कोरोना महामारी के बीच काफी तेजी से बढ़ा है OTT प्लेटफॉर्म का दायरा: सुधांशु कुमार

कोरोना की वजह से पिछले एक साल से भी अधिक समय से देशभर में सिनेमाघरों में ताला बंद पड़ा है.

कोरोना की वजह से पिछले एक साल से भी अधिक समय से देशभर में सिनेमाघरों में ताला बंद पड़ा है.

कोरोना वायरस से बचाव के लिए जारी लॉकडाउन के बीच मनोरंजन की क्षेत्र में ओटीटी प्लेटफॉर्म को सबसे ज्यादा फायदा हुआ.

  • Share this:

नई दिल्ली. साल 2020 से पूरी दुनिया कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी से जूझ रही है. किसी ने सपने में भी नहीं सोचा होगा कि हमारी जिंदगी इस तरह से बदल जाएगी. इस खतरनाक वायरस की वजह से लाखों जिंदगी असमय मौत के मुंह में समा गई. दूसरी तरफ कोरोना वायरस से बचाव के लिए जारी लॉकडाउन की वजह से लोगों की आजीविका पर काफी बुरा असर पड़ा है और उद्योग-धंधे बंद होने के कारण लाखों लोगों की नौकरी छीन गई. वहीं, इस दौरान लॉकडाउन के बीच मनोरंजन की क्षेत्र में ओटीटी प्लेटफॉर्म को सबसे ज्यादा फायदा हुआ.

कोरोना की वजह से पिछले एक साल से भी अधिक समय से देशभर में सिनेमाघरों में ताला बंद पड़ा है. ऐसे में लोगों के लिए OTT मनोरंजन का सबसे बड़ा साधन बनकर उभरा है. आज कई नए ओटीटी प्लेटफार्म ने दर्शकों को लुभाने के लिए मजबूती से अपने कदम बढ़ाए हैं, तो कई दिग्गज फिल्म निर्माता अपनी फिल्मों को रिलीज करने के लिए बड़े ओटीटी प्लेटफॉर्म की ओर रुख कर रहे हैं, क्योंकि लंबे समय से सिनेमाघर घरों के बंद होने से उन्हें और इंतजार करना मुश्किल हो रहा है. ऐसे में ओटीटी प्लेटफार्म को अपने दायरे में कहीं अधिक तेजी से बढ़ाने का मौका मिल गया.

विशेषज्ञों का मानना है कि आज सिनेमाघरों के बंद होने से फिल्म उद्योग पर निश्चित रूप से असर हुआ है, लेकिन यह अस्थायी है और जैसे ही परिस्थितियां सामान्य होने लगेंगी फिल्मों की मांग पहले से कहीं अधिक होंगी. इन्हीं विषयों पर बात करते हुए कई फिल्मों के डिजिटल स्ट्रैटेजिक रहे सुधांशु कुमार (Sudhanshu Kumar) कहते हैं कि आज लोगों को जल्द सब कुछ पहले जैसा सामान्य होने का इंतजार है. वह खुद को सुरक्षित रखने के लिए अपने घरों में हैं और वे फिल्म वेब सीरीज आदि का भरपूर आनंद उठा रहे हैं. उनका कहना है कि आज किसी भी क्वालिटी कंटेंट की मार्केट में काफी मांग देखी जा रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज