SSR Case: CBI ने पूछा सुशांत का पोस्टमॉर्टम जल्दी क्यों किया गया, तो मिला यह जवाब

SSR Case: CBI ने पूछा सुशांत का पोस्टमॉर्टम जल्दी क्यों किया गया, तो मिला यह जवाब
सुशांत सिंह राजपूत.

शनिवार को सीबीआई की एक टीम ने कूपर अस्‍पताल में सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) का पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्‍टरों से पूछताछ की. पोस्‍टमॉर्टम करने वाले डॉक्‍टरों ने सीबीआई को यह चौंकाने वाली जानकारी दी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 22, 2020, 6:09 PM IST
  • Share this:
मुंबई. सीबीआई (CBI) ने सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस (Sushant Singh Rajput Suicide Case) की जांच तेज कर दी है. इसी बीच सुशांत सिंह राजपूत का पोस्‍टमॉर्टम करने वाले डॉक्‍टरों ने सीबीआई को अहम जानकारी दी है. दरअसल शनिवार को सीबीआई की एक टीम ने कूपर अस्‍पताल में सुशांत का पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्‍टरों से पूछताछ की. एक डॉक्‍टर ने बताया कि मुंबई पुलिस ने कहा था कि, सुशांत के शव का पोस्‍टमॉर्टम जल्‍दी कर दीजिए.

सीबीआई की टीम को शुक्रवार दोपहर बाद सुशांत की पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट मिली. टीम को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में कई तरह की खामियां मिली हैं, इसलिए इस संबंध में डॉक्टरों से पूछताछ करने के लिए एक टीम शनिवार को कूपर अस्‍पताल पहुंच गई. 5 डॉक्‍टरों ने मिलकर सुशांत का पोस्टमार्टम किया था. सीबीआई टीम ने इन डॉक्टरों से रिपोर्ट में गड़बड़ियों के बारे में पूछताछ की.

मुंबई पुलिस के कहने पर किया जल्दी पोस्टमॉर्टम
टाइम्‍स नाउ के हवाले से छपी खबर के अनुसार, सीबीआई की टीम ने डॉक्‍टरों से पूछा कि सुशांत का पोस्टमार्टम करने में बहुत तेजी क्‍यों की गई, तो 5 डॉक्‍टरों में से एक ने कहा, मुंबई पुलिस ने सुशांत का पोस्टमार्टम जल्दी करने को कहा था. 14 जून को सुशांत की लाश उनके बांद्रा स्थित अपार्टमेंट से मिली थी. खास बात यह है कि दोपहर के समय सुशांत की लाश मिली और 14 जून की रात को ही सुशांत का पोस्‍टमॉर्टम बहुत जल्दबाजी में कर दिया गया.
बड़ी बहन कि रिक्वेस्ट पर जल्दी किया गया पोस्टमॉर्टम


'इंडिया टुडे' की एक खबर में बताया गया है कि सुशांत का पोस्टमॉर्टम उनकी बड़ी बहन मीतू सिंह की रिक्वेस्ट पर उसी दिन किया गया था. पोस्टमॉर्टम के समय सुशांत के बहनोई ओपी सिंह भी वहां मौजूद थे डॉक्टर सचिन सोनावने ने बताया कि सुशांत की बहन और बहनोई ओपी सिंह की रिक्वेस्ट पर उसी दिन पोस्टमॉर्टम कर दिया गया. पोस्टमॉर्टम में कुल मिलाकर 90 मिनट लगे थे. डॉक्टर के अनुसार, ऐसा कोई कानून नहीं है कि रात में पोस्टमॉर्टम नहीं किया जा सकता. मुंबई में रात में भी पोस्टमॉर्टम किए जाते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज