Tamilnadu पुलिस कस्टडी में पिता-पुत्र की मौत: पुलिस का गुणगान करने वाली फिल्में बनाकर पछता रहे हैं सिंघम के डायरेक्टर

Tamilnadu पुलिस कस्टडी में पिता-पुत्र की मौत: पुलिस का गुणगान करने वाली फिल्में बनाकर पछता रहे हैं सिंघम के डायरेक्टर
डायरेक्टर हरि (Photo Credit- prithaharifan/instagram)

तमिलनाडु (Tamilnadu) में पुलिस (Police) कस्टडी में हुई मौत (Custodial Death) पर फिल्म इंडस्ट्री के लोगों ने गुस्सा जाहिर किया है.

  • Share this:
मुंबई. तमिलनाडु (Tamilnadu) में सामने आए एक चौंकाने वाले मामले की वजह से सोशल मीडिया पर लोगों में जबरदस्त गुस्सा देखने को मिल रहा है. यहां पर Sathankulam में पुलिस (Police) की कस्टडी में रहते हुए पिता-पुत्र जेयराज और बेनिक की मौत (Custodial Death) हो गई है. आरोप है कि पुलिस की बेरहमी की वजह से दोनों बाप-बेटों की जान गई है. सोशल मीडिया (Social Media) पर मामले में कार्रवाई की मांग करते हुए लोग द्वारा तमिलनाडु पुलिस का जमकर विरोध किया जा रहा है. वहीं अब साउथ फिल्म इंडस्ट्री में पुलिस का गुणगान करने वाली फिल्में (Film) बनाने के लिए मशहूर डायरेक्टर हरी (Director Hari) भी काफी नाखुश हैं.

दरअसल, बिते दिनों ही लॉकडाउन का उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार किए गए पिता-पुत्र की पुलिस कस्टडी में मौत को लेकर बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है. तमिलनाडु के सथनकुलम में जेयराज और उनके पुत्र बेनिक की मौत हो गई थी. जिसके बाद तमिलनाडु पुलिस पर पीट-पीटकर हत्या करने के आरोप लग रहे हैं. सोशल मीडिया पर चल रहे इस घटना के विरोध के बीच सिंघम जैसी फिल्म कॉप सीरीज बनाने वाले साउथ फिल्मों के डायरेक्टर हरी ने भी प्रतिक्रिया दी है.


उन्होंने मामले में 28 जून को एक नोट जारी करते हुए कहा- 'जो सथनकुलम में हुआ है. मैं बिल्कुल नहीं चाहता हूं कि वो तमिलनाडु में फिर कभी भी देखने को मिले. कुछ पुलिस ऑफिसर्स की वजह से पूरा डिपार्टमेंट बदनाम होता है. जिन लोगों ने भी ये किया है उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए'. इसके साथ ही हरि ने ये भी कहा कि उन्हें इस बात का पछतावा है कि उन्होंने इंडस्ट्री में पुलिस वालों का गुणगान करने वाली फिल्में बनाई हैं. उनका ये नोट तमिल भाषा में है.





ये भी पढ़ें- लॉकडाउन के बाद बिजली का बिल देखकर एक्ट्रेस के उड़े होश, गुस्से में शेयर की फोटो, सुनाई खरी-खोटी 

मामले ही बात करें तो हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि 62 वर्षीय पी जयराज अपने 32 वर्षीय बेटे बेनिक दोनों की एक मोबाइल शॉप है, 19 जून को ये दोनों वहीं थे. इस दौरान किसी ने पुलिस से शिकायत कर दी कि लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करते हुए उन्होंने मोबाइल शॉप खोल ली है. इसके बाद पुलिस पिता-पुत्र को गिरफ्तार करके ले गई. इसके बात सामने आए मामले के बाद आरोप है कि पुलिस पिटाई के कारण दोनों की मौत हो गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading