सोनू सूद की टूटी हिम्मत, मरीज की जान ना बचा पाने पर बोले- 'खुद को लाचार महसूस कर रहा हूं'

फिल्म अभिनेता सोनू सूद संकट की इस घड़ी में जी जान से पीड़ितों की सेवा में जुटे हैं.

इतने प्रयासों के बाद भी कुछ मरीजों को ना बचा पाने पर सोनू सूद (Sonu Sood) ने अपनी मायूसी जाहिर की है. एक्टर ने एक ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने बताया है कि इतनी कोशिशों के बाद भी कुछ मरीजों की जान ना बचा पाने को लेकर वह कितने दुखी हैं और कैसा महसूस कर रहे हैं.

  • Share this:
    मुंबईः बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद (Sonu Sood) कोरोना पीड़ितों की हर संभव मदद करने में जुटे हैं. मरीजों के लिए बेड की व्यवस्था कराने से लेकर ऑक्सीजन, दवा, एंबुलेंस तक सोनू सूद देश के हर कोने तक कोरोना पीड़ितों (Sonu Sood Help) की मदद दिलाने का प्रयास कर रहे हैं. इस बीच इतने प्रयासों के बाद भी कुछ मरीजों को ना बचा पाने पर एक्टर ने अपनी मायूसी जाहिर की है. एक्टर ने एक ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने बताया है कि इतनी कोशिशों के बाद भी कुछ मरीजों की जान ना बचा पाने को लेकर वह कितने दुखी हैं और कैसा महसूस कर रहे हैं.

    सोनू सूद ने अपने ट्वीट में लिखा- 'मरीज, जिसे आप बचाने की कोशिश में जुटे हैं, उसे खो देना, यह किसी अपने को खो देने से कम नहीं है. उनके परिवार से नजरें मिला पाना मुश्किल होता है, जिनसे आपने उनके अपने को बचाने का वादा किया हो. आज मैंने कुछ लोगों को खो दिया. जिन परिवारों से आप दिन में कम से कम 10 बार संपर्क में थे, उनसे हमेशा के लिए संपर्क खो देंगे. खुद को लाचार महसूस कर रहा हूं.'

    sonu sood, sonu sood twitter
    मरीज की जान ना बचा पाने पर सोनू सूद ने जाहिर की मायूसी.


    एक्टर का यह ट्वीट देखकर उनके फैन भी काफी इमोशनल हो गए हैं. कई यूजर्स ने कमेंट करते हुए सोनू सूद का दिल हलका करने की कोशिश की है और उन्हें उनके नेक कामों की याद भी दिलाई. एक यूजर ने कमेंट करते हुए लिखा - 'मानवता की सेवा ईश्वर की सेवा है. अपने अंदर के प्रकाश को तब तक प्रकाशित होने दें, जब तक सभी जो आपको देख रहे हैं इससे प्रकाशित नहीं होते. सितारों की तरह बनें, जो इतनी ऊंचाई में होने के बाद भी जगमाते हैं. आप एक रियल हीरो हैं.'

    वहीं एक अन्य फैन ने सोनू सूद की तारीफ करते हुए लिखा- 'सर, मैं ये नहीं कहूंगा कि जन्म और मृत्यु किसी के हाथ में नहीं है, क्योंकि सभी ये पहले से ही जानते हैं. लेकिन, ये खबर बेहद दुखद है, जिसे सुनने के बाद किसी के भी आंसू नहीं रुकेंगे. मृतकों के परिवारों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं. जान बचाने में कभी हार न मानें.'