लाइव टीवी

शशि कपूर की बेटी संजना कपूर ने फ्रांस में इंडिया का नाम किया ऊंचा, मिला ये बड़ा सम्मान

भाषा
Updated: January 29, 2020, 7:18 PM IST
शशि कपूर की बेटी संजना कपूर ने फ्रांस में इंडिया का नाम किया ऊंचा, मिला ये बड़ा सम्मान
शशि कपूर की बेटी संजना कपूर के साथ रणबीर कपूर.

अभिनेता शशि कपूर (Shashi Kapoor) और ब्रिटिश अभिनेत्री जेनिफर केंडल की बेटी संजना कपूर (Sanjana Kapoor) ‘हीरो हीरालाल’ (1989) में मुख्य अभिनेत्री थीं और मीरा नायर की ‘सलाम बांबे’ (1988) में भी नजर आई थीं.

  • Share this:
नई दिल्ली. रंगकर्मी संजना कपूर (Sanjana Kapoor) को थिएटर के क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए मंगलवार को फ्रांसीसी सम्मान ‘शेवलियर दांस आईऑर्दर दे आर्त्स एत दे लेतर्स’ (नाइट ऑफ दी ऑर्डर ऑफ आर्ट्स एंड लेटर्स) से सम्मानित किया गया. कपूर वर्तमान में मुंबई स्थित थिएटर कंपनी ‘जुनून’ का संचालन करती हैं. उन्हें फ्रांस के संस्कृति मंत्री फ्रैंक रीस्तर ने सम्मानित किया जो फिलहाल भारत की आधिकारिक यात्रा पर थे.

मंत्री ने कहा, ‘‘आपकी उत्कृष्ट कलात्मक यात्रा को फ्रांस की मान्यता प्रदान करते हुए बेहद खुशी हो रही है. थिएटर के प्रति जुनून रखने वाली महिला होने के नाते आपने कलात्मक प्रस्तुतियों को अधिक से अधिक संख्या में लोगों तक पहुंचाने के लिए खुद को पूरी तरह से समर्पित कर दिया.’’

मंत्री ने कहा, ‘‘चाहे आप मंच पर हों या कैमरे के पीछे या फिर अपने संगठन का संचालन कर रही हों, आपने समाज में कला को सर्वोच्च स्थान दिलाने के लिए उसी समर्पण और जोश से काम किया.’’

हिंदी फिल्म अभिनेता शशि कपूर  (Shashi Kapoor)  और ब्रिटिश अभिनेत्री जेनिफर केंडल की बेटी संजना कपूर (52) ने अपर्णा सेन की ‘36 चौरंगी लेन’ (1981) से अपने अभिनय कॅरियर की शुरुआत की थी.

यह भी पढ़ेंः घर में आते ही विकास ने खोली पोल तो भड़के आसिम के भाई, कहा- 'अपने पर ध्यान दें'

वह ‘हीरो हीरालाल’ (1989) में मुख्य अभिनेत्री थीं और मीरा नायर की ‘सलाम बांबे’ (1988) में भी नजर आई थीं. लेकिन आखिरकार उन्होंने खुद को पूरी तरह से रंगमंच के लिए समर्पित करने का फैसला किया. उन्होंने कई नाटकों में अभिनय किया और मुंबई के पृथ्वी थिएटर को फिर से जिंदा करने में काम किया जिसकी स्थापना उनके माता पिता ने की थी.

यह भी पढ़ेंः Bigg Boss 13: इस हफ्ते घर से बाहर होंगे 2 कंटेस्टेंट! इस तारीख को होगा फिनाले2012 में उन्होंने ‘जुनून’ की स्थापना की. यह संगठन रंगमंच के प्रसार और नयी नयी पहलों के माध्यम से कला को व्यापक दर्शकों तक पहुंचाने की दिशा में काम करता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बॉलीवुड से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 29, 2020, 7:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर