महाराष्ट्र के मंत्री अनिल परब बोले- सुशांत मामले की CBI जांच की अनुशंसा का बिहार सरकार का कदम राजनीति से प्रेरित

महाराष्ट्र के मंत्री अनिल परब बोले- सुशांत मामले की CBI जांच की अनुशंसा का बिहार सरकार का कदम राजनीति से प्रेरित
सुशांत मामले में बिहार सरकार ने सीबीआई जांच की सिफारिश की है. (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र के मंत्री अनिल परब (Anil Parab) ने कहा कि एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत मामले की सीबीआई (CBI) जांच की अनुशंसा का बिहार सरकार का कदम राजनीति से प्रेरित है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 4, 2020, 11:58 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र के मंत्री और शिवसेना नेता अनिल परब (Anil Parab) ने मंगलवार को कहा कि एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत मामले की सीबीआई (CBI) जांच की अनुशंसा का बिहार सरकार (Bihar Government) का कदम राजनीति से प्रेरित है.

बिहार सरकार की सीबीआई जांच की अनुशंसा के बारे में पूछे जाने पर परब ने कहा, ''नीतीश कुमार बिहार प्रशासन के प्रमुख हैं. बिहार में क्या हो रहा है, उन्हें उसके बारे में बोलना चाहिए. इस मामले ने राजनीतिक रंग ले लिया है और हर कोई इससे लाभ लेने की कोशिश कर रहा है.''

दरअसल बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिन में ट्वीट किया, ''सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह द्वारा पटना में सुशांत की मौत से संबंधित दर्ज कराए गए मामले की सीबीआई से जांच कराने हेतु राज्य सरकार ने अनुशंसा भेज दी है.''



मंत्री ने आरोप लगाया कि विपक्षी दल बीजेपी केंद्रीय एजेंसी द्वारा जांच की मांग करके मुंबई पुलिस की काबिलियत पर प्रश्न उठा रहा है. उन्होंने कहा, ''पिछले पांच वर्ष में आत्महत्या के कितने मामले आपने सीबीआई को दिए? क्यों केवल इस मामले में ही सीबीआई जांच की मांग हो रही है? इसमें राजनीति हो रही है. राज्य सरकार मुंबई पुलिस के साथ है.''
उन्होंने कहा कि किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा. एक सवाल के उत्तर में उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के पुत्र आदित्य ठाकरे का इस मामले से कोई संबंध नहीं है. परब ने कहा, ''मुख्यमंत्री की छवि खराब करने के लिए इस संबंध में आरोप लगाए जा रहे हैं.'' उन्होंने आरोप लगाया कि शिवसेना के राजनीतिक विरोधी इस साजिश (ठाकरे के खिलाफ) में शामिल हैं.

परब ने कहा, ''अगर किसी के पास सबूत है कि आदित्य ठाकरे इस मामले से जुड़े हैं, तो वे उन्हें पेश कर सकते हैं और फिर हम बात करेंगे.''
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज