बॉलीवुड में तुषार कपूर के 20 साल, सफलता के लिए लोग देते थे शाहरुख जैसा एक्ट की सलाह

तुषार कपूर की पहली फिल्म 'मुझे कुछ कहना है'. (फोटो साभार :tusshark89/Instagram)

तुषार कपूर की पहली फिल्म 'मुझे कुछ कहना है'. (फोटो साभार :tusshark89/Instagram)

तुषार कपूर (Tushar Kapoor) 20 साल से फिल्म इंडस्ट्री का हिस्सा हैं. बावजूद इसके अभी सफलता से दूर हैं. कुछ एक फिल्मों के अलावा तुषार कुछ खास नहीं कर पाए हैं. तुषार को सफल होने के लिए फनी सलाह भी मिले.

  • Share this:

मुंबई:  हिंदी फिल्म जगत के सदाबहार हीरो जितेंद्र (Jeetendra) के बेटे और एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री की क्वीन कही जाने वाली एकता कपूर (Ekta Kapoor) के भाई तुषार कपूर (Tusshar Kapoor) ने बॉलीवुड में 20 साल पूरे कर लिए हैं. तुषार ने सन 2001 में करीना कपूर के साथ सतीश कौशिक के निर्देशन में बनी फिल्म ‘मुझे कुछ कहना है’  से बॉलीवुड डेब्यू किया था. तुषार ने इस फिल्म के पोस्टर के साथ पोस्ट शेयर कर सोशल मीडिया पर जानकारी दी है. साथ ही एक इंटरव्यू में बताया कि लोग उन्हें सफल होने के लिए कैसी-कैसी सलाह दिया करते थे.

तुषार कपूर ने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट शेयर किया है. इसमें फिल्म ‘मुझे कुछ कहना है’  की कई फोटोज शेयर की हैं.  तुषार कपूर ने अपने पोस्ट में 20 साल के सफर के बारे में बताते हुए लिखा ‘मुझे कहना है’ के 20 साल....जीवन के ऊंचे-नीचे पाठ पढ़ाने वाले संघर्षों ने मुझे बहुत कुछ सिखाया है. ‘मुझे कुछ कहना है’ से लेकर फिल्म ‘लक्ष्मी’  तक का सफर ऐसा लगता है जैसे अभी शुरू हुआ है.

(फोटो साभार :tusshark89/Instagram)

तुषार आगे लिखते हैं 'मुझे एक्सेप्ट करने ,प्यार देने और लगातार चल रहे संघर्ष के बीच अपनापन देने वालों का आभारी हूं. कोई दुख नहीं क्योंकि इस टिंसेल टाउन में अप एंड डाउन तो आते रहते हैं. अभी तो बहुत दूर जाना है..लंबा रास्ता तय करना है'.

(फोटो साभार :tusshark89/Instagram)

तुषार कपूर ने उन दिनों के फिल्मों के टिकट भी संभाल कर रखे हुए हैं.

(फोटो साभार :tusshark89/Instagram)



मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में तुषार कपूर ने शुरुआती दिनों के बारे में बताते हुए कहा कि 'मुझे अजीबो गरीब सलाह दिए जाते थे. तुषार खुद फिल्मी परिवार से हैं फिर भी लोग उन्हें शाहरुख खान की तरह एक्सप्रेशन देने और फिल्मी पार्टियों में झगड़ा करने की सलाह देते थे. तुषार काफी शांत स्वभाव के थे इसलिए उन्हें लोग खुलने के लिए ऐसे सलाह दिया करते थे. तुषार की माने तो यह सब तब कहा जाता था जब वे खुद एक फिल्मी फैमिली से नाता रखते हैं. मैं सोचता हूं कि उन्हें क्या क्या कहा जाता होगा जो इंडस्ट्री से नहीं होते हैं'.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज