SG तुषार मेहता ने स्वरा भास्कर के खिलाफ अवमानना कार्यवाही के लिए सहमति देने से किया इनकार

SG तुषार मेहता ने स्वरा भास्कर के खिलाफ अवमानना कार्यवाही के लिए सहमति देने से किया इनकार
सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने बुधवार को बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर के खिलाफ आपराधिक अवमानना की प्रक्रिया शुरू करने की मांग करने वाली याचिका पर सहमति देने से इनकार कर दिया.

सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता (Tushar Mehta) ने बुधवार को बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर (Swara Bhasker) के खिलाफ आपराधिक अवमानना की प्रक्रिया शुरू करने की मांग करने वाली याचिका पर सहमति देने से इनकार कर दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 27, 2020, 1:14 AM IST
  • Share this:
मुंबई. सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता (Tushar Mehta) ने बुधवार को बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर (Swara Bhasker) के खिलाफ आपराधिक अवमानना की प्रक्रिया शुरू करने की मांग करने वाली याचिका पर सहमति देने से इनकार कर दिया. स्वरा ने अयोध्या (Ayodhya) में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले के खिलाफ कथित तौर पर अपमानजनक और निंदनीय बयान दिए थे, जिसके बाद उन पर अवमानना की कार्यवाही करने की मांग की गई थी.

अटॉर्नी जनरल ने भी सहमति देने से किया था मना
सॉलिसिटर जनरल से पहले अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल भी इसकी सहमति देने से इनकार कर चुके हैं. वेणुगोपाल ने कहा था, ''ये ट्वीट सुप्रीम कोर्ट के फैसले का हवाला देते हुए 'तथ्यात्मक' प्रतीत होता है और 'संस्था' पर हमला नहीं है.''





बता दें कि अदालत की अवमानना कानून, 1971 की धारा 15 के तहत किसी व्यक्ति के खिलाफ अवमानना कार्यवाही शुरू करने के लिए या तो अटॉर्नी जनरल या सॉलिसीटर जनरल की सहमति जरूरी होती है.

क्या कहा था स्वरा भास्कर ने?
याचिका के मुताबिक, स्वरा भास्कर ने कहा था, ''अब हम ऐसी स्थिति में हैं जहां हमारी अदालतें सुनिश्चित नहीं हैं कि वे संविधान में विश्वास करती हैं या नहीं. हम एक देश में रह रहे हैं जहां हमारे देश के सर्वोच्च न्यायालय ने एक फैसले में कहा कि बाबरी मस्जिद का विध्वंस गैरकानूनी था और फिर उसी फैसले ने उन्हीं लोगों को पुरस्कृत किया जिन्होंने मस्जिद को गिराया था.''
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज