दिग्गज एक्टर दिलीप कुमार के पैतृक घर को सरकारी रेट पर नहीं बेचेगा मालिक, मांगे 25 करोड़

दिलीप कुमार के पैतृक घर के मालिक ने कहा है कि वे प्राइम लोकेशन वाली इस प्रॉपर्टी के लिए सरकार से 25 करोड़ रुपए की मांग करेंगे.

दिग्गज एक्टर दिलीप कुमार के पैतृक घर (Dilip Kumar's ancestral house) के मालिक ने इसे सरकारी रेट पर बेचने से इनकार कर दिया. घर के मालिक ने पूछा कि, ‘इस क्षेत्र में 4 मरला की संपत्ति को 80 लाख रुपए में कैसे बेचा जा सकता है, जबकि 1 मरला जमीन की दर 5 करोड़ रुपए है?’

  • Share this:
    पेशावर. पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में दिग्गज एक्टर दिलीप कुमार के पैतृक घर (Dilip Kumar's ancestral house) के मालिक ने इसे सरकार की ओर से तय किए गए रेट पर बेचने से इनकार कर दिया है. उन्होंने कहा कि वह प्राइम लोकेशन वाली इस प्रॉपर्टी के लिए 25 करोड़ रुपए की मांग करेंगे, क्योंकि अधिकारियों ने इसका वैल्यूएशन बहुत खराब किया है.

    प्रांतीय सरकार ने पिछले महीने पेशावर में राष्ट्रीय स्तर पर घोषित चार मरला (101 वर्ग मीटर) के घर की कीमत 80.56 लाख रुपये तय की थी. भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश में भूखंड की माप के लिए उपयोग की जाने वाली पारंपरिक इकाई मारला को 272.25 वर्ग फुट या 25.2929 वर्ग मीटर के बराबर माना जाता है. हालांकि, दिलीप कुमार के पुश्तैनी घर के मालिक हाजी लाल मुहम्मद ने कहा कि वह पेशावर प्रशासन द्वारा संपर्क करने पर संपत्ति के लिए प्रांतीय सरकार से 25 करोड़ रुपए की मांग करेंगे.

    मुहम्मद ने कहा कि उन्होंने जमीन के हस्तांतरण के लिए आवश्यक सभी औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद 2005 में 51 लाख रुपए में संपत्ति खरीदी थी और घर के सभी दस्तावेज उनके पास हैं. उन्होंने कहा कि 16 साल बाद संपत्ति के लिए 80.56 लाख रुपये की दर तय कर सरकार इस मामले में अन्याय कर रही है.

    मोहल्ला ख़ुदाद किस्सा ख्वानी बाजार में संपत्ति बहुत महंगी है, जहां एक मरला जमीन की दर 5 करोड़ रुपए से ऊपर है, उन्होंने कहा कि वह अपने वकील से घर के लिए अधिकारियों के माध्यम से 25 करोड़ रुपये की मांग करेंगे. घर के मालिक ने पूछा कि, ‘इस क्षेत्र में 4 मरला की संपत्ति को 80 लाख रुपए में कैसे बेचा जा सकता है, जबकि 1 मरला जमीन की दर 5 करोड़ रुपए है?’

    200 करोड़ लगाई मालिक ने राज कपूर के पैतृक घर की कीमत
    इससे पहले, बॉलीवुड एक्टर राज कपूर के पैतृक घर के मालिक ने पेशावर में छह मार्ला (151.75 वर्ग मीटर) संपत्ति को बेचने के लिए 200 करोड़ रुपए की कीमत लगाई है. सरकार ने संपत्ति की दर 1.50 करोड़ रुपए तय की थी. राज कपूर का पैतृक घर, कपूर हवेली के नाम से जाना जाता है, जो कि क़िस्सा ख्वानी बाजार में ही स्थित है. यह 1918 और 1922 के बीच प्रसिद्ध एक्टर के दादा दीवान बशेश्वरनाथ कपूर द्वारा बनाया गया था. राज कपूर और उनके चाचा त्रिलोक कपूर का जन्म यहीं हुआ था.

    इस जर्जर इमारत को प्रांतीय सरकार ने राष्ट्रीय विरासत घोषित कर दिया है. खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के मुख्यमंत्री के विशेष सूचना सलाहकार कामरान बंगश ने पिछले महीने कहा था कि उन्हें उम्मीद है कि प्रांतीय सरकार दोनों इमारतों के मालिकों के साथ उनकी खरीद कर संग्रहालयों में बदलने के लिए सौहार्दपूर्ण समझौता करेगी, क्योंकि दोनों इमारत पहले ही राष्ट्रीय विरासत घोषित किए जा चुके हैं.

    प्रांतीय सरकार ने इन दोनों इमारतों की खरीद के लिए जारी किए थे 2.35 करोड़ रुपए
    जनवरी में, प्रांतीय सरकार ने इस शहर के केंद्र में स्थित दो दिग्गज एक्टरों के पैतृक घरों को खरीदने के लिए 2.35 करोड़ रुपये जारी करने को मंजूरी दी थी. दोनों इमारतों के मालिकों ने अपने प्रमुख स्थान को ध्यान में रखते हुए वाणिज्यिक प्लाजा के निर्माण के लिए उन्हें ध्वस्त करने के लिए अतीत में कई प्रयास किए हैं, लेकिन उनके ऐतिहासिक महत्व को ध्यान में रखते हुए पुरातत्व विभाग उन्हें संरक्षित करना चाहता था, इसलिए मालिकों की ऐसी सभी कोशिशों को रोक दिया गया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.