पति के खराब परफॉर्मेंस पर अनुष्का शर्मा से पहले शर्मिला टैगोर को बनाया गया था निशाना

क्रिकेटर मंसूर अली खान पटौदी ने शर्मिला टैगोर से 1968 में शादी की थी. (File Photo)

क्रिकेटर मंसूर अली खान पटौदी ने शर्मिला टैगोर से 1968 में शादी की थी. (File Photo)

अनुष्का शर्मा-विराट कोहली (Anushka Sharma-Virat Kohli) से पहले हरभजन सिंह-गीता बसरा, अजहरुद्दीन-संगीता बिजलानी और मंसूर अली खान पटौदी- शर्मिला टैगोर (Mansoor Ali Khan Pataudi-Sharmila Tagore) की जोड़ी की दोनों क्षेत्रों में जमकर चर्चा होती थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 10:31 PM IST
  • Share this:
मुंबई. बॉलीवुड और क्रिकेट में लंबे समय से गहरा संबंध रहा है. वर्तमान में अनुष्का शर्मा-विराट कोहली (Anushka Sharma-Virat Kohli) इसके सबसे बेस्ट उदाहरण हैं. उनसे पहले भी लगभग हर दशक में यह संबंध बना रहा है. अनुष्का और विराट से पहले हरभजन सिंह-गीता बसरा, अजहरुद्दीन-संगीता बिजलानी और मंसूर अली खान पटौदी- शर्मिला टैगोर (Mansoor Ali Khan Pataudi-Sharmila Tagore) की जोड़ी की दोनों क्षेत्रों में जमकर चर्चा होती थी.

दोनों पूरी तरह से एक दूसरे से अलग क्षेत्र हैं और इनमें संतुलना बनान किसी के लिए भी चुनौती हो सकती है. आपको बता दें कि कई बार विराट कोहली के आउट होने या खराब फॉर्म के लिए अनुष्का शर्मा पर अंगुली उठाई जा चुकी है, लेकिन ऐसा पहली बार नहीं किया गया है. अनुष्का से पहले क्रिकेट के फैंस दिग्गज एक्ट्रेस शर्मिला टैगोर के साथ भी ऐसा कर चुके हैं. उन्होंने खुद इस बात को सार्वजनिक किया था.

क्रिकेटर मंसूर अली खान पटौदी ने शर्मिला टैगोर से 1968 में शादी की थी. उस समय शर्मिला बॉलीवुड की पॉपुलर एक्ट्रेस थीं तो पटौदी के भी फैंस कम नहीं थे. शर्मिला ने खुद बताया था कि पति के खराब खेल के लिए उन्हें भी दोषी ठहराया जा चुका है. Ladies Study Group के लाइव सेशन में शर्मिला ने हाल ही में इस बारे में जानकारी दी थी. उन्होंने कहा था, शायद टाइगर ने कोई कैच छोड़ दिया था और मेरे पिता चिल्लाए, ‘तुमको उसे रातभर नहीं जगाए रखना चाहिए था.'

शर्मिला ने इसमें यह भी बताया था कि वे टाइगर से कैसे मिलीं और वे किस तरह से ब्रिटिश ऐक्सेंट में बात करते थे. उन्होंने उनके सेंस ऑफ ह्यूमर की बात भी शेयर की थी और बताया था कि वे अपने ही जोक्स पर हंसते थे. शर्मिला ने एक और खास बात बताई थी. एक बार मंसूर ने उनके लिए बहुत अच्छी कविता लिखी थी, लेकिन शर्मिला ने जब इसे फिरोज खान को दिखाया तो पता चला कि वह गालिब की लिखी लाइनें हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज