लाइव टीवी

JNU फीस विवाद पर स्‍वरा भास्‍कर ने किया ट्वीट, इस बात पर कहा 'शर्मनाक'

News18Hindi
Updated: November 16, 2019, 6:57 PM IST
JNU फीस विवाद पर स्‍वरा भास्‍कर ने किया ट्वीट, इस बात पर कहा 'शर्मनाक'
जेएनयू फीस मामले में स्‍वरा भास्‍कर ने किया ट्वीट.

अभिनेत्री स्‍वरा भास्‍कर (Swara Bhasker) ने जेएनयू (JNU) फीस बढ़ोतरी (Fee Hike) के मुद्दे पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. बता दें पिछले दिनों जेएनयू में फीस बढ़ातरी की घोषणा के बाद छात्र-छात्राओं ने प्रदर्शन किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 16, 2019, 6:57 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. अपने बेबाक विचारों और ट्वीट के लिए चर्चा में रहने वाली अभिनेत्री स्‍वरा भास्‍कर (Swara Bhasker) फिर सुर्खियों में हैं. इस बार उन्‍होंने पिछले दिनों जवाहरलाल नेहरू विश्‍वविद्यालय (JNU) में हुई फीस बढ़ोतरी (Fee Hike) की घोषणा को लेकर ट्वीट किया है. इसमें उन्‍होंने कहा है, 'जिन लोगों को जेएनयू में हुई फीस वृद्धि के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे छात्र-छात्राओं से परेशानी है उनका यही मानना है कि उच्‍च और गुणवत्‍तापरक शिक्षा सिर्फ समाज के अमीर और बड़े लोगों का ही अधिकार है. इस ट्वीट में उन्‍होंने आखिर में लिखा है 'यह शर्मनाक है'. उनके ट्वीट के बाद लोग अलग-अलग प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं.

बता दें कि पिछले दिनों जेएनयू में विभिन्‍न स्‍तर पर फीस बढ़ोतरी की घोषणा हुई थी. इसके बाद वहां पढ़ने वाले छात्र-छात्राएं इसके विरोध में उतर आए थे. वे सड़क पर उतरकर प्रदर्शन भी कर रहे थे. इसी पर अभिनेत्री स्‍वरा भास्‍कर ने ट्वीट किया है.

स्‍वरा भास्‍कर ने किया ट्वीट.


उन्‍होंने अपने ट्वीट पर लिखा है, 'जिन लोगों को जेएनयू के छात्र-छात्राओं के विरोध प्रदर्शन से परेशानी है, वे लोग यह नहीं चाहते कि कम आय वाले और निम्‍न मध्‍य आय वाली श्रेणी के लोगों के बच्‍चे गुणवत्‍तापरक उच्‍च शिक्षा प्राप्‍त करें. यह शर्मनाक है.'

स्‍वरा भास्‍कर ने एक अन्‍य ट्वीट में लिखा है, 'जेएनयू उन छात्रों के जीवन को बदल देता है, जो पाबंदियों वाली परिस्थितियों से आते हैं. जेएनयू स्पेशल है क्योंकि ये शिक्षा को सिर्फ कुछ चुनिंदा लोगों का अधिकार नहीं समझता. बल्कि यह हर किसी का जन्मसिद्ध अधिकार है.'

स्‍वरा भास्‍कर ने किया ट्वीट.


बता दें कि जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के कुलपति एम जगदीश कुमार ने आंदोलन कर रहे छात्रों से विरोध-प्रदर्शन समाप्त करने की शुक्रवार को अपील करते हुए कहा था कि जोर जबर्दस्ती व अवैध तरीके से संवाद स्थापित नहीं किया जा सकता है. जेएनयू छात्र संघ (जेएनयूएसयू) ने कहा था कि संवाद शुरू करने की बजाए, प्रशासन ने विद्यार्थियों एवं शिक्षकों को, 'परोक्ष रूप से धमकियां' देनी शुरू कर दी हैं.
Loading...

वहीं छात्रों के दो हफ्तों के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए गरीबी रेखा से नीचे के ऐसे छात्रों की छात्रावास फीस की बढ़ोत्तरी को आंशिक रूप से वापस ले लिया गया है जिनके पास कोई छात्रवृत्ति नहीं है. हालांकि छात्रों ने इसे धोखा करार दिया है. कुलपति ने शिक्षकों से कहा था कि वह छात्रों को समझाने के लिए अतिरिक्त प्रयास करें कि छात्रावास शुल्क में किए गए परिवर्तन न सिर्फ उचित हैं बल्कि हमारे छात्रावासों की वित्तीय क्षमता के लिए जरूरी भी हैं.

यह भी पढ़ें: JNU बवालः अब VC ने की कार्रवाई, प्रशासनिक ब्लॉक में अपशब्द लिखने वालों के खिलाफ दर्ज करवाई शिकायत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बॉलीवुड से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 16, 2019, 6:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...