• Home
  • »
  • News
  • »
  • entertainment
  • »
  • BOLLYWOOD SOUTH INDIAN ACTOR AND COMEDY KING BRAHMANANDAM HAS GUINNESS WORLD RECORD

साउथ सिनेमा के कॉमेडी किंग ब्रह्मानंदम के नाम दर्ज है गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड

साउथ सिनेमा के कॉमेडी किंग ब्रह्मानंदम के नाम दर्ज है गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड

साउथ इंडस्ट्री में कॉमेडियन ब्रह्मानंदम (Brahmanandam) किसी सुपरस्टार से कम नहीं हैं. साउथ ही नहीं उनकी फैन फॉलोइंग अब पूरे देश में हो गई है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. फिल्म इंडस्ट्री में हर कलाकार का काम करने का अलग तरीका होता है. कुछ एक, दो साल में एक फिल्म करने के लिए जाने जाते हैं, वहीं कुछ कलाकारों की पहचान ही उनकी फिल्मों की गिनती से होती है. जैसे अक्षय कुमार का नाम आने पर अक्सर यही जिक्र होता है, साल मे तीन से पांच फिल्में करने वाले एक्टर, ऐसे ही एक और कलाकार हैं ब्रह्मानंदम. साउथ इंडस्ट्री में कॉमेडियन ब्रह्मानंदम (Brahmanandam) किसी सुपरस्टार से कम नहीं हैं. साउथ ही नहीं, उनकी फैन फॉलोइंग अब पूरे देश में हो गई है. साउथ की फिल्मों को सभी राज्यों में देखा जा रहा है और पसंद भी किया जा रहा है. एक नाम जो साउथ की ज्यादातर फिल्मों में देखा गया वो है एक्टर ब्रह्मानंदम का.

    बता दें, सबसे ज्यादा फिल्मों में काम करने के लिए ब्रह्मानंदम का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज है. वे दुनिया के इकलौते ऐसे एक्टर हैं जो एक हजार से भी ज्यादा फिल्मों में काम कर चुके हैं. ब्रह्मानंदम का जन्म 1 फरवरी, 1956 को सत्तेनापल्ले में हुआ था. साउथ के कॉमेडी (Comedy ) किंग ब्रह्मानंदम आज 65 वां जन्मदिन मना रहे हैं. ब्रह्मानंदम, फिल्मों में आने से पहले तेलुगू लेक्चरर थे. उन्होंने साल 1987 में फिल्म 'Aha Naa Pellanta' (अहा मेरी शादी) से अपने करियर की शुरुआत की.

    एक्टिंग के अलावा वे खाली समय में स्क्ल्पचर्स बनाना पसंद करते हैं. उन्हें कॉमेडी किंग का नाम दिया गया है क्योंकि कई बार उनके सिर्फ एक्सप्रेशन्स ही हंसाने के लिए काफी होते हैं. साथ ही ब्रह्मानंदम की डायलॉग डिलीवरी ने भी फैन्स के दिलों में अपनी छाप छोड़ी है.

    आपको भी ये पता नहीं होगा कि ब्रह्मानंदम देश में सबसे ज्यादा कमाई करने वाले एक्टर्स में से एक हैं. इसके अलावा उनके बारे में एक और बात काफी प्रचलित है कि वे कभी भी 7 बजे के बाद घर से बाहर निकलना पसंद नहीं करते हैं. कहा जाता है कि ब्रह्मानंदम ने 997 फिल्में करने के बाद से अपनी फिल्मों की गिनती बंद कर दी थी. साल 2009 में सिनेमा को दिए गए अपने योगदान के लिए भारत सरकार द्वारा उन्हें पद्म श्री सम्मान से नवाजा गया था.