राजनीति मकसद से शुरू की 'घर भेजो मुहिम' पर सोनू सूद ने दी यह प्रतिक्रिया

सोनू सूद
सोनू सूद

सोनू सूद (Sonu Sood) ने कहा कि, जब आप बेहतर और अलग करने की कोशिश करते हैं, तो लोग आपको परेशान करते ही हैं. मैं ऐसे आरोपों की परवाह नहीं करता.

  • Share this:
कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के कारण जब देशव्यापी लॉकडाउन लगाया गया था, तो देशभर में जगह-जगह प्रवासी श्रमिक फंस गए थे. इन श्रमिकों के पास लॉकडाउन (Lockdown) के कारण आय का कोई जरिया नहीं बचा था. इनके सामने अपना पेट भरने, कमरे का किराया देने और किसी तरह से घर पहुंचना ही बहुत मुश्किल काम हो गया था. उस समय बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद (Sonu Sood) ने #GharBhejo पहल शुरू की और लोगों को बसों की व्यवस्था कर उनके घर भेजने लगे.

सोनू सूद ने इन आरोपों पर दी प्रतिक्रिया
सोनू की पहल ने लाखों लोगों का दिल जीत लिया और जल्द ही उन्हें ढेर सारा प्यार और ट्विटर पर प्रतिक्रियाएं मिलने लगीं. सोनू सूद पर आरोप लगाया गया था कि हो सकता है उन्होंने यह काम राजनीति मकसद से प्रेरित होकर किया हो. आरोप शिवसेना नेता संजय राउत और कांग्रेस नेता नगमा ने लगाए थे. सोनू सूद ने इन आरोपों पर प्रतिक्रिया दी है.

सोनू ने कहा था- आरोपों पर प्रतिक्रिया देने के लिए नहीं है समय
सोनू ने आरोपों का जवाब देते हुए टीओआई से कहा, 'जब मुझ पर अभियान के कारण आरोप लगाए गए तो विवाद छिड़ गया तो मैंने यह भी नहीं पढ़ा कि क्या लिखा जा रहा था. जब किसी ने इस मामले में मेरा रिएक्शन लेने के लिए फोन किया, तो मैं प्रवासियों के लिए यात्रा की व्यवस्था करने में बिजी था. मैंने उनसे कहा कि अभी मैं कुछ जरूरी काम कर रहा हूं और मेरे पास इन आरोपों पर रिएक्शन देने के लिए समय नहीं है.'



आरोपों ने मेरे संकल्प को और मजबूत किया
सोनू ने आगे कहा कि, उन्हें इस तरह के आरोपों की परवाह नहीं है क्योंकि लोग हमेशा उन पर हमला करेंगे जो अच्छा काम करने करते हैं. मैं इस तरह के आरोपों की परवाह नहीं करता. जब आप बेहतर और अलग करने की कोशिश करते हैं, तो लोग आपको परेशान करते ही हैं. ऐसे आरोपों ने प्रवासियों को घर पहुंचाने के मेरे संकल्प को और मजबूत किया है और हम वास्तव में और अच्छा करना जारी रखेंगे.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज