Home /News /entertainment /

sushmita sen reveals that she was from hindi medium school did not understand the miss universe question pr

सुष्मिता सेन ने किया चौंकाने वाला खुलासा, Miss Universe के फाइनल राउंड में समझ नहीं पाई थीं सवाल

सुष्मिता सेन को हिंदी मीडियम की वजह से सवाल समझ ही नहीं आया था.(फोटो साभार: sushmitasen47/Instagram)

सुष्मिता सेन को हिंदी मीडियम की वजह से सवाल समझ ही नहीं आया था.(फोटो साभार: sushmitasen47/Instagram)

सुष्मिता सेन (Sushmita Sen) ने बताया कि मैं हिंदी मीडियम स्कूल से पढ़ी थी इसलिए उस समय मुझे इतनी अंग्रेजी नहीं आती थी. पता नहीं मुझे essence का क्या मतलब समझ आया और मैंने एकदम सटीक जवाब दे दिया था. मैं 18 साल की थी, मुझे लगता है कि ईश्वर मेरी जुबान पर विद्यमान थे और बोले कि चलो यही बोलवा देते हैं क्योंकि ऐसे ही तुम अपनी जिंदगी चुनोगी.

अधिक पढ़ें ...

सुष्मिता सेन (Sushmita Sen) 1994 में मिस यूनिवर्स (Miss Universe) का खिताब अपने नाम करने वाली पहली भारतीय महिला हैं. सुष्मिता के बाद युक्ता मुखी (Yukta Mookhey), लारा दत्ता (Lara Dutta) और हाल ही में हरनाज संधू (Harnaaz Sandhu) ने इस टाइटल को जीत भारत का नाम दुनिया भर में रोशन किया. इस खिताब को हासिल कर दुनिया भर में इंडिया के नाम का डंका बजाने के बाद सुष्मिता ने बॉलीवुड में कदम रखा और सफल एक्ट्रेस बन गईं. बरसों बाद सुष्मिता सेन ने एक चौंकाने वाला खुलासा किया है.

सुष्मिता सेन को हिंदी मीडियम होने की वजह से हुई दिक्कत
सुष्मिता सेन ने एक इंटरव्यू में बताया कि जब मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता के दौरान फाइनल में जब उनसे सवाल पूछा गया था तो उन्हें समझ ही नहीं आया था. दरअसल, अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर सुष्मिता सेन की बेटी अलीशा के स्कूल मैग्जीन ने एक्ट्रेस के साथ एक इंटरव्यू किया. इसमें पूछा गया, ‘क्या इतने साल बाद वह उस सवाल का जवाब बदलना चाहेंगी?’ इस पर एक्ट्रेस ने बताया, ‘जब मैं पीछे मुड़कर देखती हूं तो पता है मुझे सवाल और जवाब के बारे में ये अच्छा लगता है कि उन्होंने मुझसे एक महिला के गुण के बारे में नहीं बल्कि एक महिला के essence के बारे में पूछा था और मैं हिंदी मीडियम स्कूल से पढ़ी थी इसलिए उस समय मुझे इतनी अंग्रेजी नहीं आती थी. पता नहीं मुझे essence का क्या मतलब समझ आया और मैंने एकदम सटीक जवाब दे दिया था. मैं 18 साल की थी, मुझे लगता है कि ईश्वर मेरी जुबान पर विद्यमान थे और बोले कि चलो यही बोलवा देते हैं क्योंकि ऐसे ही तुम अपनी जिंदगी चुनोगी.’

(फोटो साभार: sushmitasen47/Instagram)

सुष्मिता सेन महिला को ईश्वर का अनमोल तोहफा मानती हैं
मैंने कहा था, ‘महिला के रूप में पैदा होना ईश्वर का अनमोल तोहफा है. मैं आज भी इस पर कायम हूं और इसमें कुछ भी बदला नहीं है. महिला के रूप में जन्म लेना ही ईश्वर का बड़ा उपहार है और हम सबको इसके लिए आभारी होना चाहिए. एक महिला सिर्फ गर्भ नहीं है जहां से जिंदगी मिलती है, इसलिए वह केवल जन्म देने वाली मां नहीं है बल्कि प्यार, परवाह दिखाने वाली है.’


ये भी पढ़िए-10 Years Of Kahani: विद्या बालन की ‘कहानी’ में नवाजुद्दीन काम करने के लिए नहीं थे तैयार, सुजॉय घोष की तरकीब आई काम

आज मेरा जवाब होगा Self Discover
सुष्मिता सेन ने कहा, ‘उस समय मैंने एक आदमी को दिखाने की बात कही थी, मैंने ये क्यों कहा था, ये कोई रोमांटिक लाइन नहीं थी. आज 28 साल बाद अगर मैं इसमें कुछ और जोड़ सकती हूं, तो ये होगा कि खुद को खोजना. एक महिला जितना बाहर से दिखती है उतनी ही अंदर से भी है, यही एक महिला का Essence है.’ बता दें कि सुष्मिता सेन ने दो बेटियों रेने और अलीशा को गोद लिया है. एक्ट्रेस हाल ही में आर्या सीजन 2 में नजर आई थीं.

Tags: Miss Universe, Sushmita sen

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर