vidhan sabha election 2017

बिकिनी पहनने वाली पहली भारतीय एक्ट्रेस

News18Hindi
Updated: December 8, 2017, 12:32 PM IST
बिकिनी पहनने वाली पहली भारतीय एक्ट्रेस
शर्मिला टैगोर
News18Hindi
Updated: December 8, 2017, 12:32 PM IST
इस पीढ़ी के ज्यादातर लोग शर्मिला टैगौर को सिर्फ सैफ अली खान की मम्मी के तौर पर जानते होंगे, लेकिन वो अपने जमाने की सबसे बोल्ड अभिनेत्री भी थीं. जब उन्होंने पहली बार बिकिनी पोज दिया तो लोगों के होश उड़ गए थे. उनके बारे में ऐसी कई बातें हैं, जिसे जानना चाहिए. आज (8 दिसंबर) उनके जन्मदिन पर एक नजर ऐसी ही कुछ खास बातों पर-

डांसर बनना चाहती थीं
शर्मिला टैगोर ने सत्यजीत रे की बंगाली फिल्म के साथ एक्टिंग की दुनिया में डेब्यू किया था. ये फिल्म थी सन् 1959 में आई 'अपूर संसार'. हालांकि शर्मिला हमेशा से सिर्फ डांसर बनना चाहती थीं, एक्टिंग में उनका आना इत्तफाक से हुआ.

इसके बाद 1964 में उनकी पहली बॉलीवुड फिल्म 'कश्मीर की कली' आई. शक्ति सामंत के साथ इस फिल्म से हुई उनकी शुरुआत काफी आगे तक चली.

बिकिनी ने बदल दी इमेज
1967 में शक्ति सामंत की ही फिल्म 'एन इवनिंग इन पेरिस' में जब उन्होंने बिकिनी पहनी, तो उनकी इमेज सेक्स सिंबल के तौर पर सामने आई. कहा जाता है कि ऐसा करने वाली वो पहली भारतीय एक्ट्रेस थीं.

खास बात ये थी कि कई बेहतरीन फिल्में करने के बाद वो एक्टिंग को अलविदा कह देना चाहती थीं. कई इंटरव्यू में शर्मिला ने कहा कि हर फिल्म के बाद वो यही सोचती थीं कि ये उनकी आखिरी फिल्म होगी, इसके बाद वो कोई और फिल्म साइन नहीं करेंगी.

sharmila bikini
उस जमाने में ये एक बहुत बोल्ड स्टेप था.


16 साल बाद मिला नेशनल अवॉर्ड
करियर शुरू करने के 16 साल बाद फिल्म 'मौसम' के लिए उन्हें नेशनल अवॉर्ड मिला था. इस फिल्म को गुलजार ने डायरेक्ट किया था. हिंदी के अलावा शर्मिला ने बंगाली, मलयालम, मराठी और अंग्रेजी फिल्मों में भी काम किया है.

रवींद्रनाथ टैगोर से कनेक्शन
शर्मिला के नाम से जुड़ा सरनेम टैगोर उन्हें महान लेखक रवींद्रनाथ टैगोर से जोड़ता है. शर्मिला के पिता रवींद्रनाथ टैगोर के पोते के पोते थे. भारतीय सिनेमा में अहम योगदान देने के अलावा वह सन् 2004 से 2011 तक सेंसर बोर्ड की अध्यक्ष भी रह चुकी हैं. 2013 में उन्हें पद्म भूषण से भी नवाजा गया था.

शर्मिला टैगोर
शर्मिला टैगोर


गुलाब में लिपटे खत
सन् 1965 में शर्मिला टैगोर की मुलाकात हुई नवाब पटौदी से. चार साल तक दोनों रिलेशनशिप में रहे, लेकिन शर्मिला ने ये बात कुबूल नहीं की. बताया जाता है कि पटौदी चार साल तक हर रोज उन्हें गुलाब और खत भेजते थे.

आखिर में जब शर्मिला मान गईं, तब दोनों के परिवार की तरफ से इस रिश्ते को नकार दिया गया. दोनों के बहुत मनाने के बाद परिवार के लोग राजी हुई. फिर उनकी शादी हुई.

नवाब पटौदी से शादी करने के बाद उन्होंने अपना नाम बदलकर बेगम आयशा सुल्ताना रख लिया था. हालांकि उनके परिवार के लोग और दोस्त आज भी उन्हें शर्मिला नाम से ही पुकारते हैं.

ये भी पढ़ें
इन 10 फिल्मों से यादों में बसे रहेंगे शशि कपूर
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर