कई बार मौत का सामना कर चुकी हैं तनुश्री दत्ता, डॉक्टर ने कह दिया था- फ्यूनरल की तैयारी करो

एक मीडिया हाउस को दिए इंटरव्यू में बताया कि, उन्होंने कई बार मौत को बहुत करीब से महसूस किया है. दत्ता ने यह भी बताया कि उन्होंने एक शख्स के रूप में कैसे उसका सामना किया?

एक मीडिया हाउस को दिए इंटरव्यू में बताया कि, उन्होंने कई बार मौत को बहुत करीब से महसूस किया है. दत्ता ने यह भी बताया कि उन्होंने एक शख्स के रूप में कैसे उसका सामना किया?

एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता (Tanushree Dutta) ने एक इंटरव्यू में कहा कि, बहुत से लोग यह बात नहीं जानते हैं कि मैंने अपनी लाइफ में कई बार मौत को बहुत करीब से महसूस किया है. मैं लाइफ में कुछ समय मौत के कगार पर रही हूं, लेकिन हर बार ऐसा चमत्कार हुआ है कि मैं जिंदा बच गई हूं.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 20, 2021, 10:12 AM IST
  • Share this:
मुंबई. पूर्व मिस इंडिया यूनिवर्स एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता (Tanushree Dutta) ने आज 19 मार्च को अपना बर्थडे मनाया. उन्होंने अपनी पहली ही फिल्म से लाखों लोगों को अपना 'आशिक' बना लिया था. एक्ट्रेस ने एक मीडिया हाउस को दिए इंटरव्यू में बताया कि, उन्होंने कई बार मौत को बहुत करीब से महसूस किया है. दत्ता ने यह भी बताया कि उन्होंने एक शख्स के रूप में कैसे उसका सामना किया?

दत्ता ने कहा कि, 'मैंने अब तक इसे किसी के साथ शेयर नहीं किया है लेकिन आज मेरा बर्थडे है, इसलिए मैं इसे शेयर करूंगी. बहुत से लोग यह बात नहीं जानते हैं कि मैंने अपनी लाइफ में कई बार मौत को बहुत करीब से महसूस किया है. जो लोग मौत का करीब से अनुभव करते हैं, वे आमतौर पर सामान्य लोगों की तरह ही मौत से नहीं डरते हैं क्योंकि वे अक्सर जोखिम लेने वाले होते हैं. ऐसे लोग हर पल को पूरी तरह से जीना पसंद करते हैं. मेरे मन में लाइफ के प्रति गहरा सम्मान है क्योंकि मैंने मौत का स्वाद चखा है. मैं लाइफ में कुछ समय मौत के कगार पर रही हूं, लेकिन हर बार ऐसा चमत्कार हुआ है कि मैं जिंदा बच गई हूं.'

तनुश्री दत्ता ने बताया कि, ‘मैं प्रीमैच्योर बेबी थी, जिसका जन्म सात महीने में ही हो गया था. मेरे जन्म के ठीक बाद ही मुझे गंभीर रूप से पीलिया हो गया और डॉक्टरों ने इलाज करने के बजाय अपने हाथ खड़े कर दिए और मेरे माता-पिता को अंतिम संस्कार के लिए तैयार रहने के लिए कह दिया. लेकिन मेरे भाग्य में ऐसा लिखा होगा कि मैं जिंदा रही और बाद में मैं हेल्दी बेबी रही.’




तनुश्री ने टीओआई को दिए इंटरव्यू में बताया कि, 'दूसरी घटना जिसे मैं याद कर सकती हूं, जब मैं मिस इंडिया 2004 से पहले अपने मॉडलिंग के दिनों में मुंबई चली गई थी. मैं लोकल ट्रेनों और अन्य सार्वजनिक परिवहन में यात्रा करती थी. एक दिन, मेरा एक दोस्त और मैं लेट हो रहे थे और ट्रेन कुछ मिनट लेट थी. ओवरब्रिज लेने के बजाय, मेरे दोस्त ने सुझाव दिया कि हम पटरियों को पार करें क्योंकि कई अन्य लोग ऐसा पहले से ही कर रहे थे. प्लेटफ़ॉर्म के उस तरफ आने के कारण कोई ट्रेन नहीं थी, इसलिए, इस हिट ऑफ द मोमेंट में बिना यह सोचे कि मैं जो कर रही थी, वह जोखिम भरा था, मैंने भीड़ का पीछा किया और ट्रैक पार करना शुरू कर दिया. हम दोनों तब शहर में नए थे. हम दोनों तब सन्न रह गए जब हमने पूरी गति से एक ट्रेन को अपनी ओर आते देखा और हमारे आस-पास हर कोई हेल्टर-स्केलेटर चलाने लगा; मैं और मेरा दोस्त ट्रैक की लाइनों के बीच फंस गए थे.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज