होम /न्यूज /मनोरंजन /संजय लीला भंसाली को 4 साल की उम्र से ही थी डायरेक्टर बनने की इच्छा, पढ़ें एक रोचक किस्सा

संजय लीला भंसाली को 4 साल की उम्र से ही थी डायरेक्टर बनने की इच्छा, पढ़ें एक रोचक किस्सा

संजय लीला भंसाली (Sanjay Leela Bhansali) को हमेशा भारतीय सिनेमा में उनके योगदान के लिए सराहा जाता है. (फोटो साभारः Instagram @sanjayleela_bhansali)

संजय लीला भंसाली (Sanjay Leela Bhansali) को हमेशा भारतीय सिनेमा में उनके योगदान के लिए सराहा जाता है. (फोटो साभारः Instagram @sanjayleela_bhansali)

संजय लीला भंसाली (Sanjay Leela Bhansali) ने अपनी असाधारण कहानियों से अपने फैंस का दिल जितते आ रहे हैं. हिंदी फिल्म इंडस ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    मुंबई: बॉलीवुड के जाने माने डायरेक्टर संजय लीला भंसाली (Sanjay Leela Bhansali) ने अपनी असाधारण कहानियों से अपने फैंस का दिल जितते आ रहे हैं. अपने फिल्म निर्माण के हर पहलू को परिपूर्ण करने वाले निर्देशक ने अपने सिनेमा से वैश्विक दर्शकों को भी प्रभावित किया है. उनकी पहली फिल्म ‘खामोशी: द म्यूजिकल’ (Khamoshi: The Musical) से लेकर उनकी आखिरी फिल्म ‘पद्मावत’ (Padmaavat) तक निर्देशक ने हर कहानी के साथ कुछ नया और शानदार दिया है.

    हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में 25 साल पूरे करने वाले निर्देशक संजय लीला भंसाली (Sanjay Leela Bhansali) को हमेशा भारतीय सिनेमा में उनके योगदान के लिए सराहा जाता है. हाल ही के एक इंटरव्यू में संजय लीला भंसाली ने निर्देशक बनने के पीछे की कहानी बताई. पहली बार एक शूट देखने के बारे में अपने बचपन की यादों में वापस जाते हुए, निर्देशक ने कहा, “मुझे याद है जब मैं 4 साल का बच्चा था और मेरे पिता मुझे एक शूटिंग पर ले गए थे, देखने के लिए. पापा अपने दोस्तों से मिलने गए थे, और उन्होंने कहा कि तुम यहाँ बैठो मैं बस अपने दोस्तों से मिलकर आता हूँ और मैं स्टूडियो में बैठा था. मैंने सोचा कि यह वह जगह है जो मुझे सबसे आरामदायक लगती है, एक स्कूल से ज्यादा, खेल के मैदान से ज्यादा, या चचेरे भाई के घर से ज्यादा.’

    उन्होंने आगे कहा, ‘मुझे लगा कि यह पूरी दुनिया में सबसे खूबसूरत जगह है. वास्तव में मुझे वो शाम अभी तक याद है जब मेरे पिता ने मुझसे कहा था, यहां बैठो और हिलो मत, और कहीं मत जाओ. आज जब मैं पीछे मुड़कर देखता हूं तो मानता हूं कि मैं यहां 25 साल से हूं जहां मेरे पिता ने कहा था यही बैठे रहो कहीं मत जाओ. पूरी जिंदगी मैं यहां रहने का सपना देखता रहा हूं और मुझे खुशी है कि मैं यहां हूं और मुझे जो करना है वह कर रहा हूं.’

    डायरेक्टर संजय लीला भंसाली के दो मोस्ट अवेटेड प्रोजेक्ट रिलीज़ होने हैं, जिनमें आलिया भट्ट स्टारर ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ (Gangubai Kathiawadi) और नेटफ्लिक्स के लिए ‘हीरामंडी’ (Heeramandi) शामिल है. इस भव्य परियोजनाओं के बारे में बात करते हुए संजय लीला भंसाली ने कहा, “हीरामंडी एक ऐसी चीज थी जो मेरे दोस्त मोइनबेग ने मुझे 14 साल पहले बताई थी. अंत में जब हमने इसे नेटफ्लिक्स के सामने प्रस्तुत किया तो उन्हें यह पसंद आया. यह एक मेगा सीरीज है. यह बहुत महत्वाकांक्षी है. यह बहुत बड़ा है. इसमें आजादी से पहले के दरबारियों की कहानी है.”

    Tags: Sanjay leela bhansali

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें