सूरज पंचोली ने 'नेपोटिज्म' पर तोड़ी चुप्पी, कहा- 'मुझे बहुत गुस्सा आता है'

सूरज पंचोली (फोटो साभर: @Sooraj Pancholi)

सूरज पंचोली (फोटो साभर: @Sooraj Pancholi)

अभिनेता सूरज पंचोली (Sooraj Pancholi) ने बॉलीवुड में लंबे समय तक चलने वाली नेपोटिज्म के मुद्दे पर अपनी बात रखी है. एक्टर का कहना है कि बॉलीवुड में अपनी जगह बनाना हर किसी के लिए मुश्किल है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 21, 2021, 12:15 AM IST
  • Share this:
मुंबई. अभिनेता सूरज पंचोली (Sooraj Pancholi) इन दिनों अपनी फिल्म 'टाइम टू डांस' को लेकर चर्चा में हैं. इसी बीच एक्टर ने बॉलीवुड में लंबे समय तक चलने वाली नेपोटिज्म के मुद्दे पर अपनी बात रखी है. एक्टर का कहना है कि बॉलीवुड में अपनी जगह बनाना हर किसी के लिए मुश्किल है, लेकिन स्टार किड्स के लिए सोशल मीडिया के युग में नफरत से निपटने एक अतिरिक्त चुनौती है. सूरज ने कहा कि कुछ लोगों का मानना है कि वह नेपोटिज्म के लाभार्थी हैं, जो उन्हें गुस्सा दिलाता है.

एक्टर सूरज पंचोली ने कहा, 'मैं यह नहीं कहूंगा कि यह किसी के लिए आसान है. केवल बेहतर और सबसे अच्छा इंसान ही इंडस्ट्री में टीका रहेगा, बाकी नहीं टिक पाएंगे. यह अच्छे परिवार के सबसे अच्छे लोगों के साथ हुआ है.' पंचोली ने पीटीआई भाषा से कहा कि कभी-कभी मुझे गुस्सा आता है क्योंकि लोग सोचते हैं कि आप कड़ी मेहनत नहीं करते हैं.

सूरज पंचोली ने आगे कहा, 'फिल्म इंडस्ट्री सबके लिए एक समान नहीं है. फिल्म इंडस्ट्री में कुछ परिवार के लोग ही इसे नापसंद करते है. इसलिए यह बहुत मुश्किल है. सोशल मीडिया ने इसे संभाल लिया है. हर कोई अब एक आलोचक है और नफरत एक सेकंड में फैल सकती है.'

एक्टर सूरज पंचोली (Sooraj Pancholi) और कैटरीना कैफ (Katrina Kaif) की बहन इसाबेल कैफ (Isabelle Kaif) की फिल्म 12 मार्च को रिलीज हो गई है. स्टेनले डी कोस्टा के निर्देशन में बनी फिल्म ‘टाइम टू डांस’ ने कुछ खास कमाल नहीं किया है. अपनी बहन कैटरीना कैफ के नक्शे कदम पर चलते हुए फिल्मी दुनिया में करियर बनाने वाले इसाबेल कैफ की पहली फ़िल्म है. स्टेनले डी कोस्टा फेमस कोरियोग्राफर रेमो डीसूजा के सहायक भी रह चुके हैं. मजे की बात है कि ‘टाइम टू डांस’ उनकी भी पहली फ़िल्म है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज