी लाइफ में काफी मुश्किल भरा वक्त देखा है. सब जानते हैं कि संजय 1993 में मुबंई ब्लास्ट केस की वजह से जेल में रहे थे. लंबी सजा काटने के बाद संजय एक रिएलिटी शो में हिस्सा लेने पहुंचे थे. इस मौके पर संजय ने अपनी जेल लाइफ के बारे में खुलकर अनुभव शेयर.  बिना किसी लाग लपेट के जेल के दिनों में बिताए गए समय के अलावा अपने नशे की लत के बारे में भी एक मजेदार किस्सा सुनाया.

    संजय दत्त बुरी तरह ड्रग्स के आदी हो गए थे. लंबे समय तक नशे के आदी रहे संजय ने खुद बताया था कि ऐसा कोई ड्रग्स नहीं था जिसे न लिया हो. मच्छर मेरा खून पीते और मर जाते थे. शायद मेरे खून में ड्रग्स के ओवरडोज की वजह से ऐसा था. एक रिएलिटी शो पर पहुंचे संजय ने अपने नशे का जिक्र करते हुए खुलासा किया कि ‘मैं लेटे-लेट देखता था कि मच्छर मेरे पास आया..मैं उसे देखता था.. मुझे काटता और मेरा खून पीते ही नीचे गिर गया..पंख हिलाता था लेकिन उड़ नहीं पाता था और उल्टा होकर मर जाता था. मतलब मेरे खून में कितना ड्रग्स होगा कि मच्छर उड़ ही नहीं पा रहा था, मतलब इतने नशे में हो जाता, मुझे यह सोच कर कई बार हंसी भी आती है कि मच्छर सोचता खून पियूंगा और खून पीते ही मर जाता’. संजय की इस साफगोई पर शो में बैठे सभी लोग हंसने लगे’.



    संजय ने आगे बताया कि ‘जो नशा काम में और अपने परिवार के साथ है वह कहीं नहीं है, इसलिए मैं सभी यंग लोगों से कहना चाहता हूं कि नशे से दूर रहें’. संजय ने शो में बात करते हुए बताया कि ‘होप यानी उम्मीद करना ही बंद कर दो, यह बहुत मुश्किल चीज है..मैने जेल में सीखा. जेल में मुझे किसी ने कहा कि.. होप कि मुझे बेल मिल जाए..होप कि ये हो जाए.., ये होप करना तू बंद कर देगा न तो जेल में तेरा समय यूं निकल जाएगा’.

    यह भी पढ़िए-यादों में: राजेश खन्ना ने अमिताभ बच्चन की 'नमक हराम' देख कर क्यों कहा था- अब जमाना बाबू मोशाय का है

    जेल में बिताए मुश्किल दिनों में संजय को कई सारी सीख भी मिली जो शायद आज उनकी खुशहाल जिंदगी में नजर आती है.

    Tags: Bollywood drugs, Nargis, Sanjay dutt, Sunil dutt

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर