सुशांत सिंह राजपूत केसः 3 मनोचिकित्सकों के बयान ‌हुए दर्ज, 2019 से कर रहे थे डिप्रेशन का इलाज

सुशांत सिंह राजपूत केसः 3 मनोचिकित्सकों के बयान ‌हुए दर्ज, 2019 से कर रहे थे डिप्रेशन का इलाज
सुशांत सिंह राजपूत

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) 14 जून को उपनगरीय बांद्रा में अपने अपार्टमेंट में फांसी के फंदे से लटकते मिले थे. पुलिस का दावा है कि यह आत्महत्या का मामला है. प्रारंभिक जांच में पुलिस ने पाया कि अभिनेता अवसाद को लेकर इलाज करा रहे थे.

  • Share this:
मुम्बई. मुम्बई पुलिस ने पिछले महीने बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की हुई मौत की जांच के सिलसिले में तीन मनोचिकित्सकों और एक मनोवैज्ञानिक के बयान दर्ज किये हैं. पुलिस उपायुक्त (नौवी जोन) अभिषेक त्रिमुखे ने बताया कि इस मामले की जांच कर रही बांद्रा पुलिस ने पिछले तीन दिनों के दौरान उनके बयान दर्ज किये. पुलिस के अनुसार दिवंगत अभिनेता इन मानसिक स्वास्थ्य पेशेवरों की सलाह ले रहे थे, इसलिए जांच के तहत उनके बयान दर्ज किये गये हैं. उन्होंने बताया कि राजपूत नवंबर, 2019 से अवसाद का उपचार करा रहे थे.

राजपूत 14 जून को उपनगरीय बांद्रा में अपने अपार्टमेंट में फांसी के फंदे से लटकते मिले थे. पुलिस का दावा है कि यह आत्महत्या का मामला है. प्रारंभिक जांच में पुलिस ने पाया कि अभिनेता अवसाद को लेकर इलाज करा रहे थे. अब तक पुलिस फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली, बॉलीवुड के कास्टिंग निर्देशक मुकेश छाबरा, अभिनेत्री संजना सांघी, राजपूत के दोस्त संदीप सिंह समेत 36 से अधिक लोगों के बयान ले चुकी है.





राजपूत की मित्र अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने भी पुलिस में अपना बयान दर्ज करवाया है. फिल्मकार आदित्य चोपड़ा ने भी शनिवार को वरसोवा थाने में बयान दर्ज कराया था. राजपूत ने ‘शुद्ध देसी रोमांस’ , ‘राब्ता’, ‘केदारनाथ’ और ‘सोनचिडिया’ जैसी फिल्मों में अभिनय किया. उनकी भूमिका फिल्म ‘‘एम एस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी’ में काफी चर्चित रही.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज