Home /News /entertainment /

sanjay dutt wants to bring heroizm back in bollywood

संजय दत्त बॉलीवुड में वापस लाना चाहते हैं 'हीरोगिरी', कुछ ऐसी ही एक्टर की प्लानिंग

संजय दत्त फिलहाल केजीएफ: चैप्टर 2 को दर्शकों के मिले शानदार रिस्पॉन्स से गदगद हैं. (फाइल फोटो)

संजय दत्त फिलहाल केजीएफ: चैप्टर 2 को दर्शकों के मिले शानदार रिस्पॉन्स से गदगद हैं. (फाइल फोटो)

संजय दत्त (Sanjay Dutt) ने अब फिल्म की सफलता पर बात करते हुए कहा है कि नंबर उनके लिए अब मायने नहीं रखता है. उन्होंने कहा, 'पिछला दो साल हमलोगों के लिए बुरा रहा था. इसलिए हम सभी अच्छी कमाई से खुश है. लेकिन मैं नंबर के बारे में अधिक नहीं सोचता. मुझे लगता है कि बॉक्स ऑफिस कलेक्शन प्रोड्यूसर्स के लिए होते हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली: संजय दत्त (Sanjay Dutt) फिलहाल केजीएफ: चैप्टर 2 (KGF: Chapter 2) को दर्शकों के मिले शानदार रिस्पॉन्स से गदगद हैं. उन्होंने इस फिल्म में मुख्य विलेन अधीरा की भूमिका निभाई है. लंबे इंतजार के बाद आखिरकार यह फिल्म सिनेमाघरों में रिलीज हुई और देश के हर कोने से फिल्म को जबरदस्त रिस्पॉन्स मिल रहा है. इस फिल्म को प्रशांत नील ने डायरेक्ट किया है और फिल्म वर्ल्ड वाइड 550 करोड़ से अधिक की कमाई कर चुकी है. वहीं, यह फिल्म हिंदी क्षेत्रों में भी सुपरहिट साबित हुई है. फिल्म अब तक 193.3 करोड़ की कमाई कर रही है.

संजय दत्त ने अब फिल्म की सफलता पर बात करते हुए कहा है कि नंबर उनके लिए अब मायने नहीं रखता है. उन्होंने कहा, ‘पिछला दो साल हमलोगों के लिए बुरा रहा था. इसलिए हम सभी अच्छी कमाई से खुश है. लेकिन मैं नंबर के बारे में अधिक नहीं सोचता. मुझे लगता है कि बॉक्स ऑफिस कलेक्शन प्रोड्यूसर्स के लिए होते हैं. एक एक्टर के लिए ये मायने रखता है कि उसके काम को सराहना मिले. जब दर्शकों को मेरा काम पसंद आता है तो मुझे सबसे अधिक खुशी होती है.

प्रोडक्शन कंपनी वापस लाएगी ‘माचो हीरो’
आपको बता दें कि कुछ महीनों पहले संजय दत्त ने अपनी नई प्रोडक्शन कंपनी थ्री डायमेंशन मोशन पिक्चर्स लॉन्च की है. इसके साथ वो बॉलीवुड में हीरोइज्म को वापस लाना चाहते हैं. उन्होंने कहा, ‘आइडिया ये है कि मास एंटरटेनिंग फिल्में बनें और माचो हीरो को वापस लाया जाए.’ संजय दत्त ने कहा फिल्मों को प्रोड्यूस करने का मकसद है कि अभी हिंदी फिल्म इंडस्ट्री लार्जर देन लाइफ हीरो को मिस कर रही है. मैं पिछले 5 दशक से ऐसी एक्शन फिल्में और कंटेम्पररी फिल्में कर चुका हूं. हमने शुरुआत हीरोइज्म रोल से की थी लेकिन हमने ऐसी फिल्में बनानी बंद कर दी. मैं उसे वापस लाना चाहता हूं.’

साउथ की फिल्मों में है हिरोइज्म
संजय दत्त ने उदाहरण देते हुई पुष्पा: द राइज, केजीएफ: चैप्टर 2 और आरआरआर जैसी फिल्मों का नाम लिया जिन्हें जबरदस्त सफलता मिली है. ये सभी फिल्मों में हीरोगिरी जमकर दिखाई गई है और साउथ सिनेमा ये लगातार कर रहा है.’

वापस आनी चाहिए ऐसी फिल्में
संजय दत्त ने आगे कहा, ‘अब हम ये भूल गए हैं. मै खुद इस जेनर की वजह से हीरो बना था. लोग पसंद करते हैं ऐसी फिल्में और मुझे लगता है कि ये वापस आना चाहिए.’ बहरहाल दर्शक भी इन दिनों लार्जर देन लाइफ हीरो वाली फिल्में पसंद कर रहे हैं. ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि संजय दत्त के प्रोडक्शन हाउस कैसी फिल्में बनाती हैं.

Tags: Bollywood actors, Sanjay dutt

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर