शेखर कपूर-अपूर्व असरानी ने दिया आर बाल्की को जवाब, बोले- 'आलिया-रणबीर ही नहीं हैं बेस्ट एक्टर्स'

शेखर कपूर-अपूर्व असरानी ने दिया आर बाल्की को जवाब, बोले- 'आलिया-रणबीर ही नहीं हैं बेस्ट एक्टर्स'
शेखर कपूर और अपूर्व असरानी ने ट्वीट कर आर बाल्की को जवाब दिया.

आर बाल्की (R Balki) को जवाब देते हुए शेखर कपूर (Shekhar Kapur) और अपूर्व असरानी (Apurva Asrani) ने पलटवार किया.

  • Share this:
मुंबई. एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के निधन के बाद से बॉलीवुड में छिड़ी नेपोटिज्म (Nepotism) पर बहस अब भी जारी है. सोशल मीडिया (Social Media) पर शुरू हुई इस बहस के बाद लोगों ने स्टार किड्स को निशाना बनाना शुरू कर दिया और इंसाइडर्स वर्सेज आउटसाइडर्स की डिबेट तेज हो गई. इस मुद्दे पर कुछ बॉलीवुड और टीवी सेलेब्स ने स्वीकार किया कि  बॉलीवुड में नेपोटिज्म हावी है, वहीं कुछ ऐसे भी हैं जो इसका विरोध कर रहे हैं. हाल ही में फिल्ममेकर आर बाल्की (Filmmaker R Balki) ने अपनी राय रखते हुए स्टार किड्स का बचाव किया, जिसके बाद दिग्गज फिल्मकार शेखर कपूर (Shekhar Kapur) और पटकथा लेखक तथा फिल्म एडिटर अपूर्व असरानी (Apurva Asrani) ने उन्हें करारा जवाब दिया है.

दरअसल, फिल्ममेकर आर बाल्की (R Balki) ने कहा था, 'सवाल ये है कि क्या स्टार किड्स के पास एक बड़ा और भेदभाव भरा एडवांटेज है? हां, वहां फायदे-नुकसान दोनों हैं. लेकिन मैं एक बहुत साधारण सा सवाल पूछता हूं. मुझे रणबीर कपूर और आलिया भट्ट से कोई बेहतर कलाकार ढूंढ कर दिखाइए, और फिर हम बहस करेंगे'. आर बाल्की को जवाब देते हुए शेखर कपूर (Shekhar Kapur)  और अपूर्व असरानी (Apurva Asrani ने पलटवार किया.
शेखर कपूर ने ट्वीट करते हुए कहा- ‘आपका बहुत सम्मान करता हूं बाल्की, लेकिन एक बार फिर कल रात मैंने 'काय पो छे' देखी. उस समय तीन बिल्कुल युवा कलाकार थे और हर किसी ने शानदार अभिनय किया.’पटकथा लेखक और फिल्म एडिटर अपूर्व असरानी ने भी आर बाल्की के नेपोटिज्म पर उनकी प्रतिक्रिया पर अपनी राय दी. अपूर्व ने ट्वीट किया, ‘मनोज बाजपेयी, राजकुमार राव, विक्की कौशल, आयुष्मान, कंगना रनौत, प्रियंका चोपड़ा, तापसी पन्नू, विद्या बालन, ऋचा चड्ढा, कई अन्य लोग भी... अगर हम ए लिस्ट फिल्म परिवारों से परे देखे तो बेहतरीन कालकार हैं. मुझे रणबीर और आलिया पसंद हैं, लेकिन सिर्फ वे ही अच्छे कलाकार नहीं हैं.’उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा- ‘कुछ फिल्ममेकर्स और पत्रकारों को स्टार्स से इतना लगाव है कि वो बस मशहूर नामों के इर्द गिर्द ही सोच पाते हैं. टैलेंटेड कलाकारों को ऐसे इस्तेमाल किया जाता है जैसे खाने के ऊपर गार्निशिंग की जाती है. ताकि जो औसत दर्जे के कलाकार हैं उन्हें बेहतर दिखाया जा सके लेकिन वो कभी भी खुद उन औसत दर्जे के कलाकारों से बढ़कर न दिख पाएं.’

ये भी पढ़ें- नेपोटिज्म पर बोले आर बाल्की- मुझे आलिया-रणबीर से बेहतर एक्टर बताएं, हम...



असरानी ने फिर कुछ नाम दिए. अपने तीसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा- ‘पंकज त्रिपाठी, गजराज राव, अमित साध, जयदीप अहलावत, रसिका दुग्गल, स्वरा भास्कर, श्वेता त्रिपाठी, संजय मिश्रा, नीना गुप्ता, दिव्या दत्ता, मानव कौल, नवाजुद्दीन, जीतू... हे भगवान, हमारे पास जो प्रतिभाएं हैं, मैं उनके नाम गिनाना जारी रख सकता हूं. अब 3-4 नामों पर ही शोर मचाना बंद करो.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज