सुशांत की बहन नीतू ने रक्षाबंधन पर किया बेहद भावुक पोस्ट, लिखा- थाली सजाकर बैठी हूं गुलशन...

सुशांत की बहन नीतू ने रक्षाबंधन पर किया बेहद भावुक पोस्ट, लिखा- थाली सजाकर बैठी हूं गुलशन...
सुशांत सिंह राजपूत व उनकी बहन नीतू सिंह.

रक्षाबंधन के अवसर पर दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की सबसे बड़ी बहन नीतू सिंह (Nitu Singh) ने एक दिल को झकझोर देने वाला पोस्ट लिखा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 3, 2020, 11:32 PM IST
  • Share this:
मुंबई. सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) अपनी बहनों में सबसे छोटे थे. रक्षा बंधन पर उन्हें इतनी राखियां मिलती थीं जितनी शायद किसी और दूसरे अभिनेता को ना मिलती हों. उनकी अपनी बहनें सुशांत से इतना प्यार करती हैं कि सालों तक सुशांत को उन्होंने बाहर की परछाईं भी उनके ऊपर नहीं पड़ने दी. सुशांत ने कई मर्तबा यह स्वीकार किया कि घर में उनकी बहनों से उन्हें इतना प्यार मिलता था कि वो बाहर के लोगों के साथ कैसे बात करें ये समझ नहीं पाते थे. वो महान आत्मा अब हमारे बीच नहीं है. उनकी सबसे बड़ी बहन नीतू सिंह ने रक्षाबंधन के ‌दिन अपने प्यारे गुलशन (सुशांत का घरेलू नाम) के लिए एक जज्बाती लेटर लिखा है.

बॉलीवुड जगत की अंदर की खबरें देने वाले विरल भयानी ने इंस्टाग्राम पर नीतू सिंह का पोस्ट शेयर किया है. विरल ने यह शेयर करते हुए लिखा, क्या आप कल्पना कर सकते हैं कि आज के दिन सबसे ज्यादा राखियां किसे मिलती होंगी? जी हां वो सुशांत थे. मैं आज तक किसी सेलिब्रेटी के लिए उनके फैन्‍स में इतना प्यार और समर्पण नहीं देखा. सुशांत भाई आपने निश्चित ही कुछ इतना अच्छा किया है कि लोगों में आपको लेकर इतना प्यार और सपोर्ट है. आपके लिए मन में सम्मान है. आपकी बहन ने एक बहुत ही भावुक कर देने वाली कविता लिखी है.

सुशांत की बहन नीतू ने लिखा दिल को झकझोर कर रख देने वाला नोट



गुलशन, मेरे बच्चे.
आज मेरा दिन है,
आज तुम्हारा दिन है,
आज हमारा दिन है,
आज राखी है.

बीते  35 सालों में ये पहली बार है, जब मैंने प्रार्थना थाली सजा रखी है, दीया जला ली है, तुम्हारे लिए टीका, मिठाइयां और राखी सजा ली है.

बस उस मुस्कुराते हुए चेहरे को ढूंढ़ रही हूं जिसका मैं आरती उतारती थी. वो चेहरा नहीं है. मुझकी बहुत याद आ रही है. उस माथे को याद कर रही हूं जिसपर टीका करती थी. उस कलाई को याद कर रही हूं जिस पर राखी बांधती थी. उस मुंह को याद कर रही हूं जिसमें मिठाई खिलाती थी.

आज वो माथा नहीं जिसे मैं चूमती थी. मेरा भाई मेरे पास नहीं जिसे मैं गले लगाती थी.

सालों पहले जब तुम मेरी जिंदगी में आए, मेरी जिंदगी खुश‌ियों से भर गई थी. जब तुम यहां थे चारों ओर चमक थी, खुश‌ियां थीं, अब जब तुम नहीं हो, मेरी समझ नहीं आ रहा है क्या करूं. मुझे नहीं पता है तुम्हारे बिना जिंदगी कैसे जियूं. मैंने सोचा ही नहीं था कि ऐसा भी कोई दिन होगा. कोई ऐसा दिन जब तुम मेरे आसपास नहीं होगे.

मैंने तुमसे बहुत सी चीजें सीखी हैं. पर तुम्हारे बिना जीना कैसे है, ये कौन सिखाएगा? बताओ मुझे.

तुम्हारी
रानी दी.



सुशांत, अपनी बड़ी बहन नीतू सिंह को रानी दी कहते थे. और रानी उन्हें गुलशन. ये लेटर पढ़कर सुशांत के चाहने वालों ही नहीं बल्कि किसी शख्स के आंखों में आंसू आ रहे हैं.



यह भी पढ़ेंः- सुशांत सिंह राजपूत केस: पूर्व प्रबंधक की आत्महत्या की जांच करेगी बिहार पुलिस

उल्लेखनीय है कि सुशांत को उनके बांद्रा स्थित फ्लैट में बीते 14 जून को मृत पाया गया था. उनके गले पर फांसी लगाने के निशान थे. अभी तक मामले को आत्महत्या बताया जा रहा है. मामले में कई स्तर पर जांच-पड़ताल की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज